Saturday, February 23, 2019

Breaking News

   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||   PAK सेना के ISPR के डीजी ने कहा- हम युद्ध की तैयारी नहीं कर रहे, भारत धमकी दे रहा है     ||   ICC को खत लिखेगी BCCI- आतंक समर्थक देश के साथ खत्म हो क्रिकेट संबंध     ||   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||

अब से एक ही दिन में होगी 10वीं और 12वीं की पीक्षाएं, CBSE ने किए बड़े बदलाव

अंग्वाल संवाददाता
अब से एक ही दिन में होगी 10वीं और 12वीं की पीक्षाएं, CBSE ने किए बड़े बदलाव

नई दिल्ली। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड यानी CBSE अब 10 वीं और 12वीं की परीक्षाओं को एक साथ आयोजित करने की योजना बना रहा है। सीबीएसई के अनुसार इन दोनों कक्षाओं की परीक्षाएं दो शिफ्ट में कराई जाएंगी। इससे एग्जाम पीरियड कम होंगे और टीचर्स को परीक्षा की कांपियां चैक करने के लिए भी अधिक समय मिल पाएगा। यह योजना बड़े शहरों के कुछ टॉप स्कूलों के प्रिंसिपलों ने मिलकर तय की है। पूरे देश में सीबीएसई की 18 हजार से ज्यादा संस्थाएं हैं, जो दोनों परीक्षाओं का आयोजन मार्च के महीने में करती हैं। वहीं दूसरी ओर कई राज्यों में विधानसभा चुनावों के कारण परीक्षाएं देरी से शुरू हुई थी। ये परीक्षाएं अलग-अलग टाइम टेबल होने के कारण करीब 45 दिनों तक चलती हैं।

आपको बता दें कि अब इस नई योजना के अनुसार 10वीं और 12वीं की परिक्षाएं 1 तारीख से शुरू की जाएंगी। जिसमें 12वीं की परीक्षाएं सुबह की शिफ्ट में और 10 वीं की परीक्षाएं दोपहर की शिफ्ट में आयोजित कराई जाएगी। इससे पहले सीबीएसई दोपहर में परीक्षाएं आयोजित नहीं किया करती थी।


सीबीएसई के अनुसार इस नई योजना के लागू होने से स्कूल शिक्षकों को कॉपियां चैक करने के लिए अधिक समय मिलेगा। इससे तय समय में मई महीने तक ही परिणामों को घोषित करने में आसानी होगी। इस बार करीब 10 लाख छात्राओं ने 12 वीं की परीक्षाएं दी थी।

Todays Beets: