Thursday, September 21, 2017

Breaking News

   जम्मू कश्मीर के नौगाम में लश्कर कमांडर अबू इस्माइल के साथ मुठभेड़,     ||   राम रहीम मामले पर गौतम का गंभीर प्रहार, कहा- धार्मिक मार्केटिंग का यह एक क्लासिक उदाहरण    ||   ट्राई ने ओवरचार्जिंग के लिए आइडिया पर लगाया 2.9 करोड़ का जुर्माना    ||   मदरसों का 15 अगस्त को ही वीडियोग्राफी क्यों? याचिका दायर, सुनवाई अगले सप्ताह    ||   पंचकूला से लंदन तक दिखा राम-रहीम विवाद का असर, ब्रिटेन ने जारी की एडवाइजरी    ||   PAK कोर्ट ने हिंदू लड़की को मुस्लिम पति के साथ रहने की मंजूरी दी    ||   बिहार आए पीएम मोदी, बाढ़ से हुई तबाही की गहन समीक्षा की    ||   जेल में ही वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए राम रहीम को सुनाई जाएगी सजा    ||   मच्छल में घुसपैठ नाकाम, पांच आतंकी ढेर, भारी मात्रा में गोलाबारूद बरामद    ||   जापान के बाद अब अमेरिका के साथ युद्धाभ्यास की तैयारी में भारत    ||

स्पैम कॉल से परेशान दुनिया, इस कारण परेशान देशों की सूची में भी पहले नंबर पर है भारत

अंग्वाल न्यूज डेस्क
स्पैम कॉल से परेशान दुनिया, इस कारण परेशान देशों की सूची में भी पहले नंबर पर है भारत

नई दिल्ली।

बैंकों से कर्ज और कार्ड की पेशकश से लेकर ग्राहकों को फोन कनेक्शन बदलने के लिये सस्ते डेटा की जानकारी देने वाली फोन कॉलों से आप भी परेशान होंगे। दिन में कई फोन ऐसे आते हैं, जो आपको काम में तो डिस्टर्ब करते ही हैं, कई बार आपका मूड भी अपसेट हो जाता है। इस तरह की कॉल से केवल आप और हम ही नहीं बल्कि दुनिया भर के लोग परेशान हैं, लेकिन इनमें भी भारतीय सबसे आगे हैं। एक सर्वे के अनुसार, स्पैम कॉल से परेशान देशों की सूची में भारत पहले नंबर पर है।

ये भी पढ़ें— अचंभित : वेंटिलेटर पर रखी गई मृत महिला ने 123 दिन बाद दिया जुड़वा बच्चों को जन्म

यह सर्वे फोन डायरेक्टरी ऐप ट्रूकॉलर ने कराया है। सर्वेक्षण के अनुसार इस तरह की अवांछित या स्पैम कॉल से प्रभावित देशों की सूची में भारत अमेरिका, ब्राजील, ब्रिटेन जैसे देशों से आगे है। इसके अनुसार भारत में औसतन हर मोबाइल धारक को महीने में 22 से अधिक अवांछित कॉल आती हैं। वहीं अमेरिका व ब्राजील में मोबाइल ग्राहकों को हर महीने में औसतन 20 अवांछित कॉल आती हैं। इन कॉल्स में ज्यादातर कॉल बैंकों की  ओर से कार्ड या कर्ज देने, दूसरी मोबाइल कंपनियों के प्लान से संबंधित होती हैं।


ये भी पढ़ें— ऐसा क्या हुआ कि परिजनों ने अपनी बेटी को 20 साल एक अंधेरे कमरे में 'कैद' कर दिया

सर्वे के अनुसार, भारत में दूरसंचार कंपनियां और दूरसंचार मार्केटिंग कंपनियां कुल अवांछित कॉल में क्रमश: 54 प्रतिशत और 13 प्रतिशत हिस्सेदारी निभाती हैं।

ये भी पढ़ें— प्रतियोगिता जीतने के चक्कर में खा लिया ज्यादा चिली बर्गर, फट गया पेट

 

Todays Beets: