Friday, September 21, 2018

Breaking News

   ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के पूर्व जीएम के ठिकानों पर आयकर के छापे     ||   बिहार: पूर्व मंत्री मदन मोहन झा बनाए गए प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष। सांसद अखिलेश सिंह बनाए गए अभियान समिति के अध्यक्ष। कौकब कादिरी समेत चार बनाए गए कार्यकारी अध्यक्ष।     ||   कर्नाटक के मंत्री शिवकुमार के खिलाफ ED ने मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया    ||   सीतापुर में श्रद्धालुओें से भरी बस खाई में पलटी 26 घायल, 5 की हालत गंभीर     ||   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||

इंजीनियरिंग से पहले छात्रों को अंग्रेजी सिखाएगा यह काॅलेज, सप्ताहांत में लगेगी क्लास

अंग्वाल न्यूज डेस्क
इंजीनियरिंग से पहले छात्रों को अंग्रेजी सिखाएगा यह काॅलेज, सप्ताहांत में लगेगी क्लास

देहरादून। राज्य में इंजीनियरिंग करने आने वाले छात्रों को इंजीनियरिंग कोर्स से पहले अंग्रेजी सिखाई जाएगी। जी हां, पौड़ी-गढ़वाल में स्थित जीबी पंत इंजीनियरिंग काॅलेज अब इंजीनियरिंग करने आने वाले छात्र-छात्राओं को इंजीनियरिंग से पहले अंग्रेजी में निपुण करेगा। बता दें कि काॅलेज में दाखिला लेने वाले अधिकतर छात्र ग्रामीण परिवेश में आते हैं। ऐसे में उनकी अंग्रेजी काफी कमजोर होती है जिससे वे इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी नहीं कर पाते हैं। काॅलेज के छात्रों के परिणाम अच्छे हों इसी मकसद से यह कदम उठाया गया है। 

कोर्स काउंसलर का होगा चयन

गौरतलब है कि जीबी पंत इंजीनियरिंग काॅलेज में नए सत्र में दाखिला लेने वाले छात्र-छात्राओं को 6 महीने तक अंग्रेजी भाषा सिखाई जाएगी ताकि उनकी अंग्रेजी में अच्छी पकड़ बन सके। इसके लिए काॅलेज की ओर से कोर्स काउंसलर का चयन किया जाएगा। कोर्स काउंसलर हर शनिवार और रविवार को अलग क्लास लगाकर ऐसे छात्रों को अंग्रेजी सिखाएगा। इससे एक तो उनकी अंग्रेजी में सुधार होगा वहीं उनका व्यक्तिगत विकास भी होगा।

ये भी पढ़ें - प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के तहत रोजगार देने में उत्तराखंड पूरे देश में अव्वल - हरीश रावत


खर्च काॅलेज वहन करेगा

काॅलेज के रजिस्ट्रार संदीप कुमार ने बताया कि अब तक देखा गया है कि शहरों के मुकाबले ग्रामीण छात्र-छात्राओं की अंग्रेजी कमजोर होती है। ऐसे में वे समय पर इंजीनियरिंग का कोर्स पूरा नहीं कर पाते हैं। अंग्रेजी में कमजोर होने के कारण उनका व्यक्तिगत विकास भी कम होता है, इसलिए यदि अंग्रेजी में कमजोर छात्रों को पहले ही अंग्रेजी भाषा का ज्ञान मिल जाए तो वह अन्य बच्चों की बराबरी कर अच्छे परिणाम हासिल कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि काॅलेज फंड से ही ऐसे छात्रों को कोर्स करवाया जाएगा। 

Todays Beets: