Sunday, June 24, 2018

Breaking News

   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||   टेस्ट में भारत की सबसे बड़ी जीत: अफगानिस्तान को एक दिन में 2 बार ऑलआउट किया, डेब्यू टेस्ट 2 दिन में खत्म     ||   पेशावर स्कूल हमले का मास्टरमाइंड और मलाला पर गोली चलवाने वाला आतंकी फजलुल्लाह मारा गया: रिपोर्ट     ||   कानपुर जहरीली शराब मामले में 5अधिकारी निलंबित     ||   अब जल्द ही बिना नेटवर्क भी कर सकेंगे कॉल, बस Wi-Fi की होगी जरुरत     ||   मौलाना मदनी ने भी की एएमयू से जिन्‍ना की तस्‍वीर हटाने की वकालत     ||   भारत-चीन सेना के बीच हॉटलाइन की तैयारी, LoC पर तनाव होगा दूर     ||   कसौली में धारा 144 लागू, आरोपित पुलिस की गिरफ्त से बाहर     ||   स्कूली बच्चों पर पत्थरबाजी से भड़के उमर अब्दुल्ला, कहा- ये गुंडों जैसी हरकत     ||   थर्ड फ्रंट: ममता, कनिमोझी....और अब केसीआर की एसपी चीफ अखिलेश यादव के साथ बैठक     ||

BHU के UG  कोर्स में लड़कों के साथ अब लड़कियां भी ले पाएंगी दाखिला 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
BHU के UG  कोर्स में लड़कों के साथ अब लड़कियां भी ले पाएंगी दाखिला 

बनारस हिन्दू यूनिर्वसिटी (BHU) ने आर्टस और सोशल साइंस फैक्ल्टी के अंडरग्रेजुएट कोर्स में को-एजुकेशन की शुरुआत कर दी है। इसका मतलब है कि इन कोर्स में अब लड़कियां भी दाखिला ले  सकेंगी। रिपोर्ट के अनुसार, फैकल्टी ऑफ आर्ट्स के डीन पंकज कुमार ने बताया है कि दो फैकल्टी में को-एजुकेशन शुरू करने की योजना साल 2015 में ही तैयार की गई थी, लेकिन कुछ समस्याओं के चलते उसे लागू नहीं किया जा सका था। अब वर्ष 2017 में इसे योजना के तहत आर्टस और सोशल साइंस के अंडरग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट कोर्स में को-एजुकेशन व्यवस्था की शुरुआत की गई है।

वहीं  उन्होंने बताया कि वाइस चांसलर गिरीश त्रिपाठी के निर्देश के बाद यह व्यवस्था इस वर्ष में नए सेशन से लागू की गई है।  बता दें कि फैकल्टी ऑफ आर्टस बीएचयू के सबसे पुराने विभागों में से एक है। साल 1971 तक आर्टस और सोशल साइंस को एक फैकल्टी के तहत रखा गया था और यह एक ही सिंगल बॉडी की तरह काम करते थे। इसके कुछ समय बाद सोशल साइंस विभाग को अलग फैकल्टी के तौर पर बनाया गया। साल 1929 में महिला महाविद्यालय की स्थापना की गई थी। अंडर ग्रेजुएट कोर्स में लड़कियों को इसी महाविद्यालय में दाखिला मिलता था जबकि पोस्ट ग्रेजुएट कोर्स में वो को-एजुकेशन का हिस्सा होती थी, लेकिन अब यह व्यवस्था अंडरग्रेजुएट लेवल से ही शुरू कर दी गई है।


आपको बता दें कि बीएचयू की तीन संस्थाएं, 14 फैकल्टी, 140 विभाग, 4 इंटर-डिसिप्लिनरी सेंटर्स हैं। इसके अलावा महिलाओं के लिए एक कॉलेज और तीन स्कूल भी हैं। BHU में ह्यूमैनिटीज की सभी शाखाओं, सोशल साइंस, टेक्नोलॉजी, मेडिकल, साइंस, फाइन आर्ट्स और परफॉर्मिंग आर्ट्स की पढ़ाई होती है। 

Todays Beets: