Tuesday, January 22, 2019

Breaking News

   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||

सुप्रीम कोर्ट ने कहा-संयुक्त स्नातक और उच्चतर माध्यमिक स्तर परीक्षा 2017 में हुई गड़बड़ी, परिणाम घोषित करने पर लगाई रोक

अंग्वाल न्यूज डेस्क
सुप्रीम कोर्ट ने कहा-संयुक्त स्नातक और उच्चतर माध्यमिक स्तर परीक्षा 2017 में हुई गड़बड़ी, परिणाम घोषित करने पर लगाई रोक

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को एसएससी की संयुक्त स्नातक परीक्षा 2017 और एसएससी संयुक्त उच्चतर माध्यमिक स्तर परीक्षा, 2017 के रिजल्ट घोषित करने पर रोक लगा दी है। बताया जा रहा है कि कोर्ट ने अपनी टिप्पणी में कहा कि पहली नजर में ही इस परीक्षा में गड़बड़ी दिखाई दे रही है। यहां बता दें कि एसएससी की परीक्षा में अनियमितता को लेकर कुछ दिनों पहले बड़ी संख्या में छात्रों ने सड़क पर उतर कर परीक्षा रद्द करने की मांग के साथ सीबीआई से इसकी जांच कराने की मांग की थी। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि इस परीक्षा की वजह से जिन छात्रों को फायदा पहुंचा है उन्हें सेवा में शामिल भी नहीं किया जा सकता है। 

गौरतलब है कि इसी साल फरवरी में आयोजित हुए एसएससी की संयुक्त स्नातक परीक्षा 2017 और एसएससी संयुक्त उच्चतर माध्यमिक स्तर परीक्षा, 2017 में बड़े पैमाने पर गड़बड़ी की शिकायत मिली थी। प्रश्न पत्र के लीक होने के साथ ही छात्रों के द्वारा सामूहिक नकल का दावा किया गया था। इसके बाद बड़ी संख्या में छात्र सड़कों पर उतर गए थे और परीक्षा को रद्द करने की मांग की थी।


ये भी पढ़ें - जेईई और नीट परीक्षा की तैयारी में आर्थिक कमजोरी नहीं बनेगी बाधा, सरकार कराएगी मुफ्त कोचिंग

यहां बता दें कि प्रश्नपत्र लीक करने और छात्रों को नकल कराने के आरोप में सिफी टेक्नोलाॅजीज प्राईवेट लिमिटेड कंपनी का नाम सामने आया था। सीबीआई ने  इस कंपनी के 10 कर्मचारियों समेत 17 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था इनमें वे 7 छात्र भी शामिल हैं जो परीक्षा दे रहे थे। 

Todays Beets: