Friday, October 20, 2017

Breaking News

   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||   जम्मू कश्मीर के नौगाम में लश्कर कमांडर अबू इस्माइल के साथ मुठभेड़,     ||   राम रहीम मामले पर गौतम का गंभीर प्रहार, कहा- धार्मिक मार्केटिंग का यह एक क्लासिक उदाहरण    ||   ट्राई ने ओवरचार्जिंग के लिए आइडिया पर लगाया 2.9 करोड़ का जुर्माना    ||   मदरसों का 15 अगस्त को ही वीडियोग्राफी क्यों? याचिका दायर, सुनवाई अगले सप्ताह    ||

इंजीनियरिंग से पहले छात्रों को अंग्रेजी सिखाएगा यह काॅलेज, सप्ताहांत में लगेगी क्लास

अंग्वाल न्यूज डेस्क
इंजीनियरिंग से पहले छात्रों को अंग्रेजी सिखाएगा यह काॅलेज, सप्ताहांत में लगेगी क्लास

देहरादून। राज्य में इंजीनियरिंग करने आने वाले छात्रों को इंजीनियरिंग कोर्स से पहले अंग्रेजी सिखाई जाएगी। जी हां, पौड़ी-गढ़वाल में स्थित जीबी पंत इंजीनियरिंग काॅलेज अब इंजीनियरिंग करने आने वाले छात्र-छात्राओं को इंजीनियरिंग से पहले अंग्रेजी में निपुण करेगा। बता दें कि काॅलेज में दाखिला लेने वाले अधिकतर छात्र ग्रामीण परिवेश में आते हैं। ऐसे में उनकी अंग्रेजी काफी कमजोर होती है जिससे वे इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी नहीं कर पाते हैं। काॅलेज के छात्रों के परिणाम अच्छे हों इसी मकसद से यह कदम उठाया गया है। 

कोर्स काउंसलर का होगा चयन

गौरतलब है कि जीबी पंत इंजीनियरिंग काॅलेज में नए सत्र में दाखिला लेने वाले छात्र-छात्राओं को 6 महीने तक अंग्रेजी भाषा सिखाई जाएगी ताकि उनकी अंग्रेजी में अच्छी पकड़ बन सके। इसके लिए काॅलेज की ओर से कोर्स काउंसलर का चयन किया जाएगा। कोर्स काउंसलर हर शनिवार और रविवार को अलग क्लास लगाकर ऐसे छात्रों को अंग्रेजी सिखाएगा। इससे एक तो उनकी अंग्रेजी में सुधार होगा वहीं उनका व्यक्तिगत विकास भी होगा।

ये भी पढ़ें - प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के तहत रोजगार देने में उत्तराखंड पूरे देश में अव्वल - हरीश रावत


खर्च काॅलेज वहन करेगा

काॅलेज के रजिस्ट्रार संदीप कुमार ने बताया कि अब तक देखा गया है कि शहरों के मुकाबले ग्रामीण छात्र-छात्राओं की अंग्रेजी कमजोर होती है। ऐसे में वे समय पर इंजीनियरिंग का कोर्स पूरा नहीं कर पाते हैं। अंग्रेजी में कमजोर होने के कारण उनका व्यक्तिगत विकास भी कम होता है, इसलिए यदि अंग्रेजी में कमजोर छात्रों को पहले ही अंग्रेजी भाषा का ज्ञान मिल जाए तो वह अन्य बच्चों की बराबरी कर अच्छे परिणाम हासिल कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि काॅलेज फंड से ही ऐसे छात्रों को कोर्स करवाया जाएगा। 

Todays Beets: