Monday, June 25, 2018

Breaking News

   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||   टेस्ट में भारत की सबसे बड़ी जीत: अफगानिस्तान को एक दिन में 2 बार ऑलआउट किया, डेब्यू टेस्ट 2 दिन में खत्म     ||   पेशावर स्कूल हमले का मास्टरमाइंड और मलाला पर गोली चलवाने वाला आतंकी फजलुल्लाह मारा गया: रिपोर्ट     ||   कानपुर जहरीली शराब मामले में 5अधिकारी निलंबित     ||   अब जल्द ही बिना नेटवर्क भी कर सकेंगे कॉल, बस Wi-Fi की होगी जरुरत     ||   मौलाना मदनी ने भी की एएमयू से जिन्‍ना की तस्‍वीर हटाने की वकालत     ||   भारत-चीन सेना के बीच हॉटलाइन की तैयारी, LoC पर तनाव होगा दूर     ||   कसौली में धारा 144 लागू, आरोपित पुलिस की गिरफ्त से बाहर     ||   स्कूली बच्चों पर पत्थरबाजी से भड़के उमर अब्दुल्ला, कहा- ये गुंडों जैसी हरकत     ||   थर्ड फ्रंट: ममता, कनिमोझी....और अब केसीआर की एसपी चीफ अखिलेश यादव के साथ बैठक     ||

उत्तराखंड चुनावों में भाजपा के सतपाल महाराज सबसे अमीर प्रत्याशी, बसपा उम्मीदवार राजेंद्र सिंह सबसे गरीब

अंग्वाल न्यूज डेस्क
उत्तराखंड चुनावों में भाजपा के सतपाल महाराज सबसे अमीर प्रत्याशी, बसपा उम्मीदवार राजेंद्र सिंह सबसे गरीब

देहरादून । उत्तराखंड के विधानसभा चुनावों में कूदे 687 उम्मीदवारों ने अपना तन-मन के साथ अपना धन भी अपनी जीत के लिए लगा दिया है। कुछ लोगों का चुनाव प्रचार हाईटैक तरीके से हो रहा है तो कुछ का मात्र घर-घर जाकर। इस बीच एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिव रिफॉर्म्स (एडीआर) की रिपोर्ट में कुछ चौंकाने वाले तथ्य सामने आए हैं। उत्तराखंड के विधानसभा चुनावों में इस बार एक-दो या तीन नहीं बल्कि करोड़पति उम्मीदवारों की एक लंबी लिस्ट है और इस लिस्ट के शीर्ष पर हैं भाजपा के चौबट्याखाल सीट से उम्मीदवार सतपाल महाराज का। अपने शपथ पत्र में इन्होंने 80 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति होने का ब्योरा दिया है। 

टॉप-10 अमीरों में किस दल के कितने

एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिव रिफॉर्म्स (एडीआर) की रिपोर्ट के अनुसार, इस बार उत्तराखंड चुनावी समर में उतरे सबसे अमीर 10 प्रत्याशियों की सूची में तीन भाजपा के हैं। वहीं कांग्रेस-बसपा के दो-दो और इतने ही निर्दलीय उम्मीदवार इस सूची में शामिल हैं। इसके अलावा आरएलडी का भी एक प्रत्याशी इस सूची में शामिल है। अपने नामांकन के साथ भरे गए शपथ पत्र के अनुसार, सबसे अमीर उम्मीदवार सतपाल महाराज ने अपनी संपत्ति का ब्योरा पेश किया है। शपथ पत्र के अनुसार उनके पास कुल 80 करोड़, 25 लाख, 55 हजार 607 रुपये की संपत्ति का ब्योरा दिया है। वहीं श्रीनगर सीट से भाजपा के टिकट की राह देख रहे मोहन काला अब निर्दलीय चुनाव मैदान में उतर गए हैं। टॉप-10 प्रत्याशियों की सूची में वह दूसरे नंबर पर आतेहैं। उन्होंने अपने शपथ पत्र में अपने पास 75 करोड़ रुपये की संपत्ति होने की बात कही है।

सबसे अमीर 10 प्रत्याशी 

प्रत्याशी   संपत्ति (करोड़ में)
सतपाल महाराज       80
मोहन काला     75
शैलेंद्र मोहन सिंघल       35
राजेश शुक्ला         25
चौधरी यशवीर सिंह       24
कुंवर जपेंद्र सिंह       24
मोहित कुमार            23
राजीव अग्रवाल         23
काजी निजामुद्दीन     21
सुभाष चौधरी     20
सोर्स-एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिव रिफॉर्म्स (एडीआर) की रिपोर्ट  

             

भाजपा प्रत्याशी चीमा सबसे बड़े कर्जदार


अगर बात करें सबसे बड़े कर्जदार की तो इस सूची में सबसे ऊपर हैं भाजपा प्रत्याशी हरभजन सिंह चीमा। उन्होंने अपने शपथ पत्र में अपने ऊपर 21 करोड़ रुपये का कर्ज होने की जानकारी दी है। वहां कांग्रेस विधायक गणेश गोदियाल भी कर्जदारों की टॉप-10 सूची में शामिल हैं। उनके ऊपर 2.28 करोड़ का कर्ज है। 

टॉप-10 कर्जदार प्रत्याशी

प्रत्याशी  कर्ज (करोड़ में)
हरभजन सिंह चीमा    21.65
सुरेंद्र सिंह जीना    6.84
राजीव अग्रवाल    5.10
बृजरानी    4.55
मोहन काला    2.98
उबेर्दुर रहमान    2.73
हरीश रावत    2.70
कुंवर जपेंद्र    2.50
संजीव आर्य    2.49
गणेश गोदियाल      2.28
सोर्स-एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिव रिफॉर्म्स (एडीआर) की रिपोर्ट  

सुनील-राजेंद्र के पास कोई संपत्ति नहीं

वहीं अगर बात सबसे गरीब प्रत्याशी की करें तो लोहाघाट से निर्दलीय उम्मीदवार राजेंद्र सिंह और बसपा के टिकट पर मंगलौर सीट से प्रत्याशी सुनील कुमार ने अपने पास मात्र 500 रुपये होने की बात शपथ पत्र में लिखी है। इन लोगों ने अपने पास किसी तरह की कोई चल-अचल संपत्ति नहीं होने की बात कही है। 

टॉप-10 सबसे गरीब उम्मीदवार

प्रत्याशी           संपत्ति (रुपये में)
सुनील कुमार     500
राजेंद्र सिंह    500
संदीप दूबे   1100
अरुणा   3000
गौरी शंकर शर्मा   5550
जयप्रकाश   5620
रेनू नौटियाल   6100
उमेश चंद्र मिश्रा   10,000
गुलजार   20,074
मो. अरशद   21,000
सोर्स-एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिव रिफॉर्म्स (एडीआर) की रिपोर्ट  

 

Todays Beets: