Tuesday, October 23, 2018

Breaking News

   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||   केरलः अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद ने सबरीमाला फैसले के खिलाफ HC में लगाई याचिका    ||   कोलकाताः HC ने दुर्गा पूजा आयोजकों को ममता के 28 करोड़ देने के फैसले पर रोक लगाई    ||    रूस के साथ S-400 एयर डिफेंस मिसाइल पर भारत की डील    ||   नार्वेः राजधानी ओस्लो में आज होगा शांति के नोबेल पुरस्कार का ऐलान    ||   अंकित सक्सेना मर्डर केसः ट्रायल के लिए अभियोगपक्ष के 2 वकीलों की नियुक्ति    ||   जम्मू कश्मीर में नेशनल कॉफ्रेंस के दो कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या, मरने वालों में एक MLA का पीए भी     ||

नीतीश कुमार ने सदन में साबित किया बहुमत, पक्ष में पड़े 131 वोट विपक्ष में 108

अंग्वाल न्यूज डेस्क
नीतीश कुमार ने सदन में साबित किया बहुमत, पक्ष में पड़े 131 वोट विपक्ष में 108

पटना। बिहार की राजनीति में भूचाल लाने वाले सीएम नीतीश कुमार ने शुक्रवार को भारी हंगामे के बीच सदन में विश्वास मत जीत लिया है। सदन में नीतीश कुमार के पक्ष में 131 विधायकों ने साइन किए, जबकि राजद, कांग्रेस और सीपीआई के विधायकों समेत 108 विधायकों ने साइन किए। इस दौरान सामने आया है किसी सदन मेंं किसी प्रकार की क्रॉस वोटिंग नहीं हुई। वहीं, बताया जा रहा है कि राज्य में नए मंत्रीमंडल के लिए सीएम नीतीश कुमार दिल्ली आ रहे हैं, जहां एक बार फिर नेताओं को मंत्री पद दिए जाने पर मंत्रणा होगी।

वहीं विश्वास मत से पहले तेजस्वी यादव ने नीतीश पर जमकर हमला बोला. जवाब में नीतीश कुमार ने कहा कि ये कांग्रेस के लोग हैं अहंकार में जीने वाले लोग हैं। नीतीश ने कहा कि 15 से ज्यादा सीटें कांग्रेस को नहीं मिलने वाली थी लेकिन हमने महागठबंधन में 40 सीटों पर चुनाव लड़वाया। विश्वास मत से पहले राजद विधायक लगातार हंगामा कर रहे हैं. राजद विधायकों ने विधानसभा के बाहर धरना भी दिया। तेजस्वी ने पहले बोलते हुए नीतीश कुमार पर काफी तीखे आरोप लगाए थे। 


पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा कि मैं इस प्रस्ताव के विरोध में खड़ा हूं। हमें भाजपा के खिलाफ वोट मिला था, ये सब  पूर्वनियोजित था, ये एक तरह से लोकतंत्र की हत्या है, भाजपा के भी कई मंत्री हैं जिनपर आरोप हैं, नीतीश कुमार और सुशील मोदी पर भी आरोप हैं। तेजस्वी ने कहा कि कांग्रेस और राजद ने मिलकर नीतीश कुमार के वजूद को बचाया था, नीतीश ने बिहार की जनता को धोखा दिया।

Todays Beets: