Friday, October 20, 2017

Breaking News

   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||   जम्मू कश्मीर के नौगाम में लश्कर कमांडर अबू इस्माइल के साथ मुठभेड़,     ||   राम रहीम मामले पर गौतम का गंभीर प्रहार, कहा- धार्मिक मार्केटिंग का यह एक क्लासिक उदाहरण    ||   ट्राई ने ओवरचार्जिंग के लिए आइडिया पर लगाया 2.9 करोड़ का जुर्माना    ||   मदरसों का 15 अगस्त को ही वीडियोग्राफी क्यों? याचिका दायर, सुनवाई अगले सप्ताह    ||

हिमाचल के रहने वाले इस व्यक्ति ने एक बाल से पेंटिंग बनाकर दुनियाभर में बनाएं कई रिकॉर्ड

अंग्वाल संवाददाता
हिमाचल के रहने वाले इस व्यक्ति ने एक बाल से पेंटिंग बनाकर दुनियाभर में बनाएं कई रिकॉर्ड

शिमला। भारत को यहां रहने वालों के हुनर के कारण ही पहचाना जाता है। इसमें कोई शक नहीं है कि भारतीयों में कूट-कूट कर हुनर भरा हुआ है। आज हम आपको हिमाशल प्रदेश के रहने वाले एक ऐसे पेंटर के बारे में बताएंगे जो केवल एक बाल से पेंटिग करते हैं। इनका नाम मुकेश थापा है। मुकेश ने पेंटिंग बनाकर लिम्का बुक रिकॉर्ड, एशिया बुक रिकॉर्ड, इंडिया बुक रिकॉर्ड, चाईना बुक ऑफ रिकॉर्ड, नेपाल रिकॉर्ड, यूनिक वर्ल्ड रिकॉर्ड और वर्ल्ड रिकॉर्ड इंडिया जैसे कई रिकॉर्ड के खिताब अपने नाम कर चुके हैं। मुकेश थापा ने अपनी कला से सभी को हैरान कर दिया है।

 

 

यह भी पढ़ेे- महिला ने 101 की उम्र में बच्चे को जन्म देकर डॉक्टरों को किया अचंभित

आपको जानकर हैरानी होगी उन्हें अपनी पहली पेंटिग बनाने में करीब एक साल का समय लगा था। मुकेश थापा पिछले 24 सालों से पेंटिंग करते आ रहे हैं। वह कैनवस पर पेंटिंग करने के लिए सिर्फ अपनी ढ़ाढी के एक बाल का इस्तेमाल करते हैं।


यह भी पढ़ेे- यह है दुनिया का अजीब-गरीब जंगल, यह पाए जाएं जाते हैं अनोखे तरह के पेड़

 

 

बता दें कि, मुकेश अपने परिवार के साथ हिमाचल प्रदेश के धर्माशाला जिले के रहते हैं। मुकेश ने अपनी शिक्षा ब्यॉवज स्कूल धर्मशाला से पूरी की है। जिसके बाद उन्होंने पीजी कॉलेज धर्मशाला से बीकॉम की पढ़ाई की। मुकेश को पेंटिंग का शौक उस समय लगा जब वह छठी कक्षा में पढ़ते थे। मुकेश की ख्वाहिश है कि वो धर्मशाला में विश्वस्तरीय आर्ट गैलरी बनाएं, जहां युवा पीढ़ी कैनवस पर नये भारत के हुनर को उतार सके।   

Todays Beets: