Monday, October 23, 2017

Breaking News

   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||   जम्मू कश्मीर के नौगाम में लश्कर कमांडर अबू इस्माइल के साथ मुठभेड़,     ||   राम रहीम मामले पर गौतम का गंभीर प्रहार, कहा- धार्मिक मार्केटिंग का यह एक क्लासिक उदाहरण    ||   ट्राई ने ओवरचार्जिंग के लिए आइडिया पर लगाया 2.9 करोड़ का जुर्माना    ||   मदरसों का 15 अगस्त को ही वीडियोग्राफी क्यों? याचिका दायर, सुनवाई अगले सप्ताह    ||

अध्यापक बनने के लिए अब ग्रेजुएशन में 50 फीसदी अंक लाना नहीं होगा अनिवार्य

अंग्वाल संवाददाता
अध्यापक बनने के लिए अब ग्रेजुएशन में 50 फीसदी अंक लाना नहीं होगा अनिवार्य

नई दिल्ली। स्कूलों में शिक्षक बनने के लिए अब बीएड के अलावा ग्रेजुएशन में 50 फीसदी अंक लाने की आनिवार्यता नहीं होगी। सुप्रीम कोर्ट ने राष्ट्रीय प्रशिक्षण परिषद (एनसीटीई) से कहा है कि वह एक माह के भीतर यह अधिसूचना जारी करे, जिसमें बीएड कोर्स के लिए ग्रेजुएशन में 50 फीसदी अंक लाने की अनिवार्यता को समाप्त किया जाए। कोर्ट ने यह फैसला यूपी के उन सभी शिक्षामित्रों को ध्यान में रखकर किया है जिन्हें अंक कम होने के कारण नौकरी से हटा दिया गया है। भले ही कोर्ट ने यह फैसला यूपी मामले के सदंर्भ में लिया है लेकिन इसका फायद पूरे देश के युवाओं को मिलेगा। प्रशासन एक महीने के अंदर उनके मामलों पर कानून के अनुसार निर्णय लेगा। न्यायपीठ आर्दश गोयल और यूयू ललित ने उत्तर प्रदेश सरकार समेत केंद्र सरकार को भी यह आदेश दिया है।

यह भी पढ़े- अब जामिया हमदर्द यूनिवर्सिटी इंश्योरेंस विषय में भी करवाएगी MBA कोर्स


बता दें कि इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ याचिका दायर की गई थी। फैसले में इलाहाबाद हाईकोर्ट ने एनसीटीई की 29 मई 2011 की अधिसूचना को दी गई चुनौती को खारिज कर दिया था। एनसीटीई ने यह अधिसूचना आरटीई एक्ट 2009 की धारा के तहत जारी किया थी। अधिसूचना में स्कूल में अध्यापक बनने के लिए अन्य योग्यताओं के अलावा ग्रेजुएशन में 50 फीसदी अंक होना अनिवार्य कर दिया गया था। यूपी सरकार ने इस सूचना को आधार बनाते हुए ग्रेजुएशन में 50 फीसदी अंक न लेने वालों शिक्षकों को नौकरी से हटा दिया था।   

यह भी पढ़े- डीयू ने सभी कॉलेजों को आवेदकों की फीस लौटाने का दिया आदेश, पढ़े क्या है पूरा मामला...,

Todays Beets: