Tuesday, October 23, 2018

Breaking News

   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||   केरलः अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद ने सबरीमाला फैसले के खिलाफ HC में लगाई याचिका    ||   कोलकाताः HC ने दुर्गा पूजा आयोजकों को ममता के 28 करोड़ देने के फैसले पर रोक लगाई    ||    रूस के साथ S-400 एयर डिफेंस मिसाइल पर भारत की डील    ||   नार्वेः राजधानी ओस्लो में आज होगा शांति के नोबेल पुरस्कार का ऐलान    ||   अंकित सक्सेना मर्डर केसः ट्रायल के लिए अभियोगपक्ष के 2 वकीलों की नियुक्ति    ||   जम्मू कश्मीर में नेशनल कॉफ्रेंस के दो कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या, मरने वालों में एक MLA का पीए भी     ||

देहरादून को इस बार स्मार्ट सिटी की लिस्ट में जगह मिलेगी! 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
देहरादून को इस बार स्मार्ट सिटी की लिस्ट में जगह मिलेगी! 

देहरादून। राज्य में भाजपा सरकार के गठन के बाद देहरादून को स्मार्ट सिटी बनाने की कवायद तेज हो गई है। हालांकि राज्य में कांग्रेस के शासनकाल में भी इसे स्मार्टसिटी बनाने का प्रस्ताव कई बार केन्द्र को भेजा गया लेकिन हर बार उसे निराशा ही हाथ लगी। चुनाव के दौरान भी दून को स्मार्ट सिटी बनाने की बात कही गई। अब राज्य में भाजपा की सरकार बन चुकी है। ऐसे में इस प्रस्ताव को फिर से केन्द्र सरकार के पास भेजा जा रहा है। देखना है कि इस बार इसे मंजूरी मिलती है या फिर उसे लौटा दिया जाता है?

नए प्रस्ताव में क्या है

इस बार केन्द्र को भेजे जाने वाले प्रस्ताव में शहर में स्मार्ट परिवहन को बढ़ावा दिया जा रहा है। इसमें राज्य में इलेक्ट्रिक एवं सीएनजी बसों के परिचालन पर जोर दिया जा रहा है। शहर के पलटन बाजार को नो ट्रैफिक जोन घोषित करने के साथ वहां सिर्फ ई-रिक्शा ही चलाने की बात कही गई है। नए प्रस्ताव में नगर निगम को ग्रीन बिल्डिंग बनाने का भी विचार रखा गया हैै।

अब मुख्यमंत्री करेंगे आपकी समस्याओं का ‘समाधान’, सरकार ने शुरू की नई वेबसाइट

राजनीतिक आरोप


देहरादून को स्मार्टसिटी बनाने का प्रस्ताव इससे पहले भी तीन बार केन्द्र को भेजा जा चुका है। हर बार किसी न किसी वजह से दून स्मार्ट सिटी की लिस्ट में अपनी जगह नहीं बना सका। इसके लिए कांग्रेस ने केन्द्र पर राज्य के साथ राजनीतिक भेदभाव का आरोप भी लगाया था। कांग्रेस ने कहा कि केन्द्र जानबूझ कर इसे स्मार्ट सिटी की लिस्ट में शामिल नहीं कर रहा है। 

जगह मिलेगी!

अब जबकि प्रदेश और केन्द्र दोनों जगह भाजपा की सरकार है ऐसे में इस बार प्रस्ताव पास होता है या नहीं। उम्मीद तो यही की जा रही है कि जब जनता ने  राज्य में भाजपा का डबल इंजन लगा दिया है तो देहरादून को भी स्मार्ट सिटी की लिस्ट में जगह जरूर मिल जाएगी।   

Todays Beets: