Tuesday, September 19, 2017

Breaking News

   जम्मू कश्मीर के नौगाम में लश्कर कमांडर अबू इस्माइल के साथ मुठभेड़,     ||   राम रहीम मामले पर गौतम का गंभीर प्रहार, कहा- धार्मिक मार्केटिंग का यह एक क्लासिक उदाहरण    ||   ट्राई ने ओवरचार्जिंग के लिए आइडिया पर लगाया 2.9 करोड़ का जुर्माना    ||   मदरसों का 15 अगस्त को ही वीडियोग्राफी क्यों? याचिका दायर, सुनवाई अगले सप्ताह    ||   पंचकूला से लंदन तक दिखा राम-रहीम विवाद का असर, ब्रिटेन ने जारी की एडवाइजरी    ||   PAK कोर्ट ने हिंदू लड़की को मुस्लिम पति के साथ रहने की मंजूरी दी    ||   बिहार आए पीएम मोदी, बाढ़ से हुई तबाही की गहन समीक्षा की    ||   जेल में ही वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए राम रहीम को सुनाई जाएगी सजा    ||   मच्छल में घुसपैठ नाकाम, पांच आतंकी ढेर, भारी मात्रा में गोलाबारूद बरामद    ||   जापान के बाद अब अमेरिका के साथ युद्धाभ्यास की तैयारी में भारत    ||

नीतीश कुमार ने सदन में साबित किया बहुमत, पक्ष में पड़े 131 वोट विपक्ष में 108

अंग्वाल न्यूज डेस्क
नीतीश कुमार ने सदन में साबित किया बहुमत, पक्ष में पड़े 131 वोट विपक्ष में 108

पटना। बिहार की राजनीति में भूचाल लाने वाले सीएम नीतीश कुमार ने शुक्रवार को भारी हंगामे के बीच सदन में विश्वास मत जीत लिया है। सदन में नीतीश कुमार के पक्ष में 131 विधायकों ने साइन किए, जबकि राजद, कांग्रेस और सीपीआई के विधायकों समेत 108 विधायकों ने साइन किए। इस दौरान सामने आया है किसी सदन मेंं किसी प्रकार की क्रॉस वोटिंग नहीं हुई। वहीं, बताया जा रहा है कि राज्य में नए मंत्रीमंडल के लिए सीएम नीतीश कुमार दिल्ली आ रहे हैं, जहां एक बार फिर नेताओं को मंत्री पद दिए जाने पर मंत्रणा होगी।

वहीं विश्वास मत से पहले तेजस्वी यादव ने नीतीश पर जमकर हमला बोला. जवाब में नीतीश कुमार ने कहा कि ये कांग्रेस के लोग हैं अहंकार में जीने वाले लोग हैं। नीतीश ने कहा कि 15 से ज्यादा सीटें कांग्रेस को नहीं मिलने वाली थी लेकिन हमने महागठबंधन में 40 सीटों पर चुनाव लड़वाया। विश्वास मत से पहले राजद विधायक लगातार हंगामा कर रहे हैं. राजद विधायकों ने विधानसभा के बाहर धरना भी दिया। तेजस्वी ने पहले बोलते हुए नीतीश कुमार पर काफी तीखे आरोप लगाए थे। 


पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा कि मैं इस प्रस्ताव के विरोध में खड़ा हूं। हमें भाजपा के खिलाफ वोट मिला था, ये सब  पूर्वनियोजित था, ये एक तरह से लोकतंत्र की हत्या है, भाजपा के भी कई मंत्री हैं जिनपर आरोप हैं, नीतीश कुमार और सुशील मोदी पर भी आरोप हैं। तेजस्वी ने कहा कि कांग्रेस और राजद ने मिलकर नीतीश कुमार के वजूद को बचाया था, नीतीश ने बिहार की जनता को धोखा दिया।

Todays Beets: