Friday, December 15, 2017

हनुमान जी के पूजन से पहले रखें इन बातों का ध्यान, न करेंगे ये 6 काम तो खुश होकर विघ्नहर्ता जल्द देंगे फल

अंग्वाल न्यूज डेस्क
हनुमान जी के पूजन से पहले रखें इन बातों का ध्यान, न करेंगे ये 6 काम तो खुश होकर विघ्नहर्ता जल्द देंगे फल

नई दिल्ली । विघ्नहर्ता हनुमान जी का मंगलवार को व्रत और उनके पूजन को लेकर कुछ नियम हैं। इन नियमों का पालन करते हुए अगर कोई साधन इनका पूजन करता है तो उसके सभी कष्ट को संकट मोचक हनुमान जी दूर कर देते हैं। लेकिन इस दौरान कुछ बातों का ध्यान रखने बेहद जरूरी है। ताकि किसी छोटी सी गलती से आपकी पूजा व्यर्थ न हो जाए, या उसका आप पर उल्टा असर न पड़े। आखिर क्या है हनुमान जी के पूजन का विधि-विधान और उनकी पूजा करने के दौरान उसके भक्तों को क्या नहीं करना चाहिए इस बारे में जानते हैं। 

महिलाएं न करें हनुमान जी का पूजन

पौराणिक मान्यताओं के अनुसार, संकट मोचक राम भक्‍त हनुमान सीता जी में अपनी माता का दर्शन करते थे। बाल ब्रह्मचारी के रूप में वह स्‍त्रियों के स्‍पर्श से दूर रहते हैं। ऐसे में माता स्‍वरूप स्‍त्री से पूजन करवाना और उनका स्‍पर्श करना वे पसंद नहीं करते। फिर भी यदि महिलाएं चाहे तो हनुमान जी के चरणों में एक दीप जला सकती हैं ।  हालांकि इस दौरान ध्यान रखें कि महिलाएं उन्हें न तो छुएं और न ही उन्हें तिलक करें। इसी क्रम में हनुमान जी को महिलाएं वस्‍त्र भी अर्पित ना करें।

ये भी पढ़ें- इन उपायों को अपनाएं और मंगल के दोष को कम कर अपनी जिन्दगी बनाएं बेहतर  

व्रत रखने वाले न करें नमक का सेवन

इस दौरान एक खास बात यह है कि जो भी हनुमान भक्त उनका व्रत रख रहा है वह मंगलवार को नमक का सेवन न करें। हालांकि किसी भी व्रत के दिन नमक का सेवन नहीं करना चाहिए, ऐसा करने से व्रत ज्यादा असरदायक होता है। 

ये भी पढ़ें- आखिर शिवलिंग पर क्यों चढ़ाया जाता है दूध, जानिए शिवपुराण के अनुसार क्या है इसके पीछे मान्यता

पूजा के दौरान काले-सफेद कपड़े नहीं 

जानकारों का कहना है कि हनुमान जी का पूजन करने के दौरान किसी भी तरह से काले और सफेद कपड़े नहीं पहनने चाहिए। उनका इन वस्त्रों को पहनकर पूजन करने से आप पर नकारात्मक असर पड़ सकता है। विशेष रूप से ध्यान दें कि व्रतधारी इस दिन लाल कपड़े पहनकर पूजन करें। अगर लाल नहीं तो उसकी जगह पीला वस्त्र भी धारण कर सकते हैं। 

ये भी पढ़ें- जानिए आपके घर में किन चीजों के होने से लग रहा है वास्तु दोष

बिना स्नान किए न करें पूजन


इस दौरान एक विशेष बात यह भी है कि मंगलवार को उनके भक्त बिना स्नान किए पूजन न करें। अपने तन-मन को स्वच्छ करने के बाद ही हनुमान जी का पूजना करना चाहिए। ऐसा करने से आपकी पूजा पूरी तरह से आपके लिए लाभकारी साबित होगी। 

ये भी पढ़ें- जानिए क्या है पंचामृत, पूजा-अर्चना में क्या होता है इसका महत्व

भूल कर भी न करें मांस-मदिरा का सेवन 

जानकारों के मुताबिक हनुमान जी के मंदिर में जाने से पहले या घर पर उनका पूजन करने से पहले मांस या मदिरा का सेवन न करें। ऐसा करने वालों को हनुमान जी कुपित हो भयंकर परिणाम भुगतने का दंड दे सकते है। पूजन के दौरान गलत विचारों की ओर भी मन को भटकने न दें। 

ये भी पढ़ें- जानिए पुरातन काल से पहने जाने वाली खड़ाऊ की उपयोगिता और महत्व

चरणामृत का प्रसाद  न बनाएं

जानकारों का कहना है कि कभी भी हनुमान जी का पूजन करने दौरान चरणामृत का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। इसके साथ ही किसी भी प्रकार से अगर हनुमान जी की मूर्ति खंडित है तो उसका पूजन नहीं करना चाहिए। इसी क्रम में अगर आपका मन अशांत है या आप गुस्से में हैं तो भी पूजन नहीं करना चाहिए। ऐसी स्थिति में पूजन करने से आपको अराधना का फल नहीं मिलेगा।

Todays Beets: