Thursday, December 14, 2017

Breaking News

   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद     ||   अश्विन ने लगाया विकेटों का सबसे तेज 'तिहरा शतक', लिली को छोड़ा पीछे     ||   पूरा हुआ सपना चौधरी का 'सपना', बेघर होने के साथ बॉलीवुड से मिला बड़ा ऑफर    ||   PAK सरकार ने शर्तें मानीं, प्रदर्शन खत्म करने कानून मंत्री को देना पड़ा इस्तीफा    ||   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||

सन् 1942 से लापता हुआ यह जोड़ा 75 साल बाद मिला बर्फ की पहाड़ियों में, पढ़े पूरी रिपोर्ट

अंग्वाल संवाददाता
सन् 1942 से लापता हुआ यह जोड़ा 75 साल बाद मिला बर्फ की पहाड़ियों में, पढ़े पूरी रिपोर्ट

बर्न। स्विट्जरलैंड की आल्पस पहाड़ियों से एक चौंका देने वाली घटना सामने आई है। वहां आल्पस पहाड़ियों क्षेत्र में 75 साल पुराने एक जोड़े का शव मिला है। बताया जा रहा है कि इस जोड़े का शव लगभग सन् 1942 से यहां बर्फ से ढ़का हुआ था। करीब 75 साल पहले 15 अगस्त 1942 को यह शव लापता हो गया था। बाद में उनके परिजनों से पूछने पर पता चला था कि वह जोड़ा गाय का दूध निकालने गए थे और तभी से लापता है। हालांकि जोड़े का शव भारी बर्फ में दबे होने के कारण महिला और पुरुष दोनों का शरीर सुरक्षित है। स्थानीय पुलिस के अनुसार, दक्षिण स्विट्जरलैंड में 3000 मीटर की ऊंचाई पर स्थित स्की रिसार्ट डायबलर्ट्स मैसिक की पहाड़ियों में दोनों का शव आस-पास ही मिला। पुलिस ने बताया कि शव के साथ बैग, बोतल, किताब और घड़ी जैसी छोटे अन्यों समान भी वहीं उनके साथ पड़े हुए थे।

 

 


आपको बता दें कि इस जोड़े की सात बच्चें लंबे समय से पता लगा रही थी कि आखिर उनके माता-पिता के साथ ऐसा क्या हुआ कि वह लापता हो गए हो फिर कभी लौट कर नहीं आए। बताया जा रहा है कि घटना के समय 40 साल के घड़ी निर्माता मार्सिलन डुमोलिन और उनकीस्कूल टीचर पत्नी फ्रांसिन अपने मवेशियों को चराने के लिए पहाड़ियों की ओर ले गए थे, लेकिन फिर कभी वापस नहीं लौटे।

 

Todays Beets: