Thursday, December 14, 2017

Breaking News

   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद     ||   अश्विन ने लगाया विकेटों का सबसे तेज 'तिहरा शतक', लिली को छोड़ा पीछे     ||   पूरा हुआ सपना चौधरी का 'सपना', बेघर होने के साथ बॉलीवुड से मिला बड़ा ऑफर    ||   PAK सरकार ने शर्तें मानीं, प्रदर्शन खत्म करने कानून मंत्री को देना पड़ा इस्तीफा    ||   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||

प्राईवेट स्कूलों को खाली सीटों की जानकारी पब्लिक करने का दिया गया आदेश

अंग्वाल संवाददाता
प्राईवेट स्कूलों को खाली सीटों की जानकारी पब्लिक करने का दिया गया आदेश

नई दिल्ली। दिल्ली सरकार ने प्राईवेट स्कूलों को एक नोटिस जारी कर निर्देश दिए है। निर्देशों में सरकार ने स्कूलों से खाली पड़ी सीटों की जानकारी पब्लिक करने के लिए कहा है। साथ ही सरकार ने आरक्षित वर्ग की सीटों की जानकारी भी पब्लिक किए जाने के लिए कहा है। यह कदम ईडब्लयूएस केटेगरी के बच्चों को एडमिशन दिलाने और सीटों की सही जानकारी होने के लिए उठाया गया है। डायरेक्टर ऑफ एजुकेशन ने यह नोटिस जारी कर स्कूलों से कहा है कि वह खाली सीटों से जुडी अहम जानकारी हिंदी और अग्रेंजी में नोटिस बोर्ड पर लगाएं और बोर्ड ऐसी जगह होना चाहिए जहां से आम लोगों को असानी से यह जानकारी मिल सके।

यह भी पढ़े- अध्ययन में सामने आया है कि कार्यस्थल पर बेहतर माहौल बनाने के लिए भरोसा है सबसे जरुरी

शिक्षा विभाग के एक अधिकारी ने कहा, ये ऑर्डर कोर्ट के आदेश के बाद जारी किया गया है। अब हम ईडब्ल्यूएस केटेगरी के लिए ऑनलाइन एडमिशन ले रहें हैं। इसलिए कुछ स्कूलों को लगा कि वे ये सूचना अब केवल ऑनलाइन ही अपडेट करेंगे पर कई गरीब लोग इंटरनेट पर इन सीटों की जानकारी प्राप्त नहीं कर सकते हैं। ऐसे में वह इस सूचना से वंचित रह जाते हैं। ये ऑर्डर सुनिश्चित करेगा कि नोटिस बोर्ड पर सभी सूचनाएं सार्वजनिक हों।


यह भी पढ़े- NCERT  से छात्रों को मिली राहत, अब नहीं बढ़ाई जाएंगी किताबों की कीमतें

इतना ही नहीं दिल्ली सरकार के अधिकारी समय- समय पर स्कूलों में जाएंगे और इन सूचनाओं की जांच पड़ताल भी करेंगे।   

Todays Beets: