Monday, December 10, 2018

Breaking News

   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||    दिल्ली: TDP नेता वाईएस चौधरी को HC से राहत, गिरफ्तारी पर रोक     ||    पूर्व क्रिकेटर अजहर तेलंगाना कांग्रेस समिति के कार्यकारी अध्यक्ष बनाए गए     ||   किसानों को कांग्रेस ने मजबूर और बीजेपी ने मजबूत बनाया: PM मोदी     ||

यूपीएससी ने छात्रों को दी बड़ी राहत, अब नाम वापस ले सकेंगे अभ्यर्थी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
यूपीएससी ने छात्रों को दी बड़ी राहत, अब नाम वापस ले सकेंगे अभ्यर्थी

नई दिल्ली।  सिविल सेवा परीक्षा में सफल होना बहुत से युवाओं का सपना होता है और इसके लिए बड़ी संख्या में आवेदन भी किए जाते हैं। संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) की ओर से किए गए एक सर्वे में इस बात का पता चला है कि आवेदन करने वालों में से मात्र 50 फीसदी छात्र ही परीक्षा में बैठते हैं। ऐसे में अब यूपीएससी की ओर से छात्रों को नाम वापस लेने की सुविधा दी जा रही है। यूपीएससी की ओर से कहा गया है कि यह व्यवस्था इंजीनियरिंग सेवा परीक्षा, 2019 से शुरू होगी।

गौरतलब है कि एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए संघ लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष अरविंद सक्सेना ने कहा कि आयोग ने इस बात का अनुभव किया है कि प्रारंभिक परीक्षा के लिए आवेदन करने वाले लाखों उम्मीदवारों में से मात्र 50 फीसदी युवा ही परीक्षा में शामिल होते हैं। ऐसे में आयोग के द्वारा किए गए इंतजाम बेकार हो जाते हैं। आवेदन करने के बाद अगर परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल नहीं होना चहते हैं तो वे अपना नाम वापस ले सकते हैं। 

ये भी पढ़ें - आॅनलाइन गेम्स को लेकर सीबीएसई सतर्क, स्कूलों के लिए जारी की एडवाइजरी


यहां बता दें कि यूपीएससी की ओर से हर साल तीन चरणों में प्रारंभिक, मुख्य और साक्षात्कार - में सिविल सेवा परीक्षा का आयोजन किया जाता है। इसके जरिए भारतीय प्रशासनिक सेवा(आईएएस), भारतीय विदेश सेवा (आईएफएस) और भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) समेत दूसरी अखिल भारतीय सेवाओं के लिये अधिकारियों का चयन किया जाता है। परीक्षा से नाम वापस लेने वाले अभ्यर्थियों को अपने आवदेन का विवरण देना होगा। 

          

Todays Beets: