Saturday, September 23, 2017

Breaking News

   जम्मू कश्मीर के नौगाम में लश्कर कमांडर अबू इस्माइल के साथ मुठभेड़,     ||   राम रहीम मामले पर गौतम का गंभीर प्रहार, कहा- धार्मिक मार्केटिंग का यह एक क्लासिक उदाहरण    ||   ट्राई ने ओवरचार्जिंग के लिए आइडिया पर लगाया 2.9 करोड़ का जुर्माना    ||   मदरसों का 15 अगस्त को ही वीडियोग्राफी क्यों? याचिका दायर, सुनवाई अगले सप्ताह    ||   पंचकूला से लंदन तक दिखा राम-रहीम विवाद का असर, ब्रिटेन ने जारी की एडवाइजरी    ||   PAK कोर्ट ने हिंदू लड़की को मुस्लिम पति के साथ रहने की मंजूरी दी    ||   बिहार आए पीएम मोदी, बाढ़ से हुई तबाही की गहन समीक्षा की    ||   जेल में ही वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए राम रहीम को सुनाई जाएगी सजा    ||   मच्छल में घुसपैठ नाकाम, पांच आतंकी ढेर, भारी मात्रा में गोलाबारूद बरामद    ||   जापान के बाद अब अमेरिका के साथ युद्धाभ्यास की तैयारी में भारत    ||

HRD का केंद्रीय विश्वविद्यालयों को नोटिस, पूर्व शिक्षकों को किया जाए नियुक्त 

अंग्वाल संवाददाता
HRD का केंद्रीय विश्वविद्यालयों को नोटिस, पूर्व शिक्षकों को किया जाए नियुक्त 

नई दिल्ली। केंद्रीय विश्वविद्यालयों में शिक्षकों की कमी को पूरा करने के लिए सेवानिवृत्त शिक्षकों को तैनात किया जाएगा। हालांकि विश्वविद्यालयों को कहा गया है कि वे रेगुलर भर्ती प्रक्रिया में तेजी लाएं, लेकिन साथ ही आदेश में कहा गया है कि केवल उन्हीं सेवानिवृत शिक्षकों को तैनात किया जाए जो शारीरिक रूप से स्वस्थ हों। मानव संसाधन विकास मंत्रालय की रिपोर्ट के अनुसार, गत बुधवार को इस संदर्भ में विश्वविद्यालयों को निर्देश जारी किए गए हैं। दरअसल, केंद्रीय विश्वविद्यालयों में शिक्षकों के करीब 40 फीसदी पद खाली हैं, जिन पर लंबे समय से नियुक्तियां नहीं हुई हैं। 

यह भी पढ़े- विश्व के सबसे बेहतर शीर्ष 250 विश्वविद्यालयों में भारत से एक भी नहीं


मंत्रालय की तरफ से कहा गया है कि विश्वविद्यालय तत्काल शिक्षकों की कमी को पूरा करने के लिए पूर्व सेवीनिवृत शिक्षकों को खाली पदों पर तैनात करें। साथ ही उनके मेडिकल टेस्ट के आधार पर केवल कांट्रेक्ट पर ही भर्ती दें। नियुक्ति एक-एक साल के लिए होगी और हर साल स्वास्थय ठीक होने पर ही इसे विस्तारित किया जाएगा। मंत्रालय ने पहले ही आईआईटी और आईआईएम जैसे शीर्ष संस्थानों को 70 साल की उम्र तक शिक्षकों की सेवाएं लेने की अनुमति दे रखी है। शिक्षकों की सेवानिवृत्ति की आयु आईआईटी और केंद्रीय विश्वविद्यालयों में 65 साल है, लेकिन अब आईआईटी के फार्मूले को केंद्रीय विश्वविद्यालयों के शिक्षकों को भी 70 साल की उम्र तक पढ़ाने की अनुमति दी जाएं, लेकिन शर्त है कि उनकी सेहत सही रहे। 

Todays Beets: