Sunday, July 22, 2018

Breaking News

   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||   नीतीश का गठबंधन को जवाब कहा गठबंधन सिर्फ बिहार में है बाहर नहीं     ||   जापान में बारिश का कहर जारी 100 से ज्यादा लोगों की मौत     ||   PM मोदी के नोएडा दौरे से पहले लगा भारी जाम, पढ़ें पूरी ट्रैफिक एडवाइजरी     ||    नीतीश ने दिए संकेत: केवल बिहार में है भाजपा और जदयू का गठबंधन, राष्ट्रीय स्तर पर हम साथ नहीं    ||   निर्भया मामले में तीनों दोषियों को होगी फांसी, सुप्रीम कोर्ट ने याचिका ठुकराई    ||   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||

अचंभित : वेंटिलेटर पर रखी गई मृत महिला ने 123 दिन बाद दिया जुड़वा बच्चों को जन्म

अंग्वाल संवाददाता
अचंभित : वेंटिलेटर पर रखी गई मृत महिला ने 123 दिन बाद दिया जुड़वा बच्चों को जन्म

ब्राजील से एक चौंका देने वाली खबर सामने आई है। यह खबर अचंभित कर देने वाली है। एक महिला ने मरने के बाद भी जुड़वा बच्चों को जन्म देकर सबको हैरान कर दिया है। डॉक्टरों को उम्मीद नहीं थी कि उसके गर्भाशय में पल रहे बच्चे जिंदा होंगे, लेकिन वह बच्चे महिला के मरने के 123 दिन बाद तक भी उसके गर्भाशय में जिंदा रहे। आखिर में वेंटिलेटर पर रखी गई मृत महिला का ऑपरेशन किया गया, जिसमें उसने दो जुडवा बच्चों को जन्म दिया। यह खबर जिसके भी कान में पड़ी वह इन दिनों इन बच्चों को देखने के लिए जा रहा है। ये जुड़वा भाई-बहन इन दिनों पूरे ब्राजील में चर्चा का विषय बने हुए हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक ब्राजील में रहने वाली सिल्वा पेडिल्हा पिछले साल गर्भवती हुई थी। सिल्वा को ब्रेन स्ट्रोक होने के बाद अक्टूबर 2016 में मृत घोषित कर दिया गया था। डॉक्टर के मुताबिक जब सिल्वा की मुत्यु हुई, उस दौरान उसके गर्भ में पल रहे बच्चों को 9 हफ्ते हो चुके थे। सिल्वा के पति ने उसके मरने के बाद उसे तुंरत ही अस्पताल में भर्ती करवाया। चेकअप के दौरान पता चला कि सिल्वा का ब्रेन तो डेड हो चुका है, लेकिन उसके गर्भ में बच्चे अभी भी सांस ले रहे हैं।

 

 


इसके बाद डॉक्टरों ने तुरंत ही सिल्वा को वेंटिलेटर पर रख दिया और करीब 123 तक सिल्वा उसी वेंटिलेटर पर पड़ी रही। जब सिलवा के गर्भ में मौजूद बच्चों को 9 महीने पूरे हो गए तो डॉक्टरों ने उसका ऑपरेशन कर डिलीवरी कराई। हालांकि सिल्वा मर चुकी थी, लेकिन उन्होंने दो जुड़वा को जन्म दिया, जिसमें एक लड़की और लड़का हुआ। मेडिकल क्षेत्र में ऐसे मामले बहुत कम ही देखने को मिलते हैं। जिन्हें देखकर खुद डॉक्टर भी हैरान रह जाते है। जिन्हें वह भगवान का चम्तकार ही बताते  हैं उन्हीं में से एक मामला सिल्वा की डिलीवरी का भी माना जा रहा है। 

 

 

Todays Beets: