Monday, November 20, 2017

Breaking News

   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||   अजहर को अंतर्राष्ट्रीय आतंकी घोषित नहीं करेगा चीन, प्रस्ताव पर रोक लगाने के संकेत     ||   दुनिया की सबसे लंबी सुरंग बनाकर चीन अब ब्रह्मपुुत्र नदी का पानी रोकने का बना रहा है प्लान     ||   पीएम मोदी को शीला दीक्षित ने दिया जवाब- हमने नहीं भुलाया पटेल का योगदान    ||   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||

विश्व के सबसे बेहतर शीर्ष 250 विश्वविद्यालयों में भारत से एक भी नहीं

अंग्वाल संवाददाता
विश्व के सबसे बेहतर शीर्ष 250 विश्वविद्यालयों में भारत से एक भी नहीं

नई दिल्ली। दुनिया के शीर्ष उच्च शिक्षा संगठनों की श्रेणी में भारतीय विश्वविद्यालयों का प्रदर्शन सुधरने के बजाय और बिगड़ गया है। टाइम्स हायर एजेकुशन वर्ल्ड यूनिवर्सिटी की 2018 लिस्ट की रिपोर्ट के अनुसार, विश्व के 250 शीर्ष संस्थानों में एक भी भारतीय संस्थान नहीं है। मंगलवार को आई रिपोर्ट में विश्व के एक हजार विश्वविद्यालयों की गुणवत्ता के आकलन किया गया। 

यह भी पढ़े-  शिक्षकों के लिए सरकार ने लिया बड़ा फैसला, प्रशिक्षण के लिए पंजीकरण कराना है जरूरी


भारतीय उच्च शिक्षा संस्थानों में सबसे बेहतर प्रदर्शन वाले इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस 201-250 की श्रेणी से नीचे गिर गया है। आईआईटी दिल्ली, कानपुर और मद्रास, खड्गपुर, रूड़की भी 401-500 की रैंकिंग पर लुढ़ककर 501 से 600 के दायरे में चाला गया है। आईआईटी बांबे की रैंकिंग भी 351-400 के बीच है। बीएचयू तो 601 से 800 के दायरे में है।  शोध आय और गुणवत्ता के पैमाने पर भारतीय संस्थानों में सुधार पाया गया है। 

यह भी पढ़े- योगी सरकार का फैसला, सरकारी नौकरी के लिए नहीं देना और इंटरव्यूवहीं बैटी ने कहा कि भारतीय उच्च शिक्षा संस्थानों की शोध आय एवं गुणवता सुधार का असर आने वाले वर्षों में दिख सकता है। उन्होंने भारत के 20 विश्वस्तरीय संस्थान तैयार करने की योजना का भी उल्लेख किया।  

Todays Beets: