Thursday, January 18, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

अध्ययन में सामने आया है कि कार्यस्थल पर बेहतर माहौल बनाने के लिए भरोसा है सबसे जरुरी

अंग्वाल संवाददाता
अध्ययन में सामने आया है कि कार्यस्थल पर बेहतर माहौल बनाने के लिए भरोसा है सबसे जरुरी

नई दिल्ली। ऑफिस में सकारात्मक और खुशनुशमा माहौल बनाने के लिए आपसी भरोसा और निरंतरता सबसे महत्वपूर्ण कड़ी होती है। देश की मझोली कंपनियों पर किए गए एक अध्ययन में सामने आया है। ऐसे 219 कार्यालय अपने कर्मचारियों का ख्याल रख बड़ी-बड़ी कंपनियों के सामने मिसाल पेश कर रहे हैं। इन शानदार ऑफिसों की पहचान वैश्विक प्रबंधन सलाहकार एवं रिसर्च फर्म ‘ग्रेट प्लेस टू वर्क इंस्टीट्यूट’  के वार्षिक अध्ययन में की गई है। इस अध्ययन में 219 मध्यम स्तर के संगठनों के 34,501 लोगों को शामिल किया गया। इस अध्ययन में ‘मिंट’ मीडिया भी पार्टनर था।

 

 


बीते दिन इंस्ट्टीयूट के सीईओ प्रसेनजीत ने एक आयोजित कार्यक्रम में कहा, जो कंपनियां काफी ज्यादा सफल हैं, आखिर हमें क्यो उनके वैश्विक सीईओ का नाम याद रहता है? ऐसा इसलिए है क्योंकिइन कंपनियों में संस्कृति ही सीईओ होती है। आगे उन्होंने कहा कि इन कंपनियों में सीईओंअहम काम यह करते हैं कि वह अपने किए हुए वादो को निभाते हैं।इस कार्यक्रम में देश के सबसे सर्वश्रेष्ठ संगठनों के नाम घोषित किए गिए। इनमें कैक्ट्स कम्युनिकेशन सबसे ऊपर रही।  इस्टीट्यूट के उपाध्यक्ष सरबनी दुबेने अध्ययन के परिणामों पर प्रकाश डालते हुए कहा कि विश्वास शब्द में जादू है। वहीं उन्होंने यह भी कहा कि शानदार कार्यस्थल को यह फायदा होता है कि वह अपने वफदार कर्मचारियों को लंबे समय तक रख सकते हैं।    

 

Todays Beets: