Wednesday, September 26, 2018

Breaking News

   ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के पूर्व जीएम के ठिकानों पर आयकर के छापे     ||   बिहार: पूर्व मंत्री मदन मोहन झा बनाए गए प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष। सांसद अखिलेश सिंह बनाए गए अभियान समिति के अध्यक्ष। कौकब कादिरी समेत चार बनाए गए कार्यकारी अध्यक्ष।     ||   कर्नाटक के मंत्री शिवकुमार के खिलाफ ED ने मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया    ||   सीतापुर में श्रद्धालुओें से भरी बस खाई में पलटी 26 घायल, 5 की हालत गंभीर     ||   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||

औरंगाबाद में पेड़ पर लाखों रुपये के नोट लटके देख जनता हैरान-पुलिस परेशान, रकम जब्त कर मालिक की तलाश शुरू

अंग्वाल न्यूज डेस्क
औरंगाबाद में पेड़ पर लाखों रुपये के नोट लटके देख जनता हैरान-पुलिस परेशान, रकम जब्त कर मालिक की तलाश शुरू

औरंगाबाद । सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को केंद्र सरकार से पूछा कि आखिर लोगों को 500 और 1000 रुपये के पुराने नोट जमा कराने का एक मौका और क्यों नहीं दिया जा सकता। इस बारे में सरकार दो हफ्तों में एक हलफनामा दायर कर जवाब दे। कोर्ट के इस फैसले के बाद महाराष्ट्र के औरंगाबाद में एक चौंकाने वाली खबर सुनाई दी। कहा गया है कि यहां एक पेड़ पर लाखों के नोट लटके हुए हैं। पेड़ के करीब से गुजरते लोगों ने इसकी जानकारी पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने पाया कि ये 500 और एक हजार के पुराने नोट हैं, जिन्हें अब सरकार ने चलन से बाहर कर दिया है। बाद में सामने आया है कि पेड़ पर लटकी करैंसी करीब 10.5 लाख रुपये की थी। हालांकि इस दौरान नीचे गिरे पुराने नोटों को बंटोरने के लिए जुटी भीड़ को काबू में करने में भी पुलिस को खासी मशक्कत करनी पड़ी। 

ये भी पढ़ें- यात्रियों से कहा फ्लाइट में सीट खाली नहीं पर पीआईए के पूर्व एमडी तीन सीटों पर सोते दिखे, महिला पत्रकार ने फोटो शेयर कर किया खुलासा

असल में औरंगाबाद के एक पेड़ पर कुछ लोगों ने नोटों की कई गड्डी टंगी हुई देखी। कोई कुछ समय पाता इतने में किसी ने पुलिस को फोन कर पेड़ पर नोट टंगे होने की सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने पेड़ से गड्डी निकालने की कवायद की तो इस दौरान नोट के कुछ बंडल खुलकर नीचे फैल गए, जिसे देख लोगों की भीड़ उसे दबोचने के लिए मारामारी करने लगी। इन लोगों को काबू में करने के लिए पुलिस को भारी मशक्कत करनी पड़ी। इस बीच सामने आया कि सारे नोट 500 और हजार के पुराने नोट है, जिसे मोदी सरकार ने नोटबंदी के बाद चलन से बाहर कर दिया है। इसके बाद पुलिस ने एक बैग में सभी नोटों को रखा और मुख्यालय की ओर चले गए। 

ये भी पढ़ें- 30 दिनों के भीतर शादी का रजिस्ट्रेशन कराना जरूरी, नहीं कराया, तो लगेगा हर रोज 5 रुपये जुर्माना


सामने आया है कि यह नोट करीब 10 लाख 50 हजार रुपये हैं, जिसे किसी ने नोटबंदी के बाद चलन से बाहर होने की सूरत में फेंक दिया। क्योंकि नए कानून के तहत एक निश्चित सीमा से अधिक संख्या में पुराने नोट को रखना कानून अपराध है। निर्धारित संख्या से ज्यादा पुराने नोट रखने वाले पर जुर्माने के साथ सजा का भी प्रावधान है। 

बहरहाल, स्थानीय पुलिस इस बात के सबूत खंगालने में जुटी है कि आखिर किसने यह बैग यहां फेंका है। पुलिस इलाके में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज को खंगाल रही है, जिससे कोई सबूत मिले। बता दें कि पिछले साल 8 नवंबर को हुई नोटबंदी के बाद से सरकार ने पुराने 500 और एक हजार के नोट को चलन से बाहर कर दिया था। इसके बाद सरकार ने इन नोटों को बैंकों में बदलने के लिए एक समयसीमा निर्धारित की थी। इस दौरान कई जगहों पर नोटों के बंडल और नोटों की कतरन पाई थी। लोगों ने अपनी काली संपत्ति को ठिकाने लगाने के लिए इधर-उधर फेंकना शुरू कर दिया था।

ये भी पढ़ें- 50 साल तक लिव इन में रहने के बाद मोक्ष के लिए  80 साल की उम्र में रचायी शादी

Todays Beets: