Monday, May 28, 2018

Breaking News

   कानपुर जहरीली शराब मामले में 5अधिकारी निलंबित     ||   अब जल्द ही बिना नेटवर्क भी कर सकेंगे कॉल, बस Wi-Fi की होगी जरुरत     ||   मौलाना मदनी ने भी की एएमयू से जिन्‍ना की तस्‍वीर हटाने की वकालत     ||   भारत-चीन सेना के बीच हॉटलाइन की तैयारी, LoC पर तनाव होगा दूर     ||   कसौली में धारा 144 लागू, आरोपित पुलिस की गिरफ्त से बाहर     ||   स्कूली बच्चों पर पत्थरबाजी से भड़के उमर अब्दुल्ला, कहा- ये गुंडों जैसी हरकत     ||   थर्ड फ्रंट: ममता, कनिमोझी....और अब केसीआर की एसपी चीफ अखिलेश यादव के साथ बैठक     ||   मायावती का पलटवार, कहा- सत्ता के अहंकार में जनता को मूर्ख समझ रही BJP; शाह के गुरू मोदी ने गिराया पार्टी का स्तर     ||   चीन के स्‍पर्म बैंक ने रखी अनोखी शर्त, सिर्फ कम्‍युनिस्‍टों का समर्थन करने वाले ही दान कर सकेंगे स्‍पर्म     ||   CBSE पेपर लीक: हिमाचल से टीचर समेत 3 गिरफ्तार, पूछताछ में हो सकता है अहम खुलासा     ||

दुल्हन को शादी के दिन पहनना पड़ा छोटा लहंगा, शर्मिंदगी के लिए डिजाइनर स्टूडियो पर किया केस 

अंग्वाल संवाददाता
दुल्हन को शादी के दिन पहनना पड़ा छोटा लहंगा, शर्मिंदगी के लिए डिजाइनर स्टूडियो पर किया केस 

नई दिल्ली। दिल्ली की एक महिला ने घाघरे के चक्कर में ब्राइडल फैशन डिजाइन स्टूडियों को आठ साल तक कोर्ट के चक्कर कटवाए। शादी के दिन दो इंच छोटा लहंगा पहनने को मजबूर दुल्हन ने शादी के बाद में स्टूडियो पर केस कर दिया। कोर्ट ने भी लड़की के पक्ष में फैसला देते हुए कहा है कि दुल्हन को इतने बड़े दिन अपने छोटे लहंगे के कारण शर्मिंदगी झेलनी पड़ी। 

पैरो से ऊपर लंहगा

मामला दिल्ली के चांदनी चौक का है। यहां की एक लड़की ने अपनी शादी में पहनने के लिए एक ब्राइडल डिजाइन स्टूडियो से 64 हजार का एक लहंगा पंसद किया। शादी से पहले ट्रायल लेने जाने पर लहंगा पैरों से लगभग 2 इंच ऊपर उठा हुआ था। स्टूडियो वालों ने वादा किया कि वे शादी के दिन लहंगा एकदम ठीक करके भिजवा देंगे। युवती ने यकीन कर लिया और शादी की दूसरी तैयारियां में लग गई। 

झेलनी पड़ी शर्मिंदगी

शादी के रोज यानी 13 जुलाई, 2008 को जब दुल्हन ने लहंगा पहनकर सकते में आ गई। लहंगा तब भी उतना ही छोटा था। साथ ही नीचे से छोटा-बड़ा भी था। शादी के दिन लिए कोई और ड्रेस भी तैयार नहीं थी। सारे गहने और मेकअप भी लहंगे को ध्यान में रखकर लिए गए थे। मरता क्या न करता की तर्ज पर दुल्हन ने पैरों से ऊपर उठा हुआ लहंगा पहनकर ही शादी की रस्में पूरी की।  


लहंगे पर पैबंद 

शादी के बाद महिला दोबार लहंगे को ठीक कराने के लिए स्टूडियो गई और उसने डिजाइनर स्टूडियो से लहंगा सुधारने की मांग की। स्टूडियो वालों ने शादी जैसे मौके पक दुल्हन को लहंगे को खराब करने के लिए माफी तो नहीं मांगी, उल्टा उससे लहंगा सुधारने के लिए पैसे अलग से मांग लिए। इसके बाद भी महिला को सुधरा हुआ वलहंगा लंबा करने की बजाए उसपर ऐसा कपड़ा जोड़ दिया, जो अलग से दिख रहा था।  

परेशान आकर किया केस दर्ज

स्टूडियों की लापरवाही से तंग आकर महिला ने भड़क उठी और उसने उपभोक्ता फोरम में शिकायत दर्ज कर दी। पूरे आठ साल तक चले केस के बाद दिल्ली राज्य उपभोक्ता फोरम के न्यायिक सदस्य एन.पी कौशिक की पीठ ने कारोबारी मैसर्स रूप श्रृंगार को आदेश दिया है कि वह पीड़ित को लहंगे की राशि के साथ 50,000 रुपए का जुर्माना अलग से दे क्योंकि उसे इतने बड़े दिन लहंगे की वजह से शर्मिंदा होना पड़ा। आयोग ने यह भी कहा कि जबरन मुकद्दमेबाजी कर स्टूडियों ने सरकारी राजस्व को भारी नुकसान पहुंचाया है। इसकी भरपाई के रुप में स्टूडियो 5 लाख रुपए राज्य उपभोक्ता कल्याण कोष में जमा करवाए। 

Todays Beets: