Saturday, May 25, 2019

Breaking News

   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||

अगले सत्र से सभी चिकित्सा कोर्स में दाखिले के लिए नीट पास करना होगा जरूरी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
अगले सत्र से सभी चिकित्सा कोर्स में दाखिले के लिए नीट पास करना होगा जरूरी

नई दिल्ली। अब आयुर्वेद, होम्योपैथिक और यूनानी शिक्षा हासिल करने के लिए नीट अनिवार्य होगा। आयुष विभाग के सचिव राजेश कटोच ने साफ कह दिया है कि अगले सत्र से सभी तरह के चिकित्सा कोर्स के लिए नीट अनिवार्य होगा। यहां बता दें कि एमबीबीएस के लिए नीट पहले से ही अनिवार्य है। छात्रों को कम से कम 50 फीसदी अंकों के साथ नीट परीक्षा पास करनी होगी।

मानकों में सुधार करना जरूरी

आपको बता दें कि कटोच ने बताया कि आयुष चिकित्सा की गुणवत्ता में सुधार लाने के मकसद से ऐसा किया जा रहा है। आयुष के तहत देश में उपरोक्त चिकित्सा पैथियों के करीब 750 मेडिकल काॅलेज हैं। वहीं करीब 150 काॅलेज अभी लंबित हैं। बता दें कि आयुर्वेद, होम्योपैथ और यूनानी की करीब 36 हजार सीटें हैं जिसके प्रवेश के लिए कोई कॉमन प्रवेश परीक्षा नहीं होती है। एमबीबीएस की तरह जब इन सभी चिकित्सा कोर्स साढ़े चार साल में पूरे होते हैं तो एमबीबीएस की तरह नीट इसमें क्यों नहीं लागू होना चाहिए। 


ये भी पढ़ें - सिविल सेवा की परीक्षा में शामिल होने वाले नौजवान टेंशन न लें, नहीं घटेगी अधिकतम उम्र सीमा 

मुद्दों का होगा समाधान

यहां बता दें कि अगले सत्र से सभ्सी चिकित्सा कोर्स में प्रवेश के लिए नीट को अनिवार्य कर दिया है। कटोच ने कहा कि फिलहाल इसमें कुछ मुद्दे हैं जिसका जल्द ही समाधान करने पर विचार किया जा रहा है। अब मंत्रालय स्वेच्छा से अपनी तरफ से ये नियम लागू कर रहा है। आयुष में पीजी कोर्स में प्रवेश नीट के जरिए हो रहे हैं। यहां यह व्यवस्था पिछले साल से ही लागू कर दी गई है।   

Todays Beets: