Thursday, September 21, 2017

Breaking News

   जम्मू कश्मीर के नौगाम में लश्कर कमांडर अबू इस्माइल के साथ मुठभेड़,     ||   राम रहीम मामले पर गौतम का गंभीर प्रहार, कहा- धार्मिक मार्केटिंग का यह एक क्लासिक उदाहरण    ||   ट्राई ने ओवरचार्जिंग के लिए आइडिया पर लगाया 2.9 करोड़ का जुर्माना    ||   मदरसों का 15 अगस्त को ही वीडियोग्राफी क्यों? याचिका दायर, सुनवाई अगले सप्ताह    ||   पंचकूला से लंदन तक दिखा राम-रहीम विवाद का असर, ब्रिटेन ने जारी की एडवाइजरी    ||   PAK कोर्ट ने हिंदू लड़की को मुस्लिम पति के साथ रहने की मंजूरी दी    ||   बिहार आए पीएम मोदी, बाढ़ से हुई तबाही की गहन समीक्षा की    ||   जेल में ही वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए राम रहीम को सुनाई जाएगी सजा    ||   मच्छल में घुसपैठ नाकाम, पांच आतंकी ढेर, भारी मात्रा में गोलाबारूद बरामद    ||   जापान के बाद अब अमेरिका के साथ युद्धाभ्यास की तैयारी में भारत    ||

नौकरी दिलाता है बायो-डाटा, तैयार करते समय इन बातों का रखें ध्यान

अंग्वाल संवाददाता
नौकरी दिलाता है बायो-डाटा, तैयार करते समय इन बातों का रखें ध्यान

किसी भी नौकरी को पाने के लिए आपको पहले अपना बायो-डाटा देना पड़ता है।किसी भी संस्था में आपकी छवि बनाने में आपका बायो-डाटा आपकी मदद करता है। सबसे अहम बात है कि बायो-डाटा को तैयार कैसे किया जाएं। सबसे पहले बायो-डाटा में आपका एकदम आसान शब्दों में लिखा होना चाहिए। यदि आपके पता जटिल अक्षरों में लिखा हुआ होता है तो कई बार आप बेहतरीन नौकरी की सूचना से चूक जाते हैं। अपने बायो-डाटा में हमेशा वह नंबर दें जो जिसका इस्तेमाल आप हमेशा करते हो। साथ ही अपना ईमेल आईडी देते हुए भी ये ध्यान रखें की अपना ईमेल आईडी की पूरी और सही जानकारी दे इससे भी आपका इंप्रेशन बढ़ता है।

किसी भी संस्था के लिए आपकी पहली छवि बायो-डाटा से बनती है।अक्सर हम इंटरव्यू की तैयारी में बायो-डाटा पर ध्यान देना भूल जाते हैं। अपने बायो-डाटा में बिना मतलब के लंबे वाक्य या पैराग्राफ जोड़ने से बचे। इससे बायो-डाटा लंबा होने पर पढ़ने वाले को बोझिल लग सकता है।

 

 

बायो-डाटा तैयार करते समय रखें इन निम्नलिखित बातों का ध्यान रखें।


 

 

न बन जाए नेगेटिव छवि अगर बायो-डाटा में कई जगह स्पेलिंग या ग्रामर में गलतियां की हैं तो यह संस्था के सामने आपकी नेगेटिव छवि बना सकता है।

स्किल्स पर गौर करेंस्किल्स प्वाइंट वाइज बताएं । कोशिश करें कि एक जैसी स्किल्स एक प्वाइंट में रखें। उन्हीं स्किल्स को मैंशन करें, जो आपकी जॉब में आपकी मदद कर सकती है।

न हो नेगेटिव अप्रोचपिछली नौकरी छोड़ने के कारणों का जिक्र बायो-डाटा में न आए। इस बात का पूरा ध्यान रखें। बायो-डाटा में आपकी पर्सनेलिटी झलकती है। इसमें नेगेटिव अप्रोच नहीं होनी चाहिए। 

Todays Beets: