Thursday, September 20, 2018

Breaking News

   ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के पूर्व जीएम के ठिकानों पर आयकर के छापे     ||   बिहार: पूर्व मंत्री मदन मोहन झा बनाए गए प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष। सांसद अखिलेश सिंह बनाए गए अभियान समिति के अध्यक्ष। कौकब कादिरी समेत चार बनाए गए कार्यकारी अध्यक्ष।     ||   कर्नाटक के मंत्री शिवकुमार के खिलाफ ED ने मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया    ||   सीतापुर में श्रद्धालुओें से भरी बस खाई में पलटी 26 घायल, 5 की हालत गंभीर     ||   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||

जींद में ‘जख्मी जूतों का अस्पताल’ चलाने वाले डाॅक्टर को मिलेगा नया क्लीनिक...

अंग्वाल न्यूज डेस्क
जींद में ‘जख्मी जूतों का अस्पताल’ चलाने वाले डाॅक्टर को मिलेगा नया क्लीनिक...

नई दिल्ली। सोशल मीडिया कब किसे फर्श से अर्श पर पहुंचा दे इस बात का पता शायद ही किसी को होता है। पाकिस्तान के चायवाले लड़के, नेपाल की तरकारी वाली और सिंगापुर हवाई अड्डे के सिक्योरिटी गार्ड के बाद हरियाणा के जींद इलाके में जूते की मरम्मत करने वाले नरसीराम भी इसमें शामिल हो गए हैं। नरसीराम द्वारा जूते की मरम्मत करने के लिए ‘जख्मी जूतों का अस्पताल’ के नाम से बैनर लगाया है, यह फोटो सोशल मीडिया पर वायरल होते हुए उद्योगपति आनंद महिंद्रा तक पहुंच गया। आनंद महिंद्रा को मार्केटिंक का तरीका इस कदर भाया कि उन्होंने उनकी मदद के लिए हाथ आगे बढ़ा दिया। अब नरसीराम के अस्पताल के लिए नया क्लीनिक तैयार किया जा रहा है। आनंद महिंद्रा ने नरसीराम और उनकी दुकान की फोटो अपने ट्विटर हैंडल पर शेयर करते हुए दुनिया को मार्केटिंग का अनोखा अंदाज दिखाया।

ये भी पढ़ें- डॉन छोटा राजन पत्रकार जेडे हत्याकांड में दोषी करार, मिलेगी उम्रकैद की सजा !

गौरतलब है कि नरसीराम ने अपनी दुकान का नाम जूतों का अस्पताल रख दिया था और यह फोटो वायरल होते हुए आनंद्र महिंद्रा के पास पहुंच गई थी। इसके बाद उन्होंने अपने कर्मचारियों को नरसीराम को ढूंढने के निर्देश दे दिए। दिलचस्प बात है कि नरसीराम का पता मिल गया है और अब उनके लिए नया क्लीनिक यानि नई दुकान बनाई जा रही है, जहां वह शान से जूतों की मरम्मत कर सकेंगे। 

ये भी पढ़ें - लाखों का पैकेज छोड़कर साॅफ्टवेयर इंजीनियर बना ‘चाय वाला’, बाईक से करते हैं चाय की डिलीवरी, कई ...


यहां बता दें की नरसीराम ने अपनी दुकान में एक बैनर टांगा हुआ है जिसमें उन्होंने उसे जूतों का अस्पताल नाम दिया है और खुद को डाॅक्टर नरसीराम बताया है। बैनर में जूतों को ठीक कराने के लिए कई जानकारियां दी गई हैं, जैसे- ओ.पी.डी, सुबह 9 से दोपहर 1 बजे, लंच टाइम-  दोपहर 1 से 2 बजे और शाम 2 से 6 बजे तक अस्तपाल खुला रहेगा। इसके आगे यह भी लिखा है कि उनके यहां सभी जूतों की मरम्मत जर्मन तरीके से किया जाता है। आनंद महिंद्रा ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘इन्हें तो आईआईएम में फैकल्टी होना चाहिए।’

ये भी पढ़ें- दुनिया का सबसे प्रदूषित शहर है कानपुर, WHO की 15 शहरों की सूची में 14 भारत के, जानिए अपने शहर...

खास बात है कि नरसीराम की नई दुकान पर यही बैनर लगाया जाएगा। जब महिंद्रा ग्रुप की टीम नरसीराम से मिली तो उनसे पूछा गया कि उनकी कुछ मदद कर सकते हैं। टीम की ओर से पैसों की मदद की पेशकश भी की गई लेकिन नरसीराम ने आर्थिक मदद लेने से इनकार कर दिया। हालांकि, नरसीराम ने कहा कि उन्हें काम के लिए बेहतर जगह की जरूरत है। 

महिंद्रा ने ट्वीट में आगे लिखा कि उन्होंने मुंबई की अपनी डिजाइन स्टूडियो टीम से एक चलती-फिरती दुकान डिजाइन करने को कहा है। नरसीराम की जरुरत के हिसाब से उनके लिए नई चलती-फिरती दुकान तैयार की जाएगी। 

Todays Beets: