Saturday, October 20, 2018

Breaking News

   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||   केरलः अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद ने सबरीमाला फैसले के खिलाफ HC में लगाई याचिका    ||   कोलकाताः HC ने दुर्गा पूजा आयोजकों को ममता के 28 करोड़ देने के फैसले पर रोक लगाई    ||    रूस के साथ S-400 एयर डिफेंस मिसाइल पर भारत की डील    ||   नार्वेः राजधानी ओस्लो में आज होगा शांति के नोबेल पुरस्कार का ऐलान    ||   अंकित सक्सेना मर्डर केसः ट्रायल के लिए अभियोगपक्ष के 2 वकीलों की नियुक्ति    ||   जम्मू कश्मीर में नेशनल कॉफ्रेंस के दो कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या, मरने वालों में एक MLA का पीए भी     ||

स्पैम कॉल से परेशान दुनिया, इस कारण परेशान देशों की सूची में भी पहले नंबर पर है भारत

अंग्वाल न्यूज डेस्क
स्पैम कॉल से परेशान दुनिया, इस कारण परेशान देशों की सूची में भी पहले नंबर पर है भारत

नई दिल्ली।

बैंकों से कर्ज और कार्ड की पेशकश से लेकर ग्राहकों को फोन कनेक्शन बदलने के लिये सस्ते डेटा की जानकारी देने वाली फोन कॉलों से आप भी परेशान होंगे। दिन में कई फोन ऐसे आते हैं, जो आपको काम में तो डिस्टर्ब करते ही हैं, कई बार आपका मूड भी अपसेट हो जाता है। इस तरह की कॉल से केवल आप और हम ही नहीं बल्कि दुनिया भर के लोग परेशान हैं, लेकिन इनमें भी भारतीय सबसे आगे हैं। एक सर्वे के अनुसार, स्पैम कॉल से परेशान देशों की सूची में भारत पहले नंबर पर है।

ये भी पढ़ें— अचंभित : वेंटिलेटर पर रखी गई मृत महिला ने 123 दिन बाद दिया जुड़वा बच्चों को जन्म

यह सर्वे फोन डायरेक्टरी ऐप ट्रूकॉलर ने कराया है। सर्वेक्षण के अनुसार इस तरह की अवांछित या स्पैम कॉल से प्रभावित देशों की सूची में भारत अमेरिका, ब्राजील, ब्रिटेन जैसे देशों से आगे है। इसके अनुसार भारत में औसतन हर मोबाइल धारक को महीने में 22 से अधिक अवांछित कॉल आती हैं। वहीं अमेरिका व ब्राजील में मोबाइल ग्राहकों को हर महीने में औसतन 20 अवांछित कॉल आती हैं। इन कॉल्स में ज्यादातर कॉल बैंकों की  ओर से कार्ड या कर्ज देने, दूसरी मोबाइल कंपनियों के प्लान से संबंधित होती हैं।


ये भी पढ़ें— ऐसा क्या हुआ कि परिजनों ने अपनी बेटी को 20 साल एक अंधेरे कमरे में 'कैद' कर दिया

सर्वे के अनुसार, भारत में दूरसंचार कंपनियां और दूरसंचार मार्केटिंग कंपनियां कुल अवांछित कॉल में क्रमश: 54 प्रतिशत और 13 प्रतिशत हिस्सेदारी निभाती हैं।

ये भी पढ़ें— प्रतियोगिता जीतने के चक्कर में खा लिया ज्यादा चिली बर्गर, फट गया पेट

 

Todays Beets: