Monday, March 18, 2019

Breaking News

    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||   PAK सेना के ISPR के डीजी ने कहा- हम युद्ध की तैयारी नहीं कर रहे, भारत धमकी दे रहा है     ||   ICC को खत लिखेगी BCCI- आतंक समर्थक देश के साथ खत्म हो क्रिकेट संबंध     ||

महज 13 साल के भारतीय ‘आदित्यन’ ने दुबई में दिखाया कमाल, बने साॅफ्टवेयर कंपनी के मालिक

अंग्वाल न्यूज डेस्क
महज 13 साल के भारतीय ‘आदित्यन’ ने दुबई में दिखाया कमाल, बने साॅफ्टवेयर कंपनी के मालिक

नई दिल्ली। भारतीय छात्रों ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी अपने हुनर का प्रदर्शन किया है। दुबई में रहने वाले महज 13 साल के केरल निवासी आदित्यन ने इस बात को पूरी तरह से सही कर दिखाया है। आदित्यन ने साॅफ्टवेयर विकसित की कंपनी का मालिक बन गया है। बता दें कि आदित्यन का कंप्यूटर से लगाव महज 5 साल की उम्र में ही शुरू हो गया था। तकनीक के इस जादूगर ने 13 साल की उम्र में अपनी कंपनी ‘ट्रिनेट सॉल्यूशंस’ की शुरुआत की है। ट्रिनेट के कुल तीन कर्मचारी हैं जो आदित्यन के स्कूल के दोस्त और खुद छात्र हैं। आदित्यन ने बताया कि जब वह सिर्फ 9 साल के थे तब उन्होंने एक आशीर्वाद नाम का ब्राउजर बनाया था। यह वेब ब्राउजर गूगल क्रॉम की तरह ही काम करता था जबकि इसमें फीचर्स काफी कम थे लेकिन पैसों की कमी के कारण यह एप कभी लाइव नहीं हो सका।

गौरतलब है कि अपने पहले एप के कामयाब नहीं होने के बाद खिलौनों से खेलने की उम्र में ही आदित्यन ने कड़ी मेहनत शुरू कर दी और 9 साल की उम्र में ही अपना पहला मोबाइल ऐप्लिकेशन बना कर सबको हैरान कर दिया था। फिलहाल वह 13 साल का है और सॉफ्टवेयर डिवेलपमेंट कंपनी का मालिक बन चुका है। आदित्यन के अनुसार, ‘मुझे एक स्थापित कंपनी बनाने का मालिक बनने के लिए 18 की उम्र को पार करना होगा। हालांकि हम अभी से एक कंपनी के तौर पर काम करने लगे हैं। आदित्यन की कंपनी ने अब तक 12 से ज्यादा क्लाइंट्स के साथ काम किया है और उन्हें अपनी डिजाइन और कोडिंग सर्विस पूरी तरह मुफ्त में दी हैं।’


ये भी पढ़ें - BREAKING NEWS: सिख विरोधी दंगे में सज्जन कुमार दोषी, मिली उम्रकैद की सजा, 34 साल बाद कांग्रेस...

यहां बता दें कि केरल के थिरूविला में पैदा हुए आदित्यन 5 साल की उम्र में अपने माता-पिता के साथ दुबई आ गए थे। यहां आने के बाद उनके पिता ने सबसे पहले उनका परिचय बीबीसी टाइपिंग वेबसाइट से कराया। यह वेबसाइट बच्चों के लिए ही बनाई गई थी। बतौर आदित्यन महज 6 साल की उम्र में यूट्यूब पर स्पेलिंग टेस्ट और कार्टून देखते हुए कंप्यूटर से लगाव हो गया था। 

Todays Beets: