Thursday, August 24, 2017

Breaking News

   मच्छल में घुसपैठ नाकाम, पांच आतंकी ढेर, भारी मात्रा में गोलाबारूद बरामद    ||   जापान के बाद अब अमेरिका के साथ युद्धाभ्यास की तैयारी में भारत    ||   SC में आर्टिकल 370 को हटाने के लिए याचिका दायर, कोर्ट ने दिया केंद्र को नोटिस    ||   राज्यसभा में सिब्बल बोले- छप रहे 1 नंबर के दो नोट, सदी का सबसे बड़ा घोटाला    ||   नीतीश सरकार के मंत्रिमंडल का आज होगा विस्तार, शपथ ले सकते हैं 16 मंत्री    ||   सपा को तगड़ा झटका, बुक्कल नवाब समेत 2 MLC का इस्तीफा, की मोदी-योगी की तारीफ    ||   नगालैंड: शुरहोजेली ने विश्वासमत से पहले ही मानी हार, ज़ेलियांग ने ली CM पद की शपथ    ||   बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा- पार्टी कहेगी तो दे दूंगा इस्तीफा    ||   डोकलाम विवाद: भारतीय सीमा के पास खूब हथियार जमा कर रहा है चीन!    ||   रवि शास्त्री की चाहत- सचिन को मिले भारतीय बल्लेबाजी का जिम्मा    ||

हिमाचल के रहने वाले इस व्यक्ति ने एक बाल से पेंटिंग बनाकर दुनियाभर में बनाएं कई रिकॉर्ड

अंग्वाल संवाददाता
हिमाचल के रहने वाले इस व्यक्ति ने एक बाल से पेंटिंग बनाकर दुनियाभर में बनाएं कई रिकॉर्ड

शिमला। भारत को यहां रहने वालों के हुनर के कारण ही पहचाना जाता है। इसमें कोई शक नहीं है कि भारतीयों में कूट-कूट कर हुनर भरा हुआ है। आज हम आपको हिमाशल प्रदेश के रहने वाले एक ऐसे पेंटर के बारे में बताएंगे जो केवल एक बाल से पेंटिग करते हैं। इनका नाम मुकेश थापा है। मुकेश ने पेंटिंग बनाकर लिम्का बुक रिकॉर्ड, एशिया बुक रिकॉर्ड, इंडिया बुक रिकॉर्ड, चाईना बुक ऑफ रिकॉर्ड, नेपाल रिकॉर्ड, यूनिक वर्ल्ड रिकॉर्ड और वर्ल्ड रिकॉर्ड इंडिया जैसे कई रिकॉर्ड के खिताब अपने नाम कर चुके हैं। मुकेश थापा ने अपनी कला से सभी को हैरान कर दिया है।

 

 

यह भी पढ़ेे- महिला ने 101 की उम्र में बच्चे को जन्म देकर डॉक्टरों को किया अचंभित

आपको जानकर हैरानी होगी उन्हें अपनी पहली पेंटिग बनाने में करीब एक साल का समय लगा था। मुकेश थापा पिछले 24 सालों से पेंटिंग करते आ रहे हैं। वह कैनवस पर पेंटिंग करने के लिए सिर्फ अपनी ढ़ाढी के एक बाल का इस्तेमाल करते हैं।


यह भी पढ़ेे- यह है दुनिया का अजीब-गरीब जंगल, यह पाए जाएं जाते हैं अनोखे तरह के पेड़

 

 

बता दें कि, मुकेश अपने परिवार के साथ हिमाचल प्रदेश के धर्माशाला जिले के रहते हैं। मुकेश ने अपनी शिक्षा ब्यॉवज स्कूल धर्मशाला से पूरी की है। जिसके बाद उन्होंने पीजी कॉलेज धर्मशाला से बीकॉम की पढ़ाई की। मुकेश को पेंटिंग का शौक उस समय लगा जब वह छठी कक्षा में पढ़ते थे। मुकेश की ख्वाहिश है कि वो धर्मशाला में विश्वस्तरीय आर्ट गैलरी बनाएं, जहां युवा पीढ़ी कैनवस पर नये भारत के हुनर को उतार सके।   

Todays Beets: