Sunday, January 21, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

स्पैम कॉल से परेशान दुनिया, इस कारण परेशान देशों की सूची में भी पहले नंबर पर है भारत

अंग्वाल न्यूज डेस्क
स्पैम कॉल से परेशान दुनिया, इस कारण परेशान देशों की सूची में भी पहले नंबर पर है भारत

नई दिल्ली।

बैंकों से कर्ज और कार्ड की पेशकश से लेकर ग्राहकों को फोन कनेक्शन बदलने के लिये सस्ते डेटा की जानकारी देने वाली फोन कॉलों से आप भी परेशान होंगे। दिन में कई फोन ऐसे आते हैं, जो आपको काम में तो डिस्टर्ब करते ही हैं, कई बार आपका मूड भी अपसेट हो जाता है। इस तरह की कॉल से केवल आप और हम ही नहीं बल्कि दुनिया भर के लोग परेशान हैं, लेकिन इनमें भी भारतीय सबसे आगे हैं। एक सर्वे के अनुसार, स्पैम कॉल से परेशान देशों की सूची में भारत पहले नंबर पर है।

ये भी पढ़ें— अचंभित : वेंटिलेटर पर रखी गई मृत महिला ने 123 दिन बाद दिया जुड़वा बच्चों को जन्म

यह सर्वे फोन डायरेक्टरी ऐप ट्रूकॉलर ने कराया है। सर्वेक्षण के अनुसार इस तरह की अवांछित या स्पैम कॉल से प्रभावित देशों की सूची में भारत अमेरिका, ब्राजील, ब्रिटेन जैसे देशों से आगे है। इसके अनुसार भारत में औसतन हर मोबाइल धारक को महीने में 22 से अधिक अवांछित कॉल आती हैं। वहीं अमेरिका व ब्राजील में मोबाइल ग्राहकों को हर महीने में औसतन 20 अवांछित कॉल आती हैं। इन कॉल्स में ज्यादातर कॉल बैंकों की  ओर से कार्ड या कर्ज देने, दूसरी मोबाइल कंपनियों के प्लान से संबंधित होती हैं।


ये भी पढ़ें— ऐसा क्या हुआ कि परिजनों ने अपनी बेटी को 20 साल एक अंधेरे कमरे में 'कैद' कर दिया

सर्वे के अनुसार, भारत में दूरसंचार कंपनियां और दूरसंचार मार्केटिंग कंपनियां कुल अवांछित कॉल में क्रमश: 54 प्रतिशत और 13 प्रतिशत हिस्सेदारी निभाती हैं।

ये भी पढ़ें— प्रतियोगिता जीतने के चक्कर में खा लिया ज्यादा चिली बर्गर, फट गया पेट

 

Todays Beets: