Tuesday, August 22, 2017

Breaking News

   मच्छल में घुसपैठ नाकाम, पांच आतंकी ढेर, भारी मात्रा में गोलाबारूद बरामद    ||   जापान के बाद अब अमेरिका के साथ युद्धाभ्यास की तैयारी में भारत    ||   SC में आर्टिकल 370 को हटाने के लिए याचिका दायर, कोर्ट ने दिया केंद्र को नोटिस    ||   राज्यसभा में सिब्बल बोले- छप रहे 1 नंबर के दो नोट, सदी का सबसे बड़ा घोटाला    ||   नीतीश सरकार के मंत्रिमंडल का आज होगा विस्तार, शपथ ले सकते हैं 16 मंत्री    ||   सपा को तगड़ा झटका, बुक्कल नवाब समेत 2 MLC का इस्तीफा, की मोदी-योगी की तारीफ    ||   नगालैंड: शुरहोजेली ने विश्वासमत से पहले ही मानी हार, ज़ेलियांग ने ली CM पद की शपथ    ||   बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा- पार्टी कहेगी तो दे दूंगा इस्तीफा    ||   डोकलाम विवाद: भारतीय सीमा के पास खूब हथियार जमा कर रहा है चीन!    ||   रवि शास्त्री की चाहत- सचिन को मिले भारतीय बल्लेबाजी का जिम्मा    ||

सन् 1942 से लापता हुआ यह जोड़ा 75 साल बाद मिला बर्फ की पहाड़ियों में, पढ़े पूरी रिपोर्ट

अंग्वाल संवाददाता
सन् 1942 से लापता हुआ यह जोड़ा 75 साल बाद मिला बर्फ की पहाड़ियों में, पढ़े पूरी रिपोर्ट

बर्न। स्विट्जरलैंड की आल्पस पहाड़ियों से एक चौंका देने वाली घटना सामने आई है। वहां आल्पस पहाड़ियों क्षेत्र में 75 साल पुराने एक जोड़े का शव मिला है। बताया जा रहा है कि इस जोड़े का शव लगभग सन् 1942 से यहां बर्फ से ढ़का हुआ था। करीब 75 साल पहले 15 अगस्त 1942 को यह शव लापता हो गया था। बाद में उनके परिजनों से पूछने पर पता चला था कि वह जोड़ा गाय का दूध निकालने गए थे और तभी से लापता है। हालांकि जोड़े का शव भारी बर्फ में दबे होने के कारण महिला और पुरुष दोनों का शरीर सुरक्षित है। स्थानीय पुलिस के अनुसार, दक्षिण स्विट्जरलैंड में 3000 मीटर की ऊंचाई पर स्थित स्की रिसार्ट डायबलर्ट्स मैसिक की पहाड़ियों में दोनों का शव आस-पास ही मिला। पुलिस ने बताया कि शव के साथ बैग, बोतल, किताब और घड़ी जैसी छोटे अन्यों समान भी वहीं उनके साथ पड़े हुए थे।

 

 


आपको बता दें कि इस जोड़े की सात बच्चें लंबे समय से पता लगा रही थी कि आखिर उनके माता-पिता के साथ ऐसा क्या हुआ कि वह लापता हो गए हो फिर कभी लौट कर नहीं आए। बताया जा रहा है कि घटना के समय 40 साल के घड़ी निर्माता मार्सिलन डुमोलिन और उनकीस्कूल टीचर पत्नी फ्रांसिन अपने मवेशियों को चराने के लिए पहाड़ियों की ओर ले गए थे, लेकिन फिर कभी वापस नहीं लौटे।

 

Todays Beets: