Sunday, May 27, 2018

Breaking News

   कानपुर जहरीली शराब मामले में 5अधिकारी निलंबित     ||   अब जल्द ही बिना नेटवर्क भी कर सकेंगे कॉल, बस Wi-Fi की होगी जरुरत     ||   मौलाना मदनी ने भी की एएमयू से जिन्‍ना की तस्‍वीर हटाने की वकालत     ||   भारत-चीन सेना के बीच हॉटलाइन की तैयारी, LoC पर तनाव होगा दूर     ||   कसौली में धारा 144 लागू, आरोपित पुलिस की गिरफ्त से बाहर     ||   स्कूली बच्चों पर पत्थरबाजी से भड़के उमर अब्दुल्ला, कहा- ये गुंडों जैसी हरकत     ||   थर्ड फ्रंट: ममता, कनिमोझी....और अब केसीआर की एसपी चीफ अखिलेश यादव के साथ बैठक     ||   मायावती का पलटवार, कहा- सत्ता के अहंकार में जनता को मूर्ख समझ रही BJP; शाह के गुरू मोदी ने गिराया पार्टी का स्तर     ||   चीन के स्‍पर्म बैंक ने रखी अनोखी शर्त, सिर्फ कम्‍युनिस्‍टों का समर्थन करने वाले ही दान कर सकेंगे स्‍पर्म     ||   CBSE पेपर लीक: हिमाचल से टीचर समेत 3 गिरफ्तार, पूछताछ में हो सकता है अहम खुलासा     ||

अलीगढ़ में मातम हुआ ‘खुशियों में तब्दील’, मौत के कुछ ही घंटे बाद जीवित हुआ रामकिशोर

अंग्वाल न्यूज डेस्क
अलीगढ़ में मातम हुआ ‘खुशियों में तब्दील’, मौत के कुछ ही घंटे बाद जीवित हुआ रामकिशोर

अलीगढ़। ऐसा तो अक्सर ही सुना जाता है कि किसी भी घर में खुशियां मातम में तब्दील हो गई लेकिन क्या आपने कभी ऐसा सुना है कि किसी घर में पसरा मातम खुशियों में तब्दील हो गई। जी हां, उत्तरप्रदेश के अलीगढ़ के किरथल इलाके में ऐसा हुआ है जहां मौत के कुछ ही घंटे के जब उसके अंतिम संस्कार की तैयारी की जा रही थी वह जीवित हो उठा। पहले तो सभी डर गए लेकिन जब उसने सबका नाम पुकारने शुरू किया तो घर वालों में खुशी की लहर दौड़ गई। पुनर्जीवित होने के बाद जो बातें उसने सुनाई उसे सुनकर सभी हैरान हो गए।

गौरलतब है कि अलीगढ़ के किरथल गांव में रहने वाले रामकिशोर नाम के व्यक्ति की मौत हो गई थी। उसकी मौत के बाद घर परिवार में मातम का माहौल था, सभी सगे-संबंधी परिजनों को ढांढ़स बंधाने के लिए पहुंच गए। इस बीच उसके अंतिम संस्कार की तैयारी भी शुरू कर दी गई। इन तैयारियों के बीच रामकिशोर के शरीर में हरकत होने लगी। यह देखकर वहां मौजूद सभी लोग घबरा गए लेकिन जब उसने सभी लोगों के नाम पुकारने शुरू किए तो वहां खुशी की लहर दौड़ गई। जब उससे पूछा गया तो उसने बताया ‘गलती से ले गए थे, वापस भेज दिया।’


ये भी पढ़ें - महिला पायलट की दिलेरी ने बचाई सैकड़ों यात्रियों की जान, 32 हजार फीट की ऊंचाई पर इंजन में हुआ धमाका 

यहां बता दें कि रामकिशोर के पुनर्जीवित होने पर उसने जो कहानी सुनाई उसे सुनकर सभी हैरान रह गए। रामकिशोर ने बताया कि उसे ज्यादा कुछ याद नहीं है लेकिन कुछ दाढ़ी वाले महात्मा एक बड़े दाढ़ी वाले महात्मा को अपना-अपना पक्ष बता रहे थे। इसी बीच उन्होंने पूछा इसे क्यों ले आए हो, जरा देखो, बस एक आवाज और आई इसे क्यों ले आए, अभी वक्त है। इतना सुनने के बाद ही लगा कि किसी ने धक्का दे दिया और जब आंख खुली तो परिवार को बिलखते हुए देखा। इस दरम्यान दिखने वाले न तो किसी का चेहरा ध्यान है और न इसके सिवाए और कुछ बात याद है।

Todays Beets: