Friday, August 18, 2017

Breaking News

   मच्छल में घुसपैठ नाकाम, पांच आतंकी ढेर, भारी मात्रा में गोलाबारूद बरामद    ||   जापान के बाद अब अमेरिका के साथ युद्धाभ्यास की तैयारी में भारत    ||   SC में आर्टिकल 370 को हटाने के लिए याचिका दायर, कोर्ट ने दिया केंद्र को नोटिस    ||   राज्यसभा में सिब्बल बोले- छप रहे 1 नंबर के दो नोट, सदी का सबसे बड़ा घोटाला    ||   नीतीश सरकार के मंत्रिमंडल का आज होगा विस्तार, शपथ ले सकते हैं 16 मंत्री    ||   सपा को तगड़ा झटका, बुक्कल नवाब समेत 2 MLC का इस्तीफा, की मोदी-योगी की तारीफ    ||   नगालैंड: शुरहोजेली ने विश्वासमत से पहले ही मानी हार, ज़ेलियांग ने ली CM पद की शपथ    ||   बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा- पार्टी कहेगी तो दे दूंगा इस्तीफा    ||   डोकलाम विवाद: भारतीय सीमा के पास खूब हथियार जमा कर रहा है चीन!    ||   रवि शास्त्री की चाहत- सचिन को मिले भारतीय बल्लेबाजी का जिम्मा    ||

सीबीएसई की मूल्यांकन प्रक्रिया में होगा बदलाव, 10वीं के छात्रों को अब करनी होगी 5 की जगह 6 विषयों की पढ़ाई 

अंग्वाल न्यूज डेस्क

सीबीएसई की मूल्यांकन प्रक्रिया में होगा बदलाव, 10वीं के छात्रों को अब करनी होगी 5 की जगह 6 विषयों की पढ़ाई 

नई दिल्ली। 

केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड यानी कि सीबीएसई अपनी मूल्यांकन प्रक्रिया में जल्द ही बदलाव करने जा रहा है। इस बदलाव के बाद अब अगले साल से 10वीं के छात्रों को 5 की जगह 6 विषयों की पढ़ाई करनी पड़ेगी। बता दें कि अभी बोर्ड के बच्चों को दो भाषाओं सामाजिक विज्ञान, गणित और विज्ञान के पांच विषयों को पढ़ना पड़ता है। 

अतिरिक्त विषय की पढ़ाई होगी अनिवार्य

गौरतलब है कि पहले 10वीं के छात्रों के पास इन पांच विषयों के अलावा एक अतिरिक्त विषय चुनने का विकल्प था। बता दें कि 2017-18 के शैक्षणिक वर्ष से इस अतिरिक्त विषय की पढ़ाई अनिवार्य कर दी जाएगी। राष्ट्रीय कौशल योग्यता रूपरेखा (एनएसक्यूएफ) के तहत कई स्कूलों में व्यावसायिक विषय की शिक्षा अनिवार्य विषय के तौर पर दी जा रही है। ऐसे स्कूलों के लिए  केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने दसवीं कक्षा की बोर्ड परीक्षा में अपने मूल्यांकन के तौर तरीकों को बदलने का निर्णय लिया है। 

टैक्सी बिल घोटालाः आरोपी कर्मचारियों से वसूली जाएगी रकम, अपर मुख्य सचिव ने विभाग को भेजी चिट्ठी

पूरक परीक्षा दे सकेंगे छात्र 

नियमों के बदलाव को लेकर सीबीएसई ने कहा है, ‘‘अगर छात्र तीन वैकल्पिक विषयों विज्ञान, सामाजिक विज्ञान, गणित में से एक में भी फेल हो जाता है तो इसकी जगह पर इस विषय को प्रतिस्थापित किया जाएगा।’’ इसके बाद ही बोर्ड की परीक्षा का परिणाम घोषित किया जाएगा। हालांकि छात्र अगर फेल होने वाले विषय में परीक्षा देना चाहता है तो वह पूरक परीक्षा दे सकेगा। 

 

Todays Beets: