Sunday, January 21, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

सीबीएसई की मूल्यांकन प्रक्रिया में होगा बदलाव, 10वीं के छात्रों को अब करनी होगी 5 की जगह 6 विषयों की पढ़ाई 

अंग्वाल न्यूज डेस्क

सीबीएसई की मूल्यांकन प्रक्रिया में होगा बदलाव, 10वीं के छात्रों को अब करनी होगी 5 की जगह 6 विषयों की पढ़ाई 

नई दिल्ली। 

केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड यानी कि सीबीएसई अपनी मूल्यांकन प्रक्रिया में जल्द ही बदलाव करने जा रहा है। इस बदलाव के बाद अब अगले साल से 10वीं के छात्रों को 5 की जगह 6 विषयों की पढ़ाई करनी पड़ेगी। बता दें कि अभी बोर्ड के बच्चों को दो भाषाओं सामाजिक विज्ञान, गणित और विज्ञान के पांच विषयों को पढ़ना पड़ता है। 

अतिरिक्त विषय की पढ़ाई होगी अनिवार्य

गौरतलब है कि पहले 10वीं के छात्रों के पास इन पांच विषयों के अलावा एक अतिरिक्त विषय चुनने का विकल्प था। बता दें कि 2017-18 के शैक्षणिक वर्ष से इस अतिरिक्त विषय की पढ़ाई अनिवार्य कर दी जाएगी। राष्ट्रीय कौशल योग्यता रूपरेखा (एनएसक्यूएफ) के तहत कई स्कूलों में व्यावसायिक विषय की शिक्षा अनिवार्य विषय के तौर पर दी जा रही है। ऐसे स्कूलों के लिए  केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने दसवीं कक्षा की बोर्ड परीक्षा में अपने मूल्यांकन के तौर तरीकों को बदलने का निर्णय लिया है। 


टैक्सी बिल घोटालाः आरोपी कर्मचारियों से वसूली जाएगी रकम, अपर मुख्य सचिव ने विभाग को भेजी चिट्ठी

पूरक परीक्षा दे सकेंगे छात्र 

नियमों के बदलाव को लेकर सीबीएसई ने कहा है, ‘‘अगर छात्र तीन वैकल्पिक विषयों विज्ञान, सामाजिक विज्ञान, गणित में से एक में भी फेल हो जाता है तो इसकी जगह पर इस विषय को प्रतिस्थापित किया जाएगा।’’ इसके बाद ही बोर्ड की परीक्षा का परिणाम घोषित किया जाएगा। हालांकि छात्र अगर फेल होने वाले विषय में परीक्षा देना चाहता है तो वह पूरक परीक्षा दे सकेगा। 

 

Todays Beets: