Saturday, May 25, 2019

Breaking News

   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||

जानिए, झारखंड में स्थित एक ऐसे कुंड के बारे में जहां ताली बजाने पर निकलता है पानी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
जानिए, झारखंड में स्थित एक ऐसे कुंड के बारे में जहां ताली बजाने पर निकलता है पानी

नई दिल्ली। अक्सर आपने फिल्मों में या ऐतिहासिक सीरियल में देखा होगा की बाॅस या राजा के ताली बजाने पर खादिम सामने खडे़ हो जाते हैं लेकिन क्या आपने ऐसा सुना है कि ताली बजाने से किसी कुंड में पानी निकल आएगा। झारखंड में स्थित इस कुंड के इस रहस्य को वैज्ञानिक भी आज तक नहीं सुलझा पाए हैं। बता दें कि यह कुंड झारखंड के बोकारो जिले में है। ऐसा कहा जाता है कि इस कुंड के सामने खड़े होकर ताली बजाने से पानी अपने आप ऊपर निकल आता है। इस कुंड में पानी इतनी तेजी से निकलता है कि मानो बर्तन में पानी उबल रहा है।

गौरतलब है कि इस कुंड की खासियत यह भी है कि इसमें गर्मी के दिनों में ठंडा और ठंडे में गर्म पानी निकलता है। ऐसा भी कहा जाता है कि यहां स्नान करने से चर्मरोग दूर हो जाता है। लोगों का मानना है कि पानी में जो कोई भी मन्नत मांगता है, उसकी सारी मन्नत पूरी हो जाती हैं। इस अनोखे कुंड में नहाने के लिए लोग दूर-दूर से आते हैं। इस कुंड पर कई वैज्ञानिकों ने रिसर्च किया कि आखिर यहां पानी आता कहां से है लेकिन आज तक इसके रहस्य से पर्दा नहीं उठ पाया।


ये भी पढ़ें - वियतनाम के राष्ट्रपति का भारत में हुआ स्वागत, रक्षा और व्यापार के साथ परमाणु सहयोग पर भी समझौता 

बता दें कि इस कुंड को दलाही कुंड के नाम से जाना जाता है। इस कुंड से निकलने वाला पानी जमुई नामक नाले से होता हुआ गंगा नदी में जाता है। पानी एकदम साफ है। कुंड के निकट दलाही गोसाई का देव स्थान है। यहां हर रविवार को श्रद्धालु पूजा-पाठ के लिए आते हैं। 

Todays Beets: