Saturday, November 17, 2018

Breaking News

   एसबीआई ने क्लासिक कार्ड से पैसे निकालने के बदले नियम    ||   बाजार में मंगलवार को आई बहार, सेंसेक्स और निफ्टी में बढ़त     ||   हिंदूराव अस्पताल के ऑपरेशन थियेटर में निकला सांप , हंगामा     ||   सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना के आरोपों के बाद हो सकता है उनका लाइ डिटेक्टर टेस्ट    ||   देहरादून की मॉडल ने किया मुंबई में हंगामा , वाचमैन के साथ की हाथापाई , पुलिस आई तो उतार दिए कपड़े     ||   दंतेवाड़ा में नक्सली हमला, दो जवान शहीद , दुरदर्शन के कैमरामैन की भी मौत     ||   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||

अब से एक ही दिन में होगी 10वीं और 12वीं की पीक्षाएं, CBSE ने किए बड़े बदलाव

अंग्वाल संवाददाता
अब से एक ही दिन में होगी 10वीं और 12वीं की पीक्षाएं, CBSE ने किए बड़े बदलाव

नई दिल्ली। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड यानी CBSE अब 10 वीं और 12वीं की परीक्षाओं को एक साथ आयोजित करने की योजना बना रहा है। सीबीएसई के अनुसार इन दोनों कक्षाओं की परीक्षाएं दो शिफ्ट में कराई जाएंगी। इससे एग्जाम पीरियड कम होंगे और टीचर्स को परीक्षा की कांपियां चैक करने के लिए भी अधिक समय मिल पाएगा। यह योजना बड़े शहरों के कुछ टॉप स्कूलों के प्रिंसिपलों ने मिलकर तय की है। पूरे देश में सीबीएसई की 18 हजार से ज्यादा संस्थाएं हैं, जो दोनों परीक्षाओं का आयोजन मार्च के महीने में करती हैं। वहीं दूसरी ओर कई राज्यों में विधानसभा चुनावों के कारण परीक्षाएं देरी से शुरू हुई थी। ये परीक्षाएं अलग-अलग टाइम टेबल होने के कारण करीब 45 दिनों तक चलती हैं।

आपको बता दें कि अब इस नई योजना के अनुसार 10वीं और 12वीं की परिक्षाएं 1 तारीख से शुरू की जाएंगी। जिसमें 12वीं की परीक्षाएं सुबह की शिफ्ट में और 10 वीं की परीक्षाएं दोपहर की शिफ्ट में आयोजित कराई जाएगी। इससे पहले सीबीएसई दोपहर में परीक्षाएं आयोजित नहीं किया करती थी।


सीबीएसई के अनुसार इस नई योजना के लागू होने से स्कूल शिक्षकों को कॉपियां चैक करने के लिए अधिक समय मिलेगा। इससे तय समय में मई महीने तक ही परिणामों को घोषित करने में आसानी होगी। इस बार करीब 10 लाख छात्राओं ने 12 वीं की परीक्षाएं दी थी।

Todays Beets: