Monday, January 22, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

पहाड़ियों पर बर्फ में दबा मिला लापता दंपति का शव, 75 साल से दबा हुआ था बर्फ में

अंग्वाल न्यूज डेस्क
पहाड़ियों पर बर्फ में दबा मिला लापता दंपति का शव, 75 साल से दबा हुआ था बर्फ में

स्विट्जरलैंड की सेनफ्लूरोन पहाड़ियों पर बर्फ में दबे एक जोड़े का शव मिला है। दरअसल, पिछले सप्ताह जब एक व्यक्ति वहां से गुजर रहा था, तो उसे एक ठोकर लगी। इस व्यक्ति ने नीचे देखा, तो वहां दो शव पड़े हुए थे। उसने पुलिस को सूचना दी। इस मामले में स्विस पुलिस का कहना है कि यह शव 75 साल से यहां दबे हुए थे।

ये भी पढ़ें— गांव में दहशत का माहौल, एक घर से सपेरे की बीन सुनकर निकले 46 सांप

ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है कि यह जोड़ा 1942 से यहां बर्फ में दबा हुआ था। भारी मात्रा में बर्फ में दबे होने के कारण दोनों (पुरुष और महिला) का शव सुरक्षित हैं। पुलिस ने बताया कि इनके शव शुक्रवार को मिले। शव के पास से बैकपैक, डिब्बे, किताब, घड़ी और जूते भी बरामद किए गए। सभी सामानों को जांच के लिए फॉरेंसिंक लैब भेज दिया गया है।

ये भी पढ़ें— फेसबुक की मदद से महिला ने चोर के घर से वापस ली अपनी साइकिल

हालांकि पुलिस ने अभी तक इस दंपति की पहचान जाहिर नहीं की है। स्विस पुलिस का कहना है, अभी तक शवों का डीएनए टेस्‍ट नहीं हुआ, इसलिए इनकी पहचान करना मुश्किल है। डीएनए रिपोर्ट आने के बाद ही हम इनकी पहचान बता पाएंगे।


ये भी पढ़ें— यह दुनिया का ऐसा बच्चा जिसका जेंडर नहीं है किसी को पता, जानें क्या मामला

स्‍थानीय मीडिया का कहना है कि ये शव घड़ी निर्माता मार्सिलिन डुमोलिन और उनकी स्कूल टीचर पत्नी फ्रांसिन के हैं, जो 1942 में लापता हो गए थे। दोनों अपने मवेशियों को चराने के लिए पहाड़ियों की ओर गए थे, लेकिन वापस नहीं लौटे। इन दोनों के 7 बच्चे हैं। इनके बच्चे लंबे समय से अपने माता-पिता का पता लगाने की कोशिश में जुटे थे कि आखिर उनके साथ क्या हुआ। पुलिस ने कहा कि अगर ये शव डुमोलिन दंपति की होगी तब उनके परिवार वालों को उनका शव सौंप दिया जाएगा। वहीं, शव का दावा करने वाले डुमोलिन दंपति के बेटे ले मटीन के कहा कि हमें इतने समय के बाद अपने माता-पिता के बारे में कम से कम पता तो चला।

 

 

Todays Beets: