Thursday, April 19, 2018

Breaking News

   मायावती का पलटवार, कहा- सत्ता के अहंकार में जनता को मूर्ख समझ रही BJP; शाह के गुरू मोदी ने गिराया पार्टी का स्तर     ||   चीन के स्‍पर्म बैंक ने रखी अनोखी शर्त, सिर्फ कम्‍युनिस्‍टों का समर्थन करने वाले ही दान कर सकेंगे स्‍पर्म     ||   CBSE पेपर लीक: हिमाचल से टीचर समेत 3 गिरफ्तार, पूछताछ में हो सकता है अहम खुलासा     ||   बिहार: शराब और मुर्गे के साथ गश्त करने वाली पुलिस टीम निलंबित     ||   रेलवे की 90 हजार नौकरियों के आवेदन की आज लास्ट डेट, दो करोड़ 80 लाख कर चुके हैं अप्लाई     ||   कांग्रेस में बड़ा बदलाव: जनार्दन द्विवेदी की छुट्टी, गहलोत बने नए AICC महासचिव     ||   भारत ने चीन की तिब्बत सीमा पर भेजे और सैनिक, गश्त भी बढ़ाई     ||   अब कॉल सेंटर की नौकरियों पर नजर, अमेरिकी सांसद ने पेश किया बिल     ||   ब्लूमबर्ग मीडिया का दावा, 2019 छोड़िए 2029 तक पीएम रहेंगे नरेंद्र मोदी     ||   फेसबुक को डेटा लीक मामले से लगा तगड़ा झटका, 35 अरब डॉलर का नुकसान     ||

अब रोबोट करेंगे इलाज और लड़ेंगे चुनाव, जाने कहां होगा ऐसा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
अब रोबोट करेंगे इलाज और लड़ेंगे चुनाव, जाने कहां होगा ऐसा

नई दिल्ली। अभी तक आपने मरीजों का इलाज करते हुए डाॅक्टरों को देखा होगा लेकिन अब जल्द ही ऐसे रोबोट तैयार किए जा रहे हैं जो इंसानों के शरीर के अंदर घुसकर उसकी बीमारी को ठीक करेंगे। जी हां, चीन के शोधकर्ताओं ने ऐसे ही छोटे-छोटे रोबोट्स तैयार करने में सफलता पाई है जो चुंबकीय कणों की मदद से शरीर के अंदर घुसकर ना सिर्फ बीमारियों को पहचानेंगे बल्कि बीमारियों के उपचार में भी मदद करेंगे जिसमें शरीर की कुछ खास कोशिकाओं में दवाई पहुंचानी पड़ती है।

काई से बनेगा रोबोट

आपको बता दें कि चीन में इन रोबोट्स का निर्माण पानी में पाई जाने वाली ‘काई’ में पैदा होने वाले जीवों से किया गया है। ये जीव शरीर के अंदर बीमारी की वजह से होने वाले रासायनिक परिवर्तन को पहचान लेते हैं और उन छोटे ऊतकों को भी पहचान लगा लेते हैं जो एमआरआई की पकड़ में भी नहीं आते हैं। यहां बता दें कि अभी हाल ही में सऊदी अरब में पहली बार एक रोबोट को वहां की नागरिकता दी गई थी। 


ये भी पढ़ें - छोटी सी उम्र में सुचेता ने किया कमाल, एक दो नहीं बल्कि 80 भाषाओं में गा सकती हैं गाना

रोबोट नेता लड़ेंगे चुनाव

यहां एक और बात गौर करने वाली है कि आने वाले समय में आप नेताओं की जगह रोबोट को चुनाव लडते हुए देख सकते हैं। ये रोबोट ना सिर्फ एक तेज तर्रार  नेता है बल्कि चुनाव भी लड़ने में सक्षम है। न्यूजीलैंड के उद्यमी निक गेरिटसन की मदद और सलाह से वैज्ञानिकों ने दुनिया का पहला रोबोट राजनेता बनाया है। बता दें कि आर्टिफिशल इंटेलीजेंस वाला यह नेता रोबोट आवास, शिक्षा, आव्रजन संबंधी नीतियों जैसे स्थानीय मुद्दों पर पूछे गए सवालों का बड़ी ही आसानी के साथ जवाब दे सकता है। यही वजह है कि 2020 में न्यूजीलैंड में होने वाले आम चुनाव में इसे उम्मीदवार बनाने की तैयारियां भी की जा रही हैं। इस डिजिटल राजनेता का नाम ‘सैम’ दिया गया है। 

Todays Beets: