Monday, December 18, 2017

Breaking News

   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद     ||   अश्विन ने लगाया विकेटों का सबसे तेज 'तिहरा शतक', लिली को छोड़ा पीछे     ||   पूरा हुआ सपना चौधरी का 'सपना', बेघर होने के साथ बॉलीवुड से मिला बड़ा ऑफर    ||   PAK सरकार ने शर्तें मानीं, प्रदर्शन खत्म करने कानून मंत्री को देना पड़ा इस्तीफा    ||   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||

हिमाचल के रहने वाले इस व्यक्ति ने एक बाल से पेंटिंग बनाकर दुनियाभर में बनाएं कई रिकॉर्ड

अंग्वाल संवाददाता
हिमाचल के रहने वाले इस व्यक्ति ने एक बाल से पेंटिंग बनाकर दुनियाभर में बनाएं कई रिकॉर्ड

शिमला। भारत को यहां रहने वालों के हुनर के कारण ही पहचाना जाता है। इसमें कोई शक नहीं है कि भारतीयों में कूट-कूट कर हुनर भरा हुआ है। आज हम आपको हिमाशल प्रदेश के रहने वाले एक ऐसे पेंटर के बारे में बताएंगे जो केवल एक बाल से पेंटिग करते हैं। इनका नाम मुकेश थापा है। मुकेश ने पेंटिंग बनाकर लिम्का बुक रिकॉर्ड, एशिया बुक रिकॉर्ड, इंडिया बुक रिकॉर्ड, चाईना बुक ऑफ रिकॉर्ड, नेपाल रिकॉर्ड, यूनिक वर्ल्ड रिकॉर्ड और वर्ल्ड रिकॉर्ड इंडिया जैसे कई रिकॉर्ड के खिताब अपने नाम कर चुके हैं। मुकेश थापा ने अपनी कला से सभी को हैरान कर दिया है।

 

 

यह भी पढ़ेे- महिला ने 101 की उम्र में बच्चे को जन्म देकर डॉक्टरों को किया अचंभित

आपको जानकर हैरानी होगी उन्हें अपनी पहली पेंटिग बनाने में करीब एक साल का समय लगा था। मुकेश थापा पिछले 24 सालों से पेंटिंग करते आ रहे हैं। वह कैनवस पर पेंटिंग करने के लिए सिर्फ अपनी ढ़ाढी के एक बाल का इस्तेमाल करते हैं।


यह भी पढ़ेे- यह है दुनिया का अजीब-गरीब जंगल, यह पाए जाएं जाते हैं अनोखे तरह के पेड़

 

 

बता दें कि, मुकेश अपने परिवार के साथ हिमाचल प्रदेश के धर्माशाला जिले के रहते हैं। मुकेश ने अपनी शिक्षा ब्यॉवज स्कूल धर्मशाला से पूरी की है। जिसके बाद उन्होंने पीजी कॉलेज धर्मशाला से बीकॉम की पढ़ाई की। मुकेश को पेंटिंग का शौक उस समय लगा जब वह छठी कक्षा में पढ़ते थे। मुकेश की ख्वाहिश है कि वो धर्मशाला में विश्वस्तरीय आर्ट गैलरी बनाएं, जहां युवा पीढ़ी कैनवस पर नये भारत के हुनर को उतार सके।   

Todays Beets: