Wednesday, August 15, 2018

Breaking News

   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||

अब उर्दू में होंगी नीट की परीक्षा, सुप्रीम कोर्ट ने केन्द्र और सीबीएसई को दिए आदेश

अंग्वाल न्यूज डेस्क
अब उर्दू में होंगी नीट की परीक्षा, सुप्रीम कोर्ट ने केन्द्र और सीबीएसई को दिए आदेश

नई दिल्ली।  नीट की परीक्षा देने वाले मुस्लिम छात्रों के लिए अच्छी खबर है। सुप्रीम कोर्ट ने केन्द्र और सीबीएसई को 2018-19 में होने वाली नीट की परीक्षा में उर्दू को भी शामिल करने के आदेश दिए हैं। हालांकि इस बार होने वाली परीक्षा में उर्दू शामिल नहीं होगी। सीबीएसई ने कहा कि इस बार नीट की परीक्षा 7 मई को होने वाली है और इसके लिए सभी तैयारियां कर ली गई हैं। ऐसे में सिर्फ 11 हजार छात्रों के लिए इस बार इसे लागू करना मुश्किल है। इसे अगले साल से लागू करने पर विचार किया जाएगा।

सुप्रीम कोर्ट में दायर की थी याचिका

गौरतलब है कि नीट की परीक्षा उर्दू में कराने को लेकर एक इस्लामिक स्टूडेंट आॅर्गेनाइजेशन ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी। इस पर सुनवाई चल रही है। सुप्रीम कोर्ट ने केन्द्र सरकार, मेडिकल काउंसिल आॅफ इंडिया, डीसीआई और सीबीएसई को नोटिस जारी कर 10 मार्च तक जवाब देने को कहा था। आपको बता दें कि नीट की परीक्षा अभी तक हिंदी, इंग्लिश, गुजराती, मराठी, उड़िया, बंगला, असमी, तेलगु, तमिल और कन्नड़ में होती है।

अब राज्यों से उठी मांग


याचिकाकर्ता ने कोर्ट में कहा था कि अभी मेडिकल काउंसिल आॅफ इंडिया और सीबीएसई ये कह रहे थे कि किसी भी राज्य ने उर्दू में परीक्षा कराने की मांग नहीं की है। अब महाराष्ट्र और तेलंगाना जैसे राज्यों से इसकी मांग उठने लगी है।  इसके अलावा कुछ और भी राज्य हैं जो इस पर विचार कर रहे हैं।

अगले साल से उर्दू में होंगे प्रश्नपत्र

याचिकाकर्ता ने कोर्ट में ये भी कहा कि मेडिकल काउंसिल आॅफ इंडिया ने कहा था कि अगर कोई राज्य सरकार इसकी मांग करेगा तो वो विचार करेंगे। ऐसे में अब सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद अगले साल से छात्र उर्दू में भी नीट की परीक्षा दे सकेंगे।    

Todays Beets: