Friday, July 21, 2017

Breaking News

   नगालैंड: शुरहोजेली ने विश्वासमत से पहले ही मानी हार, ज़ेलियांग ने ली CM पद की शपथ    ||   बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा- पार्टी कहेगी तो दे दूंगा इस्तीफा    ||   डोकलाम विवाद: भारतीय सीमा के पास खूब हथियार जमा कर रहा है चीन!    ||   रवि शास्त्री की चाहत- सचिन को मिले भारतीय बल्लेबाजी का जिम्मा    ||   नियंत्रण रेखा के पास एक चौकी में जवान ने मेजर को गोली मारी, मेजर की मौत    ||   नियंत्रण रेखा पर गुरेज सेक्टर में घुसपैठ की कोशिश    ||   मानवाधिकार आयोग का आदेश, सेना की जीप से बंधे अहमद डार को दें 10 लाख मुआवजा    ||   सुरजेवाला ने कहा- सनसनी न फैलाएं, 'हां' चीन के दूत से मिले थे राहुल गांधी    ||   देखें, मुजफ्फरनगर के बीजेपी MLA उमेश मलिक ने शिक्षा विभाग के अधिकारियों को जेल भेजने की धमकी दी, मलिक धरने में बैठे टीचर्स से मिले थे    ||   हैम्बर्ग में 7 जुलाई को G20 समिट के लिए ब्रिक्स नेता होंगे शामिल, पीएम मोदी और चीन के राष्ट्रपति भी लेंगे हिस्सा    ||

जुलाई में नहीं होगी CBSE NET परीक्षा ,नाराज छात्रों ने यूजीसी के बाहर किया प्रदर्शन

अंग्वाल संवाददाता
जुलाई में नहीं होगी CBSE NET परीक्षा ,नाराज छात्रों ने यूजीसी के बाहर किया प्रदर्शन

नई दिल्ली। असिस्टेंट प्रोफेसर बनने के लए नेशनल एलिजिबिलटी टेस्ट (नेट) का इंतजार कर रहें छात्रों को यूजीसी ने बड़ा झटका दिया है। यूजीसी से जुलाई में होने वाली नेट परीक्षा की तारीख को टाल दिया है। इस बारेमें यूजीसी की तरफ से 6 जून को नोटिफिकेशन जारी किया गया है। सीबीएसई नेट की वेबसाइट पर उपलब्ध इस नोटिफिकेशन के अनुसार अब इस परीक्षा को नवंबर माह में आयोजित किया जाएगा। यूजीसी के इस फैसले के बाद परीक्षा की तैयारी कर रहे छात्रों को झटका लगा है।

आपको बता दें, कि यूजीसी के नियमों के अनुसार असिस्टेंट प्रोफेसर बनने के लिए नेट परीक्षा को क्लियर करना जरुरी होता है। इस परीक्षा का आयोजन साल में दो बार जुलाई और नवंबर में किया जाता है। लेकिन, इस बार जुलाई की परीक्षा को यूजीसी की तरफ से निरस्त कर दिया गया है। इस साल एक बार ही नवंबर में यह परीक्षा कराई जाएगी।

 

 

साल में एक बार कराने की तैयारी

रिपोर्ट के अनुसार यूजीसी इस परीक्षा को साल में एक बार कराने पर विचार कर रही है। इसे लेकर यूजीसी को कुछ सुझाव मिले हैं। साथ ही पास होने का प्रतिशत 6 फीसदी रखने का सुझाव  दिया गया है। हालांकि अभी तक इस मामले में कोई भी औपचारिक जानकारी नहीं दी गई है। वहीं आपको बता दें कि जुलाई में नेट की परीक्षा को अदालत में चल रहें एक मामले में देरी के चलते रद्द किया गया है।

छात्रों ने किया प्रदर्शन 

जुलाई की परीक्षा रद्द करने से छात्रों में खलबली मच गई है। बुधवार को बड़ी संख्या में छात्रों ने नाराजगी जताते हुए यूजीसी के बाहर प्रदर्शन किया। इसके बाद एक छात्र यूजीसी मंडल के सचिव से मिला। सचिव ने छात्रों से कहा कि इस मामले में मानव संसाधन विकास मंत्रालय और सीबीएसई से बात की जा रही है वह शांति बनाए रखें।

Todays Beets: