Saturday, December 15, 2018

Breaking News

   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||

देहरादून को इस बार स्मार्ट सिटी की लिस्ट में जगह मिलेगी! 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
देहरादून को इस बार स्मार्ट सिटी की लिस्ट में जगह मिलेगी! 

देहरादून। राज्य में भाजपा सरकार के गठन के बाद देहरादून को स्मार्ट सिटी बनाने की कवायद तेज हो गई है। हालांकि राज्य में कांग्रेस के शासनकाल में भी इसे स्मार्टसिटी बनाने का प्रस्ताव कई बार केन्द्र को भेजा गया लेकिन हर बार उसे निराशा ही हाथ लगी। चुनाव के दौरान भी दून को स्मार्ट सिटी बनाने की बात कही गई। अब राज्य में भाजपा की सरकार बन चुकी है। ऐसे में इस प्रस्ताव को फिर से केन्द्र सरकार के पास भेजा जा रहा है। देखना है कि इस बार इसे मंजूरी मिलती है या फिर उसे लौटा दिया जाता है?

नए प्रस्ताव में क्या है

इस बार केन्द्र को भेजे जाने वाले प्रस्ताव में शहर में स्मार्ट परिवहन को बढ़ावा दिया जा रहा है। इसमें राज्य में इलेक्ट्रिक एवं सीएनजी बसों के परिचालन पर जोर दिया जा रहा है। शहर के पलटन बाजार को नो ट्रैफिक जोन घोषित करने के साथ वहां सिर्फ ई-रिक्शा ही चलाने की बात कही गई है। नए प्रस्ताव में नगर निगम को ग्रीन बिल्डिंग बनाने का भी विचार रखा गया हैै।

अब मुख्यमंत्री करेंगे आपकी समस्याओं का ‘समाधान’, सरकार ने शुरू की नई वेबसाइट

राजनीतिक आरोप


देहरादून को स्मार्टसिटी बनाने का प्रस्ताव इससे पहले भी तीन बार केन्द्र को भेजा जा चुका है। हर बार किसी न किसी वजह से दून स्मार्ट सिटी की लिस्ट में अपनी जगह नहीं बना सका। इसके लिए कांग्रेस ने केन्द्र पर राज्य के साथ राजनीतिक भेदभाव का आरोप भी लगाया था। कांग्रेस ने कहा कि केन्द्र जानबूझ कर इसे स्मार्ट सिटी की लिस्ट में शामिल नहीं कर रहा है। 

जगह मिलेगी!

अब जबकि प्रदेश और केन्द्र दोनों जगह भाजपा की सरकार है ऐसे में इस बार प्रस्ताव पास होता है या नहीं। उम्मीद तो यही की जा रही है कि जब जनता ने  राज्य में भाजपा का डबल इंजन लगा दिया है तो देहरादून को भी स्मार्ट सिटी की लिस्ट में जगह जरूर मिल जाएगी।   

Todays Beets: