Sunday, July 22, 2018

Breaking News

   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||   नीतीश का गठबंधन को जवाब कहा गठबंधन सिर्फ बिहार में है बाहर नहीं     ||   जापान में बारिश का कहर जारी 100 से ज्यादा लोगों की मौत     ||   PM मोदी के नोएडा दौरे से पहले लगा भारी जाम, पढ़ें पूरी ट्रैफिक एडवाइजरी     ||    नीतीश ने दिए संकेत: केवल बिहार में है भाजपा और जदयू का गठबंधन, राष्ट्रीय स्तर पर हम साथ नहीं    ||   निर्भया मामले में तीनों दोषियों को होगी फांसी, सुप्रीम कोर्ट ने याचिका ठुकराई    ||   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||

डीयू ने सभी कॉलेजों को आवेदकों की फीस लौटाने का दिया आदेश, पढ़े क्या है पूरा मामला...,

अंग्वाल संवाददाता
डीयू ने सभी कॉलेजों को आवेदकों की फीस लौटाने का दिया आदेश, पढ़े क्या है पूरा मामला...,

नई दिल्ली। दिल्ली विश्वविद्यालय के 70 से ज्यादा कॉलेजों ने पिछली बार शिक्षकों की नियुक्ति के लिए विज्ञापन जारी किए थे, लेकिन कॉलेजों की तरफ से उन विज्ञापित पदों पर इंटरव्यू नहीं लिये गए। इन विज्ञापित नियुक्तियों पर करीब 2 लाख लोगों ने अपलाई किया था। इस मामले पर अब डीयू के जॉइंट रजिस्ट्रार ने सभी कॉलेजों को लेटर लिखकर विवाद खड़ा न करने को कहा है। साथ ही कॉलेजों को आवेदकों की फीस लौटाने के लिए भी कह दिया गया है। आवेदन की यह फीस 250 से 500 रुपये थी।

 


 

बता दें कि हर कॉलेज ने 15 से 20 विषयों के लिए आवेदन मांगे थे। बड़ी संख्या में लोगों ने इन नियुक्ति के लिए आवेदन किए थे, लेकिन कुछ समस्याओं के चलते इंटरव्यू नहीं हो पाए थे। ऐकडेमिक काउंसिल के सदस्य डॉ हंसराज ने बताया कि इस पूरे मामले को काउंसिल की बैठक में उठाया गया था। यह बात वर्ष 2015 की है, हर कॉलेज के पास 20 से 25 लाख रुपये आवेदन फीस के जमा हो गए थे। कॉलेजों ने यह भी साफ नहीं किया था कि एकत्रित हुए फीस को फंड को कॉलेज के अकाउंट में रखा गया था या नहीं।

Todays Beets: