Monday, January 22, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

विमान बना डिलीवरी रूम, महिला ने 39000 फीट की ऊंचाई पर दिया बच्चे को जन्म

अंग्वाल न्यूज डेस्क
विमान बना डिलीवरी रूम, महिला ने 39000 फीट की ऊंचाई पर दिया बच्चे को जन्म

बोगोटा।

हजारों फीट की ऊंचाई पर हवाई सफर के दौरान एक महिला द्वारा बच्‍चे को जन्‍म देने का मामला सामने आया है। घटना बुधवार की है। लुफ्थांसा का एक विमान उड़ान एलएच 543 कोलंबिया के बोगोटा से जर्मनी के फ्रैंकफर्ट जा रहा था, तभी बीच रास्‍ते में डेस्स्लावा के नामक गर्भवती महिला को प्रसव पीड़ा होने लगी।

जानकारी के अनुसार, जिस समय महिला को प्रसव पीड़ा शुरू हुई, उस वक्त विमान 39 हजार फुट की ऊंचाई पर था। महिला को दर्द शुरू होते ही विमान के पिछले हिस्से को अस्थायी डिलीवरी रूम में तब्‍दील करना पड़ा और केबिन-क्रू व यात्रियों में मौजूद तीन डॉक्टरों की मदद से बिना किसी परेशानी के बच्चे का जन्म हुआ। बच्चे का नाम निकोलाई रखा गया है, जो तीन में से एक डॉक्टर का नाम था। लुफ्थांसा ने ट्वीट कर क्रू-मेंबर्स के साथ बच्‍चे की तस्‍वीर शेयर की।

सुरक्षित प्रसव के बाद विमान को रास्ते में मैनचैस्टर में उतारकर जच्चा और बच्चा को पैरा मेडिकल कर्मचारियों की देखरेख में सौंप दिया गया। विमान में 191 यात्री और चालक दल के 13 सदस्य शामिल थे।     

विमान के मुख्य पायलट कुर्ट मेयर ने बताया कि अपने 37 साल के कॅरियर में उन्होंने पहले कभी इस तरह का अनुभव नहीं किया। यह जबरदस्त टीमवर्क था जिसमें सभी ने अपनी भूमिका बखूबी निभायी। उन्होंने कहा मेरे अपने बेटे के जन्म के बाद यह मेरी जिंदगी का सबसे भावुक क्षण था।

Todays Beets: