Sunday, September 23, 2018

Breaking News

   ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के पूर्व जीएम के ठिकानों पर आयकर के छापे     ||   बिहार: पूर्व मंत्री मदन मोहन झा बनाए गए प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष। सांसद अखिलेश सिंह बनाए गए अभियान समिति के अध्यक्ष। कौकब कादिरी समेत चार बनाए गए कार्यकारी अध्यक्ष।     ||   कर्नाटक के मंत्री शिवकुमार के खिलाफ ED ने मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया    ||   सीतापुर में श्रद्धालुओें से भरी बस खाई में पलटी 26 घायल, 5 की हालत गंभीर     ||   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||

पति ने अपनाया पत्नी से छुटकारा पाने का अनोखा उपाय, रखा वट सावित्री का व्रत

अंग्वाल न्यूज डेस्क
पति ने अपनाया पत्नी से छुटकारा पाने का अनोखा उपाय, रखा वट सावित्री का व्रत

नई दिल्ली। पति द्वारा पत्नी को प्रताड़ित करने की खबरें यूं तो आप सुनते ही रहते हैं  लेकिन क्या आपने कभी सुना है कि पति भी पत्नी की प्रताड़ना का शिकार हुआ हो। हम आपको ऐसी ही एक आनोखी कहानी के बारे में बताने जा रहें हैं। इस बार एक पति अपनी पत्नी से इतना तंग आ गया है कि उसने इससे छुटकारा पाने का एक अनोखा उपाय खोज निकाला है। अपनी पत्नी से तंग आ चुके  कर्नाटक के शशिधर रामचंद्र कोपार्डे ने वट सावित्री व्रत रखकर ये मन्नत मांगी कि अगले जन्म उसे ऐसी पत्नी न मिले। 

ये भी पढ़े-समुद्र में मिली सूअर जैसी दिखने वाली मछली

यहां आपको बता दें कि वट सावित्री व्रत एक महिला अपने पति की लंबी उम्र के लिए रखती हैं। पत्नी से पीड़ित पुरुषों के लिए संतवन केंद्र भी चलाने वाले कोपार्डे ने कहा कि मैं अगले जन्म में ब्रह्मचारी रहना पसंद करूंगा लेकिन ऐसी पत्नी के साथ नहीं रह पाऊंगा जो मेरे परिवार के खिलाफ झूठे मुकदमे दर्ज करवाती है।


उसने आगे कहा कि मैंने इन तमाम परेशानियों से छुटकारा पाने के लिए बरगद के पेड़ की पूजा की है और साथ ही परंपरा के अनुसार धागा भी बांधा है।

यह मान्यता है कि जो भी वट सावित्री का व्रत पूजा-विधि से करता है उसकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं।

Todays Beets: