Tuesday, August 22, 2017

Breaking News

   मच्छल में घुसपैठ नाकाम, पांच आतंकी ढेर, भारी मात्रा में गोलाबारूद बरामद    ||   जापान के बाद अब अमेरिका के साथ युद्धाभ्यास की तैयारी में भारत    ||   SC में आर्टिकल 370 को हटाने के लिए याचिका दायर, कोर्ट ने दिया केंद्र को नोटिस    ||   राज्यसभा में सिब्बल बोले- छप रहे 1 नंबर के दो नोट, सदी का सबसे बड़ा घोटाला    ||   नीतीश सरकार के मंत्रिमंडल का आज होगा विस्तार, शपथ ले सकते हैं 16 मंत्री    ||   सपा को तगड़ा झटका, बुक्कल नवाब समेत 2 MLC का इस्तीफा, की मोदी-योगी की तारीफ    ||   नगालैंड: शुरहोजेली ने विश्वासमत से पहले ही मानी हार, ज़ेलियांग ने ली CM पद की शपथ    ||   बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा- पार्टी कहेगी तो दे दूंगा इस्तीफा    ||   डोकलाम विवाद: भारतीय सीमा के पास खूब हथियार जमा कर रहा है चीन!    ||   रवि शास्त्री की चाहत- सचिन को मिले भारतीय बल्लेबाजी का जिम्मा    ||

दिल्ली विश्वविद्यालय में दाखिला लेने के वक्त नहीं देनी होगी परीक्षा फीस, डीयू प्रशासन ने फीस जमा करने के लिए शुरू किया पूल सिस्टम

अंग्वाल न्यूज डेस्क
दिल्ली विश्वविद्यालय में दाखिला लेने के वक्त नहीं देनी होगी परीक्षा फीस, डीयू प्रशासन ने फीस जमा करने के लिए शुरू किया पूल सिस्टम

नई दिल्ली। दिल्ली विश्वविद्यालय में प्रवेश लेने वाले छात्रों को अब नामांकन के समय परीक्षा शुल्क नहीं देना पड़ेगा। दूसरी तरफ विश्वविद्यालय प्रशासन ने फीस जमा करने के लिए पूल सिस्टम की शुरुआत की है। इस सिस्टम के तहत अगर छात्र ने एक काॅलेज में एडमिशन के लिए पैसे जमा कर दिए हैं और कटआॅफ आने के बाद वह दूसरे काॅलेज में एडमिशन लेना चाहता है तो उसे दोबारा पैसे नहीं चुकाने पड़ेंगे। अगर कोर्स की फीस कम होगी तो उसे पैसे वापस कर दिए जाएंगे।

बाद में ली जाएगी परीक्षा फीस

गौरतलब है कि दिल्ली विश्वविद्यालय ने पिछले साल ही नामांकन के समय ही परीक्षा शुल्क लेने की व्यवस्था शुरू की थी। डीयू अधिकारियों के अनुसार ऐसा इसलिए किया जा रहा है क्योंकि वह चाहते हैं कि पहले छात्र दाखिला लेकर स्थिर हो जाएं। उसके बाद ही आगे की प्रक्रिया शुरू हो। अधिकारियों का कहना है कि प्रवेश लेने के बाद सेमेस्टर परीक्षा शुरू होने में काफी समय रहता है। ऐसे में परीक्षा फीस बाद में भी ली जा सकती है। 

 


दोबारा नहीं देने होंगे पैसे

वहीं एक अन्य फैसले के तहत इस बार डीयू ने दाखिला फीस के लिए पूल फीस सिस्टम की शुरुआत की है। इस सिस्टम के तहत एक कॉलेज में दाखिला लेकर यदि किसी छात्र ने फीस चुका दी है और वह अगली कट ऑफ में दाखिला रद्द कराकर दूसरे कॉलेज में जाना चाहता है तो उसे कुछ ही राशि का भुगतान करना होगा। उदाहरण के लिए अगर किसी कॉलेज में किसी कोर्स की फीस 5000 हजार है और किसी दूसरे कॉलेज में उस कोर्स की फीस 6000 है तो उसे केवल एक हजार का ही भुगतान करना होगा। अगर फीस कम है तो उसकी फीस वापस कर दी जाएगी।

छात्रों को परेशानी से मिलेगी निजात

दिल्ली विश्वविद्यालय ने यह फैसला इस वजह से लिया है कि छात्रों को नामांकन रद्द कराने के बाद परीक्षा फीस लौटाने की परेशानी से बचा जा सके। अक्सर ऐसा होता है कि छात्र आखिरी समय पर नामांकन रद्द कराकर दूसरे काॅलेजों में दाखिला लेते हैं। 

Todays Beets: