Wednesday, January 24, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

रूस में पैदा हुआ मंगलग्रह पर रहने वाला पायलट, पिछले जन्म की बातें बताकर कर दिया हैरान

अंग्वाल न्यूज डेस्क
रूस में पैदा हुआ मंगलग्रह पर रहने वाला पायलट, पिछले जन्म की बातें बताकर कर दिया हैरान

इंसानों का पुनर्जन्म होता है इस बात को तो भारत में काफी अरसे से माना जा रहा है लेकिन विदेशों में अक्सर इसे लेकर विरोधाभास रहा है। फिलहाल रूस में जन्मे एक बालक बोरिसका किपरियानोविच ने अपनी बातों से पूरी दुनिया का ध्यान अपनी ओर खींचा है। इस बच्चे का कहना है कि वह मंगल ग्रह पर पायलट था और उन दिनों में वह कई बार धरती के चक्कर लगा चुका है। इस बच्चे के माता-पिता भी इसके ज्ञान से हैरान है।

कई बार आया धरती पर 

गौरतलब है कि बोरिसका किपरियानोविच का जन्म रूस में हुआ है। उसने बताया कि मंगल ग्रह से पायलट के तौर पर धरती पर आने के दौरान ही उसकी मृत्यू हो गई थी। उसने बताया कि जिस समय वह धरती पर आया था उस समय मंगल ग्रह की सभ्यता काफी विकसित थी। बता दें कि वह आज से करीब 70 हजार साल लेमूरियन पृथ्वी पर रहते थे। बोरिसको का दावा है कि उस सभ्यता में उनके कई दोस्त थे और उन्होंने उसे नष्ट होते हुए देखा था। 


 

माता-पिता भी हैरान

आपको बता दें कि बोरिसका के माता-पिता भी उसके ज्ञान के आगे हैरान हैं। उनका कहना है कि महज 4 महीने की उम्र में ही इसने बोलना शुरू कर दिया था और 8 महीने में तो इसने पूरा वाक्य बोलना चालू कर दिया था। यहां सबसे ज्यादा गौर करने वाली बात है कि बोरिसका ने बताया कि मनुष्य के विकास का राज ईजिप्ट के स्फिंक्स में छुपा हुआ है। उसके कानों के पीछे छिपे राज को कैसे खोला जाए इसके बारे में उसे पता नहीं है।  

Todays Beets: