Saturday, December 15, 2018

Breaking News

   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||

भाजपा गुजरात की राज्यसभा सीट जीतने के लिए गंदी और औंछी ट्रिक अपना रही - कांग्रेस

अंग्वाल न्यूज डेस्क
भाजपा गुजरात की राज्यसभा सीट जीतने के लिए गंदी और औंछी ट्रिक अपना रही - कांग्रेस

नई दिल्ली । कर्नाटक के ऊर्जा मंत्री डीके शिवकुमार के घर बुधवार को हुई आयकर विभाग की छापेमारी का कांग्रेस ने जमकर विरोध किया है। कांग्रेसी नेताओं का कहना है कि भाजपा गुजरात की राज्यसभा सीट को जीतने के लिए हम गंदी और बदसूरत ट्रिक को अपना रही है। कांग्रेस ने आरोप लगाया कि कर्नाटक के मंत्री के ठिकानों के साथ उनके रिसॉर्ट्स में ठहरे कांग्रेसी विधायकों के कमरों पर भी छापा मारा गया। इस मुद्दे को कांग्रेस ने छापेमारी की खबरों के बाद संसद को दोनों सदनों में जोरशोर से उठाया, जिसपर सरकार ने छापेमारी को लेकर अपना बयान भी दिया। कर्नाटक के मंत्री के ठिकानों पर छापेमारी की इस घटना को कांग्रेसी नेता रणदीप सुरजेवाला ने राजनीति साजिश करार दिया। 

ये भी पढ़ें- बेंगलुरु में कांग्रेस के 44 विधायकों को अपने रिसॉर्ट्स में रखने वाले मंत्री डीके शिवकुमार के ठिकानों पर छापेमारी...

बता दें कि बुधवार सुबह आयकर विभाग की टीमों ने कर्नाटक के ऊर्जा मंत्री डीके शिवकुमार के 39 ठिकानों पर छापेमारी की है। इस दौरान आईटी विभाग ने दावा किया है कि उनके ठिकानों से 5 करोड़ रुपये बरामद किए गए हैं। हालांकि पहले खबर ये भी उड़ी की गुजरात कांग्रेस के जिन 44 विधायकों को शिवकुमार के जिस रिसॉर्ट्स में ठहराया गया है, आईटी विभाग ने वहां भी छापेमारी की, लेकिन बाद में सरकार ने साफ किया कि छापेमारी की कार्रवाई सिर्फ 39 ठिकानों पर की गई है, इसमें उनका रिसॉर्टस शामिल नहीं है। यहां ये बता दें कि गुजरात कांग्रेस के 44 विधायकों को पार्टी आलाकमान ने गुजरात की राज्यसभा सीट के चुनाव के मद्देनजर यहां लाकर रखा गया है ताकि वह भाजपा में शामिल न हो जाएं। इससे पहले भाजपा के 6 विधायक भाजपा में शामिल हो गए थे, जिससे इस सीट पर कांग्रेस के दिग्गज नेता अहमद पटेल की दावेदारी खतरे में पड़ गई। 

ये भी पढ़ें- उपराष्ट्रपति चुनाव में गोपालकृष्ण गांधी का समर्थन करेगी आम आदमी पार्टी

बहरहाल इस पूरे घटनाक्रम पर कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि भाजपा गुजरात की राज्यसभा सीट जीतने के लिए सभी तरह के गंदे और बदसूरत काम करने पर उतारू हो गई है। भाजपा गुजरात कांग्रेस के विधायकों को किसी ही हद में जाकर अपनी ओर करना चाहते हैं, लेकिन ऐसा नहीं हो पाने पर वह अब इस तरह की औंछी हरकतों पर आ गई है। आयकर विभाग की इस छापेमारी के जरिए भाजपा ने लोकतंत्र की हत्या की है। 

ये भी पढ़ें- अय्याश था लश्कर कमांडर अबु दुजाना, लड़कियों के लिए बन गया था खतरा


वहीं इस मामले में कांग्रेसी नेता संदीप दीक्षित ने कहा कि यह पूरी तरह से लोकतंत्र की हत्या है। ये लोग (आईटी विभाग) इस तरह काम कर रहे हैं जैसे ये अमित शाह के निजी नौकर हों। वहीं पीएल पूनिया ने कहा कि यह सब दिखाता है कि आखिर भाजपा गुजरात की राज्यसभा सीट को पाने के लिए किस तरह की राजनीति को अंजाम दे रही है।

ये भी पढ़ें- टेरर फंडिंग मामला : एनआईए ने गिलानी के बेटे को पूछताछ के लिए दिल्ली बुलाया

हालांकि इस पूरे घटनाक्रम को लेकर सदन में वित्तमंत्री अरुण जेटली ने कहा कि जिस तरह रिसॉर्ट्स पर भी छापेमारी की खबरे आ रही है वह पूरी तरह गलत हैं। आयकर विभाग ने रिसॉर्टस मे छापेमारी नहीं की। छापेमारी की इस पूरी घटना का राज्यसभा चुनवों से कोई लेना देना नहीं है।

 

 

 

Todays Beets: