Friday, May 25, 2018

Breaking News

   कानपुर जहरीली शराब मामले में 5अधिकारी निलंबित     ||   अब जल्द ही बिना नेटवर्क भी कर सकेंगे कॉल, बस Wi-Fi की होगी जरुरत     ||   मौलाना मदनी ने भी की एएमयू से जिन्‍ना की तस्‍वीर हटाने की वकालत     ||   भारत-चीन सेना के बीच हॉटलाइन की तैयारी, LoC पर तनाव होगा दूर     ||   कसौली में धारा 144 लागू, आरोपित पुलिस की गिरफ्त से बाहर     ||   स्कूली बच्चों पर पत्थरबाजी से भड़के उमर अब्दुल्ला, कहा- ये गुंडों जैसी हरकत     ||   थर्ड फ्रंट: ममता, कनिमोझी....और अब केसीआर की एसपी चीफ अखिलेश यादव के साथ बैठक     ||   मायावती का पलटवार, कहा- सत्ता के अहंकार में जनता को मूर्ख समझ रही BJP; शाह के गुरू मोदी ने गिराया पार्टी का स्तर     ||   चीन के स्‍पर्म बैंक ने रखी अनोखी शर्त, सिर्फ कम्‍युनिस्‍टों का समर्थन करने वाले ही दान कर सकेंगे स्‍पर्म     ||   CBSE पेपर लीक: हिमाचल से टीचर समेत 3 गिरफ्तार, पूछताछ में हो सकता है अहम खुलासा     ||

प्राईवेट स्कूलों को खाली सीटों की जानकारी पब्लिक करने का दिया गया आदेश

अंग्वाल संवाददाता
प्राईवेट स्कूलों को खाली सीटों की जानकारी पब्लिक करने का दिया गया आदेश

नई दिल्ली। दिल्ली सरकार ने प्राईवेट स्कूलों को एक नोटिस जारी कर निर्देश दिए है। निर्देशों में सरकार ने स्कूलों से खाली पड़ी सीटों की जानकारी पब्लिक करने के लिए कहा है। साथ ही सरकार ने आरक्षित वर्ग की सीटों की जानकारी भी पब्लिक किए जाने के लिए कहा है। यह कदम ईडब्लयूएस केटेगरी के बच्चों को एडमिशन दिलाने और सीटों की सही जानकारी होने के लिए उठाया गया है। डायरेक्टर ऑफ एजुकेशन ने यह नोटिस जारी कर स्कूलों से कहा है कि वह खाली सीटों से जुडी अहम जानकारी हिंदी और अग्रेंजी में नोटिस बोर्ड पर लगाएं और बोर्ड ऐसी जगह होना चाहिए जहां से आम लोगों को असानी से यह जानकारी मिल सके।

यह भी पढ़े- अध्ययन में सामने आया है कि कार्यस्थल पर बेहतर माहौल बनाने के लिए भरोसा है सबसे जरुरी

शिक्षा विभाग के एक अधिकारी ने कहा, ये ऑर्डर कोर्ट के आदेश के बाद जारी किया गया है। अब हम ईडब्ल्यूएस केटेगरी के लिए ऑनलाइन एडमिशन ले रहें हैं। इसलिए कुछ स्कूलों को लगा कि वे ये सूचना अब केवल ऑनलाइन ही अपडेट करेंगे पर कई गरीब लोग इंटरनेट पर इन सीटों की जानकारी प्राप्त नहीं कर सकते हैं। ऐसे में वह इस सूचना से वंचित रह जाते हैं। ये ऑर्डर सुनिश्चित करेगा कि नोटिस बोर्ड पर सभी सूचनाएं सार्वजनिक हों।


यह भी पढ़े- NCERT  से छात्रों को मिली राहत, अब नहीं बढ़ाई जाएंगी किताबों की कीमतें

इतना ही नहीं दिल्ली सरकार के अधिकारी समय- समय पर स्कूलों में जाएंगे और इन सूचनाओं की जांच पड़ताल भी करेंगे।   

Todays Beets: