Monday, July 23, 2018

Breaking News

   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||   नीतीश का गठबंधन को जवाब कहा गठबंधन सिर्फ बिहार में है बाहर नहीं     ||   जापान में बारिश का कहर जारी 100 से ज्यादा लोगों की मौत     ||   PM मोदी के नोएडा दौरे से पहले लगा भारी जाम, पढ़ें पूरी ट्रैफिक एडवाइजरी     ||    नीतीश ने दिए संकेत: केवल बिहार में है भाजपा और जदयू का गठबंधन, राष्ट्रीय स्तर पर हम साथ नहीं    ||   निर्भया मामले में तीनों दोषियों को होगी फांसी, सुप्रीम कोर्ट ने याचिका ठुकराई    ||   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||

सीबीएसई की मूल्यांकन प्रक्रिया में होगा बदलाव, 10वीं के छात्रों को अब करनी होगी 5 की जगह 6 विषयों की पढ़ाई 

अंग्वाल न्यूज डेस्क

सीबीएसई की मूल्यांकन प्रक्रिया में होगा बदलाव, 10वीं के छात्रों को अब करनी होगी 5 की जगह 6 विषयों की पढ़ाई 

नई दिल्ली। 

केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड यानी कि सीबीएसई अपनी मूल्यांकन प्रक्रिया में जल्द ही बदलाव करने जा रहा है। इस बदलाव के बाद अब अगले साल से 10वीं के छात्रों को 5 की जगह 6 विषयों की पढ़ाई करनी पड़ेगी। बता दें कि अभी बोर्ड के बच्चों को दो भाषाओं सामाजिक विज्ञान, गणित और विज्ञान के पांच विषयों को पढ़ना पड़ता है। 

अतिरिक्त विषय की पढ़ाई होगी अनिवार्य

गौरतलब है कि पहले 10वीं के छात्रों के पास इन पांच विषयों के अलावा एक अतिरिक्त विषय चुनने का विकल्प था। बता दें कि 2017-18 के शैक्षणिक वर्ष से इस अतिरिक्त विषय की पढ़ाई अनिवार्य कर दी जाएगी। राष्ट्रीय कौशल योग्यता रूपरेखा (एनएसक्यूएफ) के तहत कई स्कूलों में व्यावसायिक विषय की शिक्षा अनिवार्य विषय के तौर पर दी जा रही है। ऐसे स्कूलों के लिए  केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने दसवीं कक्षा की बोर्ड परीक्षा में अपने मूल्यांकन के तौर तरीकों को बदलने का निर्णय लिया है। 


टैक्सी बिल घोटालाः आरोपी कर्मचारियों से वसूली जाएगी रकम, अपर मुख्य सचिव ने विभाग को भेजी चिट्ठी

पूरक परीक्षा दे सकेंगे छात्र 

नियमों के बदलाव को लेकर सीबीएसई ने कहा है, ‘‘अगर छात्र तीन वैकल्पिक विषयों विज्ञान, सामाजिक विज्ञान, गणित में से एक में भी फेल हो जाता है तो इसकी जगह पर इस विषय को प्रतिस्थापित किया जाएगा।’’ इसके बाद ही बोर्ड की परीक्षा का परिणाम घोषित किया जाएगा। हालांकि छात्र अगर फेल होने वाले विषय में परीक्षा देना चाहता है तो वह पूरक परीक्षा दे सकेगा। 

 

Todays Beets: