Tuesday, September 25, 2018

Breaking News

   ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के पूर्व जीएम के ठिकानों पर आयकर के छापे     ||   बिहार: पूर्व मंत्री मदन मोहन झा बनाए गए प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष। सांसद अखिलेश सिंह बनाए गए अभियान समिति के अध्यक्ष। कौकब कादिरी समेत चार बनाए गए कार्यकारी अध्यक्ष।     ||   कर्नाटक के मंत्री शिवकुमार के खिलाफ ED ने मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया    ||   सीतापुर में श्रद्धालुओें से भरी बस खाई में पलटी 26 घायल, 5 की हालत गंभीर     ||   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||

जल्द ही स्कूलों में पढ़ाई जाएगी , ब्रज, भोजपुरी , अवधी और बुंदेलखंड़ी , एनसीईआरटी ने लिया फैसला

अंग्वाल न्यूज डेस्क
जल्द ही स्कूलों में पढ़ाई जाएगी , ब्रज, भोजपुरी , अवधी और बुंदेलखंड़ी , एनसीईआरटी ने लिया फैसला

नई दिल्ली । मनुष्य किसी भी भाषा के ज्ञान को अपनी बोली में ज्यादा अच्छे से समझ पाता है इसी बात को ध्यान में रखते हुए एनसीईआरटी ने सरकारी स्कूलों में बच्चों को हिंदी भाषा सिखाने के लिए नई योजना बनाई है।  एनसीईआरटी की तरफ से सरकारी स्कूलों की पहली और दूसरी कक्षा के बच्चों को हिंदी के "कलरव" को ब्रज, अवधी , भोजपुरी और बुंदेलखंड़ी जैसी  देशज भाषा में सिखाने का काम किया जाएगा।

यें भी पढ़ें- देश से फरार हीरा कारोबारी ‘नीरव’ को जल्द लाया जाएगा भारत, विशेष कोर्ट ने प्रत्यर्पण की अपील की मंजूर

 राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद (एससीईआरटी) ने हिंदी की किताबों का अनुवाद देशज भाषा में करवाना शुरू भी कर दिया है जिसमें से अवधी भाषा की किताबें डिजिटल और ऑडियो में छप भी गई हैं तो वहीं बुंदेलखंडी, भोजपुरी और ब्रज भाषा में अनुवाद का काम चल रहा है। बता दें कि अनुवाद की गई किताबें देश के उन राज्यों में जाएगी जहां इन भाषाओं का प्रयोग होता है। 


यें भी पढ़ें- गढ़वा में नक्सलियों का जगुआर फोर्स पर हमला, 6 जवान शहीद 5 घायल

एनसीईआरटी के संयुक्त निदेशक अजय कुमार सिंह ने कहा है कि अभी हम अनुवाद की गई पुस्तकों का प्रयोग पहली और दूसरी कक्षा के बच्चों पर कर रहे हैं । अगर इस प्रयोग का फायदा होता है तो तीसरी कक्षा के छात्रों की हिंदी की  पुस्तकों का भी अनुवाद और ऑडियो तैयार किया जाएगा।

Todays Beets: