Monday, December 10, 2018

Breaking News

   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||    दिल्ली: TDP नेता वाईएस चौधरी को HC से राहत, गिरफ्तारी पर रोक     ||    पूर्व क्रिकेटर अजहर तेलंगाना कांग्रेस समिति के कार्यकारी अध्यक्ष बनाए गए     ||   किसानों को कांग्रेस ने मजबूर और बीजेपी ने मजबूत बनाया: PM मोदी     ||

बच्चों के स्कूल बैग का बोझ होगा कम, एनसीईआरटी मार्च से शुरू करेगा यह काम

अंग्वाल न्यूज डेस्क
बच्चों के स्कूल बैग का बोझ होगा कम, एनसीईआरटी मार्च से शुरू करेगा यह काम

नई दिल्ली। स्कूल बैग का बोझ उठा-उठाकर परेशान बच्चों के लिए नेशनल काउंसिल आॅफ एजूकेशनल रिसर्च एंड ट्रेनिंग (एनसीईआरटी) जल्द ही बड़ी राहत देने जा रहा है। एनसीईआरटी की ओर से कहा गया है कि बच्चों की किताबों की मोटाई कम होना चाहिए साथ ही बच्चों के स्कूल बैग्स को हल्का करने पर भी विशेष ध्यान दिया जा रहा है। बताया जा रहा है कि एजूकेशन पाॅलिसी का ऐलान होने के बाद अगले महीने मार्च के आखिर तक सिलेबस में बदलाव और बुक्स की रिविजन का कार्य शुरू किया जाएगा।  

गौरतलब है कि एनसीईआरटी की करिकूलम कमेटी ने यह फैसला लिया है कि नए बदलाव के तहत बच्चों के वर्कलोड को कम किया जाए साथ ही छात्रों का रचनात्मक कार्यों के प्रति रुझान बढ़ाया जाए। यहां आपको बता दें कि फिलहाल स्कूल जाने वाले छोटे बच्चों को स्कूल बैग का बोझ उठाकर कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। एनसीईआरटी बच्चों को प्रैक्टिकल ज्ञान देने पर जार दे रहा है। एनसीईआरटी की तरफ से इसके लिए एक वर्कशॉप का भी आयोजन किया गया है। एनसीईआरटी के अध्यक्ष ने बताया कि हमारा उद्देश्य है कि किसी भी स्टूडेंट पर शारीरिक और मानसिक रुप से कोई भार न पड़े। 


ये भी पढ़ें - राहुल गांधी बोले- कहाँ हैं 'न खाऊँगा, न खाने दूँगा' कहने वाला देश का चौकीदार? चुप्पी चीख-चीख ...

Todays Beets: