Tuesday, December 11, 2018

Breaking News

   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||    दिल्ली: TDP नेता वाईएस चौधरी को HC से राहत, गिरफ्तारी पर रोक     ||    पूर्व क्रिकेटर अजहर तेलंगाना कांग्रेस समिति के कार्यकारी अध्यक्ष बनाए गए     ||   किसानों को कांग्रेस ने मजबूर और बीजेपी ने मजबूत बनाया: PM मोदी     ||

आईटीआई कोर्स की तैयारी करने वाले छात्रों को केन्द्र सरकार का बड़ा तोहफा, अब नहीं होगी निगेटिव मार्किंग

अंग्वाल न्यूज डेस्क
आईटीआई कोर्स की तैयारी करने वाले छात्रों को केन्द्र सरकार का बड़ा तोहफा, अब नहीं होगी निगेटिव मार्किंग

नई दिल्ली। प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी करने वाले छात्रों को केंद्र सरकार की तरफ से बड़ी राहत दी गई है। सरकार ने आईटीआई की प्रतियोगिता परीक्षा में अब निगेटिव मार्किंग को खत्म कर दिया है। केंद्र सरकार की डायरेक्टर जनरल एंप्लायमेंट एंड ट्रेनिंग की ओर से जारी की गई गाइडलाइन के अनुसार अब आईटीआई की परीक्षा में नेगेटिव मार्किंग नहीं होगी। यहां बता दें कि अभी तक इस परीक्षा में गलत जवाब देने पर 25 फीसदी नंबरों में कटौती हो जाती थी। 

छात्रों को होगा फायदा

गौरतलब है कि केन्द्र सरकार की ओर से नई नियमावली हल्द्वानी निदेशालय को जारी कर दिया गया है। इस नई नियमावली के जारी होने से आईटीआई की अलग-अलग ब्राचों के लिए तैयारी करने वाले छात्रों को काफी फायदा होगा।  आईटीआई निदेशालय हल्द्वानी के डिप्टी डायरेक्टर पंकज कुमार ने बताया कि केंद्र सरकार की डीजीईटी के तहत नए निर्देश पहुंच गए हैं। उन्होंने बताया कि सभी आईटीआई के परीक्षा सेंटर के प्रभारियों को प्रचार करने को निर्देश जारी कर दिए है। 

ये भी पढ़ें - आईआईएचएम खोलेगी देश की पहली टूरिज्म यूनिवर्सिटी, बड़ी संख्या में युवाओं को मिलेगा रोजगार


सभी सवाल आॅब्जेक्टिव

यहां बता दें कि आईटीआई की परीक्षा अखिल भारतीय स्तर पर होती है और बड़ी बात यह है कि इसमें दीर्घउत्तरीय प्रश्न नहीं पूछे जाते हैं। सभी प्रश्न वस्तुनिष्ठ होते हैं और इसके लिए छात्रों को ओएमआर शीट दी जाती है। हर गलत उत्तर देने पर प्रश्नों के अंक के 25 फीसदी नंबर कट जाते हैं ऐसे में छात्रों के लिए परेशानी बढ़ जाती है। अब केन्द्र सरकार ने ऐसे छात्रों को बड़ी राहत देते हुए यह निर्णय लिया है। 

 

 

Todays Beets: