Saturday, March 23, 2019

Breaking News

    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||   PAK सेना के ISPR के डीजी ने कहा- हम युद्ध की तैयारी नहीं कर रहे, भारत धमकी दे रहा है     ||   ICC को खत लिखेगी BCCI- आतंक समर्थक देश के साथ खत्म हो क्रिकेट संबंध     ||

अब साल में 2 बार नहीं एक बार ही होगा ‘नीट’, आॅनलाइन नहीं आॅफलाइन होगी परीक्षा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
अब साल में 2 बार नहीं एक बार ही होगा ‘नीट’, आॅनलाइन नहीं आॅफलाइन होगी परीक्षा

नई दिल्ली। नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (एनईईटी) अब साल में 2 बार की जगह 1 बार ही होगी। सरकार ने मंगलवार देर शाम इसका फैसला लिया है। केंद्रीय मानव संसाधन मंत्रालय ने कहा कि अब साल में एक बार ही इस परीक्षा का आयोजन किया जाएगा और यह परीक्षा ऑनलाइन की जगह पेन एंड पेपर मोड (ऑफलाइन) में ही आयोजित की जाएगी। बता दें कि जेईई की प्रक्रिया में कोई बदलाव नहीं किया गया है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा लिखे गए पत्र के बाद मंत्रालय ने इसमें बदलाव किया गया है।

गौरतलब है कि सरकार की ओर से एनईईटी 2019 में होने वाली परीक्षाओं की तारीखों का ऐलान भी कर दिया गया है। केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि विचार करने के बाद यह फैसला लिया गया है कि परीक्षा एक ही बार कराई जाएगी। सरकार ने एनईईटी की परीक्षा आॅनलाइन कराने का फैसला भी वापस ले लिया है अब यह परीक्षा आॅफलाइन कराई जाएगी। 

ये भी पढ़ें - बकरीद के मौके पर भी बाज नहीं आ रहे पत्थरबाज, अनंतनाग में सुरक्षाबलों को बनाया निशाना, 10 लोग घायल 


यहां बता दें कि एनईईटी 2019 के लिए रजिस्ट्रेशन इस साल 1 नवंबर से शुरू होगा। परीक्षा अगले साल 5 मई को आयोजित की जाएगी। इंजीनियरिंग के लिए होने वाला ज्वाइंट एंट्रेंस एग्जाम (जेईई) में किसी प्रकार का कोई बदलाव नहीं किया गया है। यह परीक्षा साल में 2 बार ही आयोजित की जाएगी। 

 

गौर करने वाली बात है कि एनईईटी  की परीक्षा 2 बार कराने के फैसले को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय ने मानव संसाधन मंत्रालय को पत्र लिखकर कहा था कि ऐसा होने से छात्रों पर दवाब बढ़ सकता है। इसके साथ ही आॅनलाइन परीक्षा के आयोजन से ग्रामीण इलाकों के छात्रों के प्रभावित  होने की भी बातें कहीं गई थी। स्वास्थ्य मंत्रालय की चिट्ठी पर गौर करने के बाद अब एनईईटी की परीक्षा साल में 1 बार ही कराने का निर्णय लिया गया है।  

Todays Beets: