Tuesday, December 11, 2018

Breaking News

   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||    दिल्ली: TDP नेता वाईएस चौधरी को HC से राहत, गिरफ्तारी पर रोक     ||    पूर्व क्रिकेटर अजहर तेलंगाना कांग्रेस समिति के कार्यकारी अध्यक्ष बनाए गए     ||   किसानों को कांग्रेस ने मजबूर और बीजेपी ने मजबूत बनाया: PM मोदी     ||

यूजीसी ने छात्रों को दी बड़ी राहत, अब ऑनलाइन प्रोग्राम के जरिए भी पा सकेंगे डिग्री   

अंग्वाल न्यूज डेस्क
यूजीसी ने छात्रों को दी बड़ी राहत, अब ऑनलाइन प्रोग्राम के जरिए भी पा सकेंगे डिग्री   

नई दिल्ली । यूजीसी ने विश्वविद्यालयों में जुलाई सें शुरु होने वाले सत्र में ऑनलाइन डिग्री प्रोग्राम के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। इसके साथ यूजीसी काउंसिल ने एससी और एसटी छात्रों को उच्च शिक्षा में 5 प्रतिशत अंको की भी छूट देने की योजना बनाई है।

यें भी पढ़ें-उत्तराखंड बोर्ड कल जारी करेगा 10वीं और 12वीं का रिजल्ट, परीक्षा परिणाम के लिए यहां कर सकेंगे क्लिक

भारत में पहली बार ऐसा हुआ है कि विश्वविद्यालयों में ऑनलाइन प्रोग्राम के जरिये छात्रों को डिग्री दी जाएगी। यहां आपको बता दें कि यह फैसला यूजीसी ने शिक्षा व्यवस्था में सुधार के मद्देनजर लिया है। छात्रों को ज्यादा सुविधा देने के लिए ऑनलाइन डिग्री प्रोग्राम की शुरुआत की है।

यें भी पढ़ें-स्मार्टफोन Xiaomi Mi 8 की जानकारी हुई लीक, अब 31 मई को होगा लॉन्च


बता दें कि दाखिले के लिए छात्रों के 50 फीसदी अंक होने जरूरी हैं।  साथ ही छात्रों के पास आधार कार्ड और पासपोर्ट होना भी जरूरी है। यूजीसी ने सभी विश्वविद्यालयों को कहा है कि जिन शिक्षण संस्थानों का नैक एक्रीडिटेशन स्कोर 3.26 से 4 के बीच है वे संस्थान ऑनलाइन डिग्री प्रोग्राम के लिए आवेदन कर सकते हैं।

यें भी पढ़ें-उत्तराखंड के सरकारी स्कूलों को गर्मी से मिलेगी राहत, घरेलू दरों पर होगी  बिजली बिल की वसूली 

इसके अलावा एनआईआरएफ के तहत आने वाले शीर्ष 100 ओवरऑल कैटेगरी वाले शिक्षा संस्थान भी आवेदन कर सकते हैं। उच्च शिक्षण संस्थान में ऑनलाइन प्रोग्राम के जरिए यूजी,पीजी डिग्री, सर्टिफिकेट, डिप्लोमा की पढ़ाई कर सकते है।

यूजीसी ने कहा की  ऑनलाइन डिग्री प्रोग्राम में अगर कोई नियम का पालन नहीं करेगा, तो उस की शिकायत पुलिस से की जाएगी। दिल्ली विश्वविधायल के कॉलेजों को ऑनलाइन डिग्री प्रोग्राम शुरू करने की स्वायत्तता देने से पहले कानून की सलाह ली जाएगी । यूजीसी यह देखेगी की क्या डीयू एक्ट के तहत कॉलेजों को स्वायत्तता दी जा सकती है।

Todays Beets: