Wednesday, April 24, 2019

Breaking News

   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||

पालतु जानवरों के बीमार होने पर भी मिलेगी छुट्टी, नहीं कटेंगे पैसे

अंग्वाल न्यूज डेस्क
पालतु जानवरों के बीमार होने पर भी मिलेगी छुट्टी, नहीं कटेंगे पैसे

आप कहीं भी काम कर रहे हों बीमारी के नाम पर छुट्टी मिलती है। अगर आपका पालतु जानवर बीमार है तो उसकी देखभाल के लिए भी आपको दफ्तर से छुट्टी मिल सकती है और इसके लिए आपके कोई पैसे भी नहीं कटेंगे। इटली में एक ऐसा ही मामला सामने आया है जिसमें यूनिवर्सिटी में काम करने वाली के दो दिनों के पैसे काट लिए गए थे जबकि उसने सिक लीव में अपने कुत्ते की बीमारी का हवाला दिया था। 

महिला के पक्ष में सुनाया फैसला

गौरतलब है कि यूनीवर्सिटी द्वारा पैसे काटे जाने पर महिला ने कोर्ट में केस कर दिया और कोर्ट ने महिला के पक्ष में फैसला दिया है। कोर्ट ने अपने फैसले में कहा कि बीमार पशु को मरते हुए छोड़ देना किसी अपराध से कम नहीं है। यूनिवर्सिटी महिला के काटे गए वेतन का जल्द भुगतान करें। 

ये भी पढ़ें - बिना हाथ-पैर के बावजूद बेहतरीन फोटोग्राफी करता है अचमद, माॅडलों की लगी लाइन


पारिवारिक सदस्य होता है जानवर

आपको बता दें कि महिला ने यह केस यूरोप में जानवरों की राइट्स की सबसे बड़ी संस्था इटालियन एंटी विविसेक्शन लीग (एलएवी) में दर्ज कराया था जिसे उसने वकील की मदद से जीत लिया। कोर्ट ने सुनवाई के दौरान कहा कि विश्वविद्यालय को जानवरों की समस्या को भी इंसानों की पर्सनल प्राॅब्लम के तौर पर देखना  चाहिए। जानवरों को गंभीर हालत में छोड़ देने पर 10 हजार डाॅलर का जुर्माना किया जाएगा। यहां बता दें कि लीग के प्रेसीडेंट ने कहा कि जानवर सिर्फ फाइनेंनशियल सपोर्ट के लिए ही नहीं होते बल्कि वो एक परिवार के सदस्य की तरह ही होते हैं।

 

 

Todays Beets: