Friday, July 21, 2017

Breaking News

   नगालैंड: शुरहोजेली ने विश्वासमत से पहले ही मानी हार, ज़ेलियांग ने ली CM पद की शपथ    ||   बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा- पार्टी कहेगी तो दे दूंगा इस्तीफा    ||   डोकलाम विवाद: भारतीय सीमा के पास खूब हथियार जमा कर रहा है चीन!    ||   रवि शास्त्री की चाहत- सचिन को मिले भारतीय बल्लेबाजी का जिम्मा    ||   नियंत्रण रेखा के पास एक चौकी में जवान ने मेजर को गोली मारी, मेजर की मौत    ||   नियंत्रण रेखा पर गुरेज सेक्टर में घुसपैठ की कोशिश    ||   मानवाधिकार आयोग का आदेश, सेना की जीप से बंधे अहमद डार को दें 10 लाख मुआवजा    ||   सुरजेवाला ने कहा- सनसनी न फैलाएं, 'हां' चीन के दूत से मिले थे राहुल गांधी    ||   देखें, मुजफ्फरनगर के बीजेपी MLA उमेश मलिक ने शिक्षा विभाग के अधिकारियों को जेल भेजने की धमकी दी, मलिक धरने में बैठे टीचर्स से मिले थे    ||   हैम्बर्ग में 7 जुलाई को G20 समिट के लिए ब्रिक्स नेता होंगे शामिल, पीएम मोदी और चीन के राष्ट्रपति भी लेंगे हिस्सा    ||

स्पैम कॉल से परेशान दुनिया, इस कारण परेशान देशों की सूची में भी पहले नंबर पर है भारत

अंग्वाल न्यूज डेस्क
स्पैम कॉल से परेशान दुनिया, इस कारण परेशान देशों की सूची में भी पहले नंबर पर है भारत

नई दिल्ली।

बैंकों से कर्ज और कार्ड की पेशकश से लेकर ग्राहकों को फोन कनेक्शन बदलने के लिये सस्ते डेटा की जानकारी देने वाली फोन कॉलों से आप भी परेशान होंगे। दिन में कई फोन ऐसे आते हैं, जो आपको काम में तो डिस्टर्ब करते ही हैं, कई बार आपका मूड भी अपसेट हो जाता है। इस तरह की कॉल से केवल आप और हम ही नहीं बल्कि दुनिया भर के लोग परेशान हैं, लेकिन इनमें भी भारतीय सबसे आगे हैं। एक सर्वे के अनुसार, स्पैम कॉल से परेशान देशों की सूची में भारत पहले नंबर पर है।

ये भी पढ़ें— अचंभित : वेंटिलेटर पर रखी गई मृत महिला ने 123 दिन बाद दिया जुड़वा बच्चों को जन्म

यह सर्वे फोन डायरेक्टरी ऐप ट्रूकॉलर ने कराया है। सर्वेक्षण के अनुसार इस तरह की अवांछित या स्पैम कॉल से प्रभावित देशों की सूची में भारत अमेरिका, ब्राजील, ब्रिटेन जैसे देशों से आगे है। इसके अनुसार भारत में औसतन हर मोबाइल धारक को महीने में 22 से अधिक अवांछित कॉल आती हैं। वहीं अमेरिका व ब्राजील में मोबाइल ग्राहकों को हर महीने में औसतन 20 अवांछित कॉल आती हैं। इन कॉल्स में ज्यादातर कॉल बैंकों की  ओर से कार्ड या कर्ज देने, दूसरी मोबाइल कंपनियों के प्लान से संबंधित होती हैं।

ये भी पढ़ें— ऐसा क्या हुआ कि परिजनों ने अपनी बेटी को 20 साल एक अंधेरे कमरे में 'कैद' कर दिया

सर्वे के अनुसार, भारत में दूरसंचार कंपनियां और दूरसंचार मार्केटिंग कंपनियां कुल अवांछित कॉल में क्रमश: 54 प्रतिशत और 13 प्रतिशत हिस्सेदारी निभाती हैं।

ये भी पढ़ें— प्रतियोगिता जीतने के चक्कर में खा लिया ज्यादा चिली बर्गर, फट गया पेट

 

Todays Beets: