Wednesday, November 21, 2018

Breaking News

   चौदह दिनों की न्यायिक हिरासत में बिहार की पूर्व मंत्री मंजू वर्मा, कोर्ट में किया था सरेंडर     ||   MP में चुनाव प्रचार के दौरान शख्स ने BJP कैंडिडेट को पहनाई जूतों की माला     ||   बेंगलुरु: गन्ना किसानों के साथ सीएम कुमारस्वामी की बैठक     ||   US में ट्रंप को कोर्ट से झटका, अवैध प्रवासियों को शरण देने से नहीं कर सकते इनकार    ||   एसबीआई ने क्लासिक कार्ड से पैसे निकालने के बदले नियम    ||   बाजार में मंगलवार को आई बहार, सेंसेक्स और निफ्टी में बढ़त     ||   हिंदूराव अस्पताल के ऑपरेशन थियेटर में निकला सांप , हंगामा     ||   सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना के आरोपों के बाद हो सकता है उनका लाइ डिटेक्टर टेस्ट    ||   देहरादून की मॉडल ने किया मुंबई में हंगामा , वाचमैन के साथ की हाथापाई , पुलिस आई तो उतार दिए कपड़े     ||   दंतेवाड़ा में नक्सली हमला, दो जवान शहीद , दुरदर्शन के कैमरामैन की भी मौत     ||

मेडिकल और इंजीनिरिंग की परीक्षा देने वाले छात्रों के लिए बड़ी खुशखबरी, अब साल में 2 बार आयोजित होंगी ‘नीट’ और ‘जेईई’ की परीक्षाएं

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मेडिकल और इंजीनिरिंग की परीक्षा देने वाले छात्रों के लिए बड़ी खुशखबरी, अब साल में 2 बार आयोजित होंगी ‘नीट’ और ‘जेईई’ की परीक्षाएं

नई दिल्ली। मेडिकल और इंजीनियरिंग की प्रतियोगिता परीक्षा देने वाले छात्रों को मानव संसाधन विकास मंत्रालय की ओर से जल्द ही बड़ा तोहफा दिया जाएगा। मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने घोषणा की है कि अगले साल से मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट और इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई मेन साल में 2 बार  आयोजित की जाएगी। उन्होंने कहा कि नीट की परीक्षा हर साल फरवरी और मई के महीने में आयोजित की जाएगी वहीं जेईई (मेन्स) की परीक्षा हर साल जनवरी और अप्रैल में कराई जाएगी। मंत्रालय ने कहा कि नेट की परीक्षा दिसंबर में आयोजित की जाएगी। 

ये भी पढ़ें - इंजीनियरिंग और मेडिकल की तैयारी कराने वाले कोचिंग सेंटर अब नहीं वसूल पाएंगे मनमानी फीस, परीक्...


गौरतलब है कि पत्रकारों से बात करते हुए मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि अब नीट, जेईई, नेट परीक्षाओं का आयोजन नेशनल टेस्टिंग एजेंसी करेगी। बता दें कि अब तक इन परीक्षाओं के आयोजन की जिम्मेदारी सीबीएसई पर थी। प्रकाश जावड़ेकर ने जेईई और नीट में प्रवेश देने के लिए दोनों मौकों में से छात्रों द्वारा हासिल किए गए सर्वाधिक प्राप्तांक पर विचार किया जाएगा। यहां बता दें कि सिलेबस और बाकी की औपचारिकताओं में कोई बदलाव नहीं किया गया है।  

Todays Beets: