Monday, December 18, 2017

Breaking News

   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद     ||   अश्विन ने लगाया विकेटों का सबसे तेज 'तिहरा शतक', लिली को छोड़ा पीछे     ||   पूरा हुआ सपना चौधरी का 'सपना', बेघर होने के साथ बॉलीवुड से मिला बड़ा ऑफर    ||   PAK सरकार ने शर्तें मानीं, प्रदर्शन खत्म करने कानून मंत्री को देना पड़ा इस्तीफा    ||   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||

दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले के बाद अब कल आएगा सीबीएसई की 12वीं का रिजल्ट

अंग्वाल न्यूज डेस्क
दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले के बाद अब कल आएगा सीबीएसई की 12वीं का रिजल्ट

नई दिल्ली । दिल्ली हाईकोर्ट के आदेशों के चलते सीबीएसई के 12वीं के नतीजे अब बुधवार को नहीं बल्कि गुरुवार को जारी होगा। दिल्ली हाईकोर्ट के आदेश के बाद यह एक दिन के लिए टाल दिया गया है। बता दें कि कोर्ट ने कोर्ट ने सीबीएसई को मुश्किल प्रश्नों के लिए ग्रेस मार्क्स देने संबंधी अपनी पॉलिसी को 2016-17 के सत्र में जारी रखने का अंतरिम आदेश जारी किया है।

ये भी पढ़ें- एनसीईआरटी की किताबों में अब नहीं पढ़ाया जाएगा गुजरात दंगों को मुस्लिम विरोधी

कोर्ट ने सीबीएसई द्वारा मॉडरेशन पालिसी वापस लेने संबधी फैसले खिलाफ दायर याचिका पर सुनवाई की थी। कोर्ट ने अपना फैसला सुनाते हुए कहा कि खेल शुरू होने के बाद खेल के नियम नहीं बदले जा सकते । इसी प्रकार जिन बच्चों ने आधी-आधी रात जागकर पढ़ाई की और परीक्षा की तैयारी की, उन्हें पता होना चाहिए कि सीबीएसई किस सिस्टम के तहत कैसे काम कर रहा है। 

ये भी पढ़ें- सीबीएसई ने बदला परीक्षा का प्रारूप, अगले साल से 10वीं में लिखित पेपर होगा 80 नंबर का

कोर्ट ने अपने फैसले में कहा कि बोर्ड इस साल मॉडरेशन पालिसी वापस नहीं ले सकता। ऐसा करके आप बच्चों के साथ खिलवाड़ भी नहीं कर सकते। पॉलिसी में बदलाव करने के चलते अगर कोई छात्र विदेशी यूनिवर्सिटी में दाखिला लेने से चूक गया तो उसके लिए यह सब किसी तबाही से कम नहीं होगा। कोर्ट ने कहा कि जिन बच्चों ने परीक्षा दी है, उन्हें परेशान न करें। 


ये भी पढ़ें- अब कक्षा पांच के बाद मानकों पर खरा न उतरने वाले छात्र होंगे फेल, मंत्रालय ने किया विधेयक तैयार

 

एक नजर यहां भी...

Todays Beets: