Thursday, September 20, 2018

Breaking News

   ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के पूर्व जीएम के ठिकानों पर आयकर के छापे     ||   बिहार: पूर्व मंत्री मदन मोहन झा बनाए गए प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष। सांसद अखिलेश सिंह बनाए गए अभियान समिति के अध्यक्ष। कौकब कादिरी समेत चार बनाए गए कार्यकारी अध्यक्ष।     ||   कर्नाटक के मंत्री शिवकुमार के खिलाफ ED ने मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया    ||   सीतापुर में श्रद्धालुओें से भरी बस खाई में पलटी 26 घायल, 5 की हालत गंभीर     ||   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||

मुफ्त वाई-फाई की मदद से ‘कुली’ ने पास की सिविल सेवा परीक्षा, तीसरे प्रयास में मिली सफलता

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मुफ्त वाई-फाई की मदद से ‘कुली’ ने पास की सिविल सेवा परीक्षा, तीसरे प्रयास में मिली सफलता

नई दिल्ली। ‘‘कौन कहता है आसमां में सुराख नहीं हो सकता, एक पत्थर तो तबीयत से उछालो यारो’’। यह कहावत तो आपने जरूरी सुनी होगी और यह पूरी तरह से फिट बैठती है कि केरल में स्टेशन पर कुली का काम करने वाले श्रीनाथ के. पर। श्रीनाथ ने स्टेशन के मुफ्त वाई-फाई की मदद से सिविल सेवा परीक्षा की लिखित परीक्षा पास की है। श्रीनाथ केरल के एर्नाकुलम स्टेशन पर पिछले 5 सालों से कुली का काम कर रहे हैं। श्रीनाथ के मन में एक बड़ा अधिकारी बनने का सपना तो था लेकिन सुविधाओं की कमी के चलते यह संभव नहीं हो पा रहा था। उन्होंने स्टेशन पर उपलब्ध मुफ्त वाईफाई सुविधा के सहारे इंटरनेट के जरिए पढ़ाई की और अपने तीसरे प्रयास में केरल पब्लिक सर्विस कमीशन (केपीएससी) की लिखित परीक्षा पास की। 

ये भी पढ़ें - यूपी का यह ‘लाल’ है रियल लाइफ का ‘बजरंगी भाईजान’, जेल में बंद बेटे को मिलाया मां-बाप से


बड़ी बात यह रही है कि श्रीनाथ पढ़ाई के लिए किताबों में ही डूबे नहीं रहे बलिक अपना काम करते हुए उन्होंने अपने स्मार्टफोन और ईयरफोन के जरिए पढ़ाई करते रहे। अब अगर श्रीनाथ साक्षात्कार में सफल हो जाते हैं तो वह भूमि राजस्व विभाग के तहत विलेज फील्ड असिस्टेंट के पद पर नियुक्त हो जाएंगे। गौरतलब है कि पिछले 5 सालों से कुली का काम कर रहे श्रीनाथ का यह तीसरा प्रयास था। उनका कहना है कि यह पहला मौका था, जब उन्होंने स्टेशन पर उपलब्ध वाईफाई सुविधा का इस्तेमाल किया। 

उन्होंने ये भी बताया कि कुली का काम करने के दौरान वे हमेशा ईयरफोन कान में लगाए रखते थे और इंटरनेट पर अपने संबंधित विषयों पर लेक्चर सुना करते थे। उसे मन ही मन दोहराते भी रहते थे और रात को मौका मिलते ही फिर रिवाइज कर लेते थे। इसी वाईफाई की मदद से उन्होंने ऑनलाइन अपना परीक्षा फार्म भरा और देश दुनिया की ताजा जानकारियों से खुद को अपडेट किया साथ ही अपने विषयों की जमकर तैयारी की। अब आगे वह दूसरी प्रशासनिक परीक्षाओं के बारे में भी सोच रहे हैं।

Todays Beets: