Tuesday, October 16, 2018

Breaking News

   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||   केरलः अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद ने सबरीमाला फैसले के खिलाफ HC में लगाई याचिका    ||   कोलकाताः HC ने दुर्गा पूजा आयोजकों को ममता के 28 करोड़ देने के फैसले पर रोक लगाई    ||    रूस के साथ S-400 एयर डिफेंस मिसाइल पर भारत की डील    ||   नार्वेः राजधानी ओस्लो में आज होगा शांति के नोबेल पुरस्कार का ऐलान    ||   अंकित सक्सेना मर्डर केसः ट्रायल के लिए अभियोगपक्ष के 2 वकीलों की नियुक्ति    ||   जम्मू कश्मीर में नेशनल कॉफ्रेंस के दो कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या, मरने वालों में एक MLA का पीए भी     ||   सुप्रीम कोर्ट ने कठुआ मामले में सीबीआई जांच की अर्जी को खारिज किया    ||   मध्यप्रदेश सरकार ने पांच नए सूचना आयुक्त चुने, राज्यपाल को भेजी सिफारिश     ||   बिहार: ASI संग शराब बेच रहा था थानेदार, अरेस्ट     ||

उत्तरप्रदेश में शिक्षा को बेहतर बनाने की कवायद तेज, 14 हजार से ज्यादा शिक्षकों की होगी भर्ती

अंग्वाल न्यूज डेस्क
उत्तरप्रदेश में शिक्षा को बेहतर बनाने की कवायद तेज, 14 हजार से ज्यादा शिक्षकों की होगी भर्ती

लखनऊ। उत्तरप्रदेश सरकार जल्द ही नौजवानों को नौकरी के बड़े मौके देने जा रही है। प्रदेश में करीब 14 हजार से ज्यादा पदों पर शिक्षकों की भर्ती होने वाली है। इसकी जानकारी खुद उपमुख्यमंत्री डाॅक्टर दिनेश शर्मा ने दी है। उन्होंने बताया कि सरकार से सहायता प्राप्त माध्यमिक स्कूलों में करीब 11000 से ज्यादा पदों पर सहायक शिक्षकों की भर्ती होगी और 2100 प्रवक्ता के पदों पर भर्ती की जाएगी। 

गौरतलब है कि ये सभी भर्तियां माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन आयोग के द्वारा की जाएंगी। उपमुख्यमंत्री ने बताया कि आयोग का भी जल्द ही पुनर्गठन किया जाएगा।  आयोग के पुनर्गठन के बाद शिक्षकों की भर्ती की प्रक्रिया जल्द ही शुरू कर दी जाएगी।

ये भी पढ़ें -  सुप्रीम कोर्ट ने कहा-संयुक्त स्नातक और उच्चतर माध्यमिक स्तर परीक्षा 2017 में हुई गड़बड़ी, परिणा...


यहां बता दें कि आयोग के माध्यम से प्रवक्ता के 1344 और सहायक अध्यापक के 7950 पदों पर भर्ती की जा रही है।  इसके अलावा लोकसेवा आयोग के माध्यम से राजकीय इंटर कॉलेजों के लिए 14,562 शिक्षकों पदों पर भर्ती की जा रही है। इनमें 3794 पद प्रवक्ता के हैं और 10,768 पद सहायक अध्यापक के हैं। इन पदों के लिए लिखित परीक्षा हो चुकी है और बस अब उनके परिणाम आना बाकी है। परिणाम आते ही इन सभी को नियुक्ति पत्र प्रदान कर दिया जाएगा और जल्द ही ये बच्चों को ज्ञान देना शुरू कर देंगे। गौर करने वाली बात है कि उपमुख्यमंत्री डाॅक्टर दिनेश शर्मा ने कहा कि शिक्षा सेवा चयन आयोग के गठन के बाद प्रदेश के स्कूलों में शिक्षकों की कमी दूर हो जाएगी।

 

Todays Beets: