Tuesday, May 21, 2019

Breaking News

   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||

दुबई के गैराज में काम करने वाले भारतीय बने करोड़पति, ड्यूटी फ्री मिलेनियम मिलिनेयर ड्राॅ में नाम का हुआ ऐलान

अंग्वाल न्यूज डेस्क
दुबई के गैराज में काम करने वाले भारतीय बने करोड़पति, ड्यूटी फ्री मिलेनियम मिलिनेयर ड्राॅ में नाम का हुआ ऐलान

नई दिल्ली। आपने यह तो सुना ही होगा कि ‘ऊपर वाला जब भी देता है देता छप्पड़ फाड़ के’। यह बात संयुक्त अरब अमीरात में एक गैराज में काम करने वाले भारत के इस नौजवान पर बिल्कुल सही बैठती है। केरल के रहने वाले इस शख्स ने दुबई के एयरपोर्ट पर ड्यूटी फ्री मिलेनियम मिलिनेयर ड्रा में 10 लाख डॉलर (करीब 6.5 करोड़ रुपये) की रकम जीती है। गल्फ न्यूज की रिपोर्ट में बताया गया कि इस युगल ने जो टिकट खरीदी थी, उसे दुबई अंतरार्ष्ट्रीय हवाई अड्डे पर मंगलवार को हुए ड्रॉ में विजेता के रूप में चुना गया है।

गौरतलब है कि केरल के रहने वाले थोमन्ना शारजाह के एक आॅटोमोटिव गैराज में काम करते हैं अब उन्हें जीती गई रकम को सेबेस्टियन के साथ साझा करना पड़ेगा क्योंकि दोनों ने मिलकर इस लाॅटरी को खरीदा था। यहां बता दें कि सेबेस्टियन ने 5 बार इस लाॅटरी को खरीदा था और हर बार घर पहुंचने के बाद अपनी मां से कहते थे कि उन्होंने लाॅटरी जीत ली है। थोमन्ना ने कहा, “इस विस्मयकारी जीत के लिए दुबई ड्यूटी फ्री को धन्यवाद। यह निश्चित रूप से हम दोनों को लंबे समय तक काम आएगा।”


ये भी पढ़ें - दुबई में धोखाधड़ी के मामले में फंसे 2 भारतीय, कोर्ट ने सुनाई 500 साल की सजा

दोनों दोस्तों ने अभी तक यह फैसला नहीं लिया है कि वे इस इनामी राशि का किस तरह से उपयोग करेंगे। यहां बता दें कि अक्सर ऐसा देखा जाता है कि बड़ी रकम जीतने के बाद लोग नौकरी छोड़ देते हैं लेकिन इन दोनों दोस्तों ने दुबई में नौकरी जारी रखने का फैसला लिया है और फिलहाल इनका भारत लौटने का कोई इरादा नहीं है।  

Todays Beets: