Saturday, July 21, 2018

Breaking News

   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||   नीतीश का गठबंधन को जवाब कहा गठबंधन सिर्फ बिहार में है बाहर नहीं     ||   जापान में बारिश का कहर जारी 100 से ज्यादा लोगों की मौत     ||   PM मोदी के नोएडा दौरे से पहले लगा भारी जाम, पढ़ें पूरी ट्रैफिक एडवाइजरी     ||    नीतीश ने दिए संकेत: केवल बिहार में है भाजपा और जदयू का गठबंधन, राष्ट्रीय स्तर पर हम साथ नहीं    ||   निर्भया मामले में तीनों दोषियों को होगी फांसी, सुप्रीम कोर्ट ने याचिका ठुकराई    ||   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||

तमिल में नीट-2018 की परीक्षा देने वाले छात्रों को हाईकोर्ट ने दी बड़ी राहत, 196 ग्रेस मार्क्स देने के आदेश 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
तमिल में नीट-2018 की परीक्षा देने वाले छात्रों को हाईकोर्ट ने दी बड़ी राहत, 196 ग्रेस मार्क्स देने के आदेश 

नई दिल्ली। नीट-2018 की परीक्षा तमिल भाषा में देने वाले हजारों छात्रों को मद्रास हाईकोर्ट ने  बड़ी राहत दी है। कोर्ट ने परीक्षा आयोजित कराने वाले संस्था सीबीएसई को जोर का झटका देते हुए परीक्षा में शामिल हुए छात्रों को 196 ग्रेस मार्क्स देने का आदेश दिए है। इसके साथ ही 2 हफ्ते के अंदर नई रैंकिंग लिस्ट जारी करने के निर्देश दिए हैं। राज्यसभा सांसद टीके रंगराजन द्वारा दायर जनहित याचिका पर सुनवाई के बाद मद्रास हाईकोर्ट की मदुरै बेंच ने यह फैसला दिया है। 

गौरतलब है कि तमिल के प्रश्नपत्रों में करीब 49 प्रश्नों का गलत अनुवाद किया गया था। मद्रास हाईकोर्ट की मदुरै बैंच ने ने इस पर संज्ञान लेते हुए सीबीएसई को सख्त निर्देश देते हुए छात्रों को 196 ग्रेस मार्क्स देने का आदेश दिया है। यहां बता दें कि इस बार नीट की परीक्षा में करीब 24,500 छात्रों ने तमिल भाषा में परीक्षा दी थी। 


ये भी पढ़ें - इंडिगो की विमानों से यात्रा करने वालों की हो गई बल्ले-बल्ले, 12वीं एनिवर्सरी पर दे रहा यात्रि...

देश भर के सरकारी और निजी मेडिकल संस्थानों में एमबीबीएस व बीडीएस कोर्स में दाखिले के लिए नीट परीक्षा आयोजित की जाती है। सीबीएसई ने 6 मई, 2018 को यह परीक्षा आयोजित की थी। 4 जून को इसका रिजल्ट घोषित किया गया था। बता दें कि माकपा के राज्यसभा सांसद टी. के. रंगराजन ने हाईकोर्ट में याचिका दायर कर दावा किया था कि नीट प्रश्न पत्र में 49 सवालों का तमिल अनुवाद गलत किया गया है। इसके लिए उन्होंने इन प्रश्नों में स्टूडेंट्स को फुल मार्क्स देने की मांग की थी। 

Todays Beets: