Sunday, January 20, 2019

Breaking News

   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||

पालतु जानवरों के बीमार होने पर भी मिलेगी छुट्टी, नहीं कटेंगे पैसे

अंग्वाल न्यूज डेस्क
पालतु जानवरों के बीमार होने पर भी मिलेगी छुट्टी, नहीं कटेंगे पैसे

आप कहीं भी काम कर रहे हों बीमारी के नाम पर छुट्टी मिलती है। अगर आपका पालतु जानवर बीमार है तो उसकी देखभाल के लिए भी आपको दफ्तर से छुट्टी मिल सकती है और इसके लिए आपके कोई पैसे भी नहीं कटेंगे। इटली में एक ऐसा ही मामला सामने आया है जिसमें यूनिवर्सिटी में काम करने वाली के दो दिनों के पैसे काट लिए गए थे जबकि उसने सिक लीव में अपने कुत्ते की बीमारी का हवाला दिया था। 

महिला के पक्ष में सुनाया फैसला

गौरतलब है कि यूनीवर्सिटी द्वारा पैसे काटे जाने पर महिला ने कोर्ट में केस कर दिया और कोर्ट ने महिला के पक्ष में फैसला दिया है। कोर्ट ने अपने फैसले में कहा कि बीमार पशु को मरते हुए छोड़ देना किसी अपराध से कम नहीं है। यूनिवर्सिटी महिला के काटे गए वेतन का जल्द भुगतान करें। 

ये भी पढ़ें - बिना हाथ-पैर के बावजूद बेहतरीन फोटोग्राफी करता है अचमद, माॅडलों की लगी लाइन


पारिवारिक सदस्य होता है जानवर

आपको बता दें कि महिला ने यह केस यूरोप में जानवरों की राइट्स की सबसे बड़ी संस्था इटालियन एंटी विविसेक्शन लीग (एलएवी) में दर्ज कराया था जिसे उसने वकील की मदद से जीत लिया। कोर्ट ने सुनवाई के दौरान कहा कि विश्वविद्यालय को जानवरों की समस्या को भी इंसानों की पर्सनल प्राॅब्लम के तौर पर देखना  चाहिए। जानवरों को गंभीर हालत में छोड़ देने पर 10 हजार डाॅलर का जुर्माना किया जाएगा। यहां बता दें कि लीग के प्रेसीडेंट ने कहा कि जानवर सिर्फ फाइनेंनशियल सपोर्ट के लिए ही नहीं होते बल्कि वो एक परिवार के सदस्य की तरह ही होते हैं।

 

 

Todays Beets: