Wednesday, September 19, 2018

Breaking News

   ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के पूर्व जीएम के ठिकानों पर आयकर के छापे     ||   बिहार: पूर्व मंत्री मदन मोहन झा बनाए गए प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष। सांसद अखिलेश सिंह बनाए गए अभियान समिति के अध्यक्ष। कौकब कादिरी समेत चार बनाए गए कार्यकारी अध्यक्ष।     ||   कर्नाटक के मंत्री शिवकुमार के खिलाफ ED ने मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया    ||   सीतापुर में श्रद्धालुओें से भरी बस खाई में पलटी 26 घायल, 5 की हालत गंभीर     ||   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||

रूस में पैदा हुआ मंगलग्रह पर रहने वाला पायलट, पिछले जन्म की बातें बताकर कर दिया हैरान

अंग्वाल न्यूज डेस्क
रूस में पैदा हुआ मंगलग्रह पर रहने वाला पायलट, पिछले जन्म की बातें बताकर कर दिया हैरान

इंसानों का पुनर्जन्म होता है इस बात को तो भारत में काफी अरसे से माना जा रहा है लेकिन विदेशों में अक्सर इसे लेकर विरोधाभास रहा है। फिलहाल रूस में जन्मे एक बालक बोरिसका किपरियानोविच ने अपनी बातों से पूरी दुनिया का ध्यान अपनी ओर खींचा है। इस बच्चे का कहना है कि वह मंगल ग्रह पर पायलट था और उन दिनों में वह कई बार धरती के चक्कर लगा चुका है। इस बच्चे के माता-पिता भी इसके ज्ञान से हैरान है।

कई बार आया धरती पर 

गौरतलब है कि बोरिसका किपरियानोविच का जन्म रूस में हुआ है। उसने बताया कि मंगल ग्रह से पायलट के तौर पर धरती पर आने के दौरान ही उसकी मृत्यू हो गई थी। उसने बताया कि जिस समय वह धरती पर आया था उस समय मंगल ग्रह की सभ्यता काफी विकसित थी। बता दें कि वह आज से करीब 70 हजार साल लेमूरियन पृथ्वी पर रहते थे। बोरिसको का दावा है कि उस सभ्यता में उनके कई दोस्त थे और उन्होंने उसे नष्ट होते हुए देखा था। 


 

माता-पिता भी हैरान

आपको बता दें कि बोरिसका के माता-पिता भी उसके ज्ञान के आगे हैरान हैं। उनका कहना है कि महज 4 महीने की उम्र में ही इसने बोलना शुरू कर दिया था और 8 महीने में तो इसने पूरा वाक्य बोलना चालू कर दिया था। यहां सबसे ज्यादा गौर करने वाली बात है कि बोरिसका ने बताया कि मनुष्य के विकास का राज ईजिप्ट के स्फिंक्स में छुपा हुआ है। उसके कानों के पीछे छिपे राज को कैसे खोला जाए इसके बारे में उसे पता नहीं है।  

Todays Beets: